क्यों एंटीऑक्सिडेंट मानव शरीर के लिए होते हैं महत्वपूर्ण?

1 minute read
1.8K views
10 shares
Antioxidant in Hindi

एंटीऑक्सिडेंट समग्र स्वास्थ्य में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे कुछ खाद्य पदार्थों में पाए जाने वाले प्राकृतिक यौगिक हैं जो हमारे शरीर में मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करते हैं। मुक्त कण वे पदार्थ होते हैं जो हमारे शरीर में स्वाभाविक रूप से होते हैं लेकिन हमारी कोशिकाओं में वसा, प्रोटीन और डीएनए पर हमला करते हैं, जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों का कारण बन सकते हैं और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर सकते हैं। सबसे अच्छा एंटीऑक्सिडेंट स्रोत फल और सब्जियां, साथ ही पौधों से प्राप्त उत्पाद हैं। तो आइए जानते हैं Antioxidant in Hindi के बारे में विस्तार से।

एंटीऑक्सीडेंट क्या है?

Antioxidant in Hindi शरीर की कोशिकाओं को खराब होने से बचाता है, जैसे-

  • इससे कैंसर जैसे रोग नहीं होते है। 
  • क्योंकि एंटीऑक्सीडेंट कैंसर के विरोधी होते है।
  •  यह प्राकृतिक रूप से सब्जियों और फलो में पाए जाते है।
  • सबसे अधिक एंटीऑक्सीडेंट विटामिन सी, ई, बीटा-केरोटीन, केरोटिनाड्स है।
  •  खनिज में प्रचलित मेगनीज और सेलेनेलियम होते है। 

एंटीऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल को कम करने का कार्य करते है। फ्री रेडिकल ऐसे मुक्त कण होते है। जो कोशिकाओं से जुड़ एक जगह पर इकट्ठा होने लगते है। यह प्रकिया मनुष्य को रोगो की चपेट में ले लेती है। किंतु फ्री रेडिकल्स एक जगह इकट्ठा नहीं हो पाते है।

एंटीऑक्सिडेंट युक्त भारतीय आहार

Antioxidant in Hindi युक्त भारतीय आहार इस प्रकार हैं:

  • एंटीऑक्सीडेंट से आहार में ऐसे तत्व होते है। 
  • जो शरीर को प्राकृतिक तरीके से डेटॉक्स करने का कार्य करते है।
  •  क्योंकि शरीर में कई बार फ्री रेडिकल्स और मोलेक्युल्स हानि पहुंचाते है। 
  • एंटीऑक्सीडेंट युक्त आहार का सेवन करके इन सब से बचा जा सकता है।
  • एंटीऑक्सीडेंट आहार में मिनरल, विटामिन व पोषक तत्व तथा कई तरीके के खनिजों से भरा हुआ रहता है।
  •  जब मनुष्य इन तत्वों का सेवन करता है।
  •  तो वह ऊर्जावान होता है। 
  • शरीर की प्रतिक्षा प्रणाली को बढ़ाता है।
  •  इसके अलावा यह शरीर के वसा को भी कम करता है। 

इसलिए अपने आहार में नियमित रूप से एंटीऑक्सिडेंटयुक्त आहार का सेवन रोजाना करना चाहिए।

  • राजमा
  • अनार 
  • चुकंदर
  • लहसुन 
  • किवी
  • अदरक
  • टमाटर
  • करौंदे 
  • काले सैतूत 
  • धनिया 
  •  डार्कचॉकलेट इत्यादि अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट शरीर को देते है।

एंटीऑक्सिडेंट के प्रकार

एंटीऑक्सीडेंट कई प्रकार के होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट एक या दो नहीं कई तरह के होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट की सूची में आपके शरीर के अंदर बनने वाले व बाहर से लेने वाले सभी प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स को शामिल किया जाता है। इनके बारे में हम नीचे बता रहें हैं।

आपके शरीर में बनने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स –

  • ग्लूटेथिओन (Glutathione) – ऑक्सीडेटिव क्षति से आपकी कोशिकाओं को बचाने का काम करता है।
  • अल्फा-लिपोइक (Aplha-lipoic acid) – यह जीन में सक्रियता लाकर सूजन को कम कर देता है।
  • कोक्यू10 (CoQ10) – यह बढ़ती उम्र के प्रभावों को कम करता है, इसको यूबीक्यूनिओन (Ubiquinone) के नाम से भी जाना जाता है।

बाहर से लेने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स –

  • रेस्वेराट्रोल (Reveratrol) – यह अंगूर और रेड वाइन में पाया जाता है। इससे बढ़ती उम्र के प्रभावों को कम किया जा सकता है।
  • कैरोटीनॉयड (Carotnoids) – यह प्राकृतिक रूप से सब्जियों व फलों में पाया जाता है।
  • एस्टैक्सैंटीन (Astaxanthin) – यह सबसे प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह फ्री रेडिकल्स को साफ करने का काम करता है।
  • विटामिन सी – इसको एंटीऑक्सीडेंट का दादा कहा जा सकता है। इसके कई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ होते हैं।
  • विटामिन ई – यह एक परिवार के आठ यैगिकों से मिलकर बनता है।
  • सेलेनियम – यह एक आवश्यक खनिज होता है।
  • एंजाइमेटिक एंटीऑक्सिडेंट्स में सुपरऑक्साइड डिसम्युटैस, कैटालेस और ग्लूटेथियोन शामिल होते हैं। यह फ्री रेडिकल्स को कम करने का काम करते हैं। इसके अलावा नॉन एंजाइमेटिक एंटीऑक्साइड में विटामिन सी, ई व ग्लूटेथियोन शामिल होता है। यह फ्रि रेडिकल की चेन बनने नहीं देता है।

कुछ अध्ययन बताते हैं कि आइसोथियोसाइनेट (isothiocyanates) एंटीऑक्सीडेंट कैंसर जैसे गंभीर रोगों के इलाज के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

सबसे शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट

सबसे शक्तिशाली Antioxidant in Hindi कुछ इस प्रकार हैं:

  • नींबू: नींबू सिट्रस परिवार के अंतर्गत आता है। पीले रंग के इस फल में मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्‍सीडेंट का शक्तिशाली स्रोत है। नींबू में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट आपके स्‍वास्‍थ्‍य, बालों और त्‍वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • स्ट्रॉबेरी: विटामिन सी से भरपूर स्ट्रॉबेरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों को खत्म कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • सूखे मेवे: सूखे मेवे विटामिन ई का समृद्ध स्रोत हैं और यह आपके शरीर के लिए एंटीऑक्सीडेंट की आपूर्ति करने वाले आहार का सबसे अच्‍छा स्रोत हैं। विटामिन सी के विपरीत, विटामिन ई, लीवर में फैट के साथ साथ शरीर में जमा किया जा सकता है। नट्स में बादाम, अखरोट, पिस्‍ता, आदि का सेवन कर सकते हैं।
  • ब्रोकली: इसका हर पौधा, विटामिन सी से भरपूर होता है जिसके कारण यह एंटीऑक्‍सीडेंट का सबसे अच्‍छा स्रोत माना जाता है। विटामिन सी के अलावा ब्रोकली में सेलेनियम भी होता है। सेलिनियम मानव शरीर की कोशिकाओं के नुकसान से लड़ने में मदद करता है।
  • लहसुन: लहसुन में कुदरती रूप से एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। खाना बनाते समय इसका इस्तेमाल जरूर करें। यह हृदय रोग और कैंसर से लड़ने में मददगार होता है।
  • टमाटर: टमाटर के बिना सब्जी का स्वाद अधूरा सा लगता है। इसमें मौजूद ग्लूटाथियोन एंटीऑक्सीडेंट रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में मददगार है।

एंटीऑक्सीडेंट कैप्सूल्स

एंटॉक्सिड कैप्सूल (Antoxid Capsule) त्वचा संक्रमण, त्वचा संबंधी रोगो के साथ उम्र से जुड़ी वन्दव पुनरोदय, कैंसर, संपूर्ण आंत्रेतर पोषण के लिए दिए गए अंतःशिरा समाधानों के लिए रोगियों को दी जाती है। यह कैप्सूल्स प्रजननीय कार्य, दमे के लक्षण, अवसाद, शराबीपन और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है। इस तरह की दवा लेने से पहले डॉक्टर से परार्मश लेना अति आवश्यक है।

एंटीऑक्सीडेंट के लाभ

Antioxidant in Hindi के अनेकों स्वास्थ्य लाभ होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले रोगो को दूर करता है। 

  • एंटीऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के साथ-साथ कई साडी समस्याओं को भी कम कर देती है। 
    • जैसे डायबिटीज, रक्तचाप, दृष्टि, हृदय की समस्या को ठीक रखने में सहायता करते है। 
    • इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते है। 
    • एंटीऑक्सीडेंट के फायदों के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।

सूजन को कम करने में :- आहार में एंटीऑक्सीडेंट की कमी होने से शरीर में सूजन की समस्या होने लगती है। 

  • इन समस्याओं को दूर करने के लिए अपने आहार में नियमित रूप से एंटीऑक्सीडेंट सम्मिलित करे। 
  • जिससे सूजन जैसी समस्या दूर होने लगेगी।

आंखो को अच्छा रखने में :- आंखो को स्वस्थ रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट तत्व बहुत महत्वपूर्ण होता है। 

  • विटामिन सी आंखो के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है।
  • उम्र के साथ बढ़ती आंखे कमजोर होने लगती है। 
  • इन्हे मजबूत व दृष्टि तेज रखने के लिए एंटीऑक्सिडेंटयुक्त आहार का सेवन करना चाहिए।

डायबिटीज को नियंत्रण में रखने के लिए :- 

  • फ्री रेडिकल्स के कारण डायबिटीज का खतरा और बढ़ने लगता है। ग्लूकोज को अधिक लेने से कोशिकाएं प्रभावित होने लगती है।
  •  ऐसे स्थिति में डायबिटीज हो जाता है।
  •  डायबिटीज को कम करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट सबसे अच्छा तत्व माना जाता है।
  •  आहार में एंटीऑक्सीडेंट लेने से शुगर नियंत्रण में रहता है।

कैंसर के जोखिम को कम करने में :- कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार कैंसर के दौरान शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की बहुत कमी हो जाती है। 

  • इसलिए अधिक मात्रा में एंटीऑक्सिडेंटयुक्त आहार लेने से कैंसर के जोखिम कम होने लगते है।
  •  चिकिस्तक भी कैंसर के मरीजों को एंटीऑक्सिडेंटयुक्त आहार का सेवन करने की सलाह देते है। 

दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए :- फ्री रेडिकल्स से मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र को होने वाले नुकसान से बचाने में मुश्किल होता है।

  •  फ्री रेडिकल्स कई रोगो के कारण बनते है।
  •  इस अवस्था में अल्जाइमर, मनोभ्रस व अवसाद हो सकता है। 
  • इसलिए दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट बहुत फायदेमंद होता है।

इम्युनिटी बढ़ाने में :- 

  • कुछ विशेषयज्ञो के अनुसार 
    • विटामिन ई, सी, 
    • सेलेनियम,
    •  बीटा केरोटीन 
    • जस्ता जैसे पोषक एंटीऑक्सीडेंट शरीर की इम्युनिटी में सुधार करने में मदद करते है। 
  • शरीर को मजबूत करते है। जिससे कोई बीमारी ना हो पाये। (और पढ़े – इम्युनिटी कैसे बढ़ाते है)

Check out : विज्ञान के चमत्कार पर निबंध

एंटीऑक्सिडेंट के नुकसान

एंटीऑक्सीडेंट की कमी से होने से अनेको बीमारी हो सकती है। इनके कुछ लक्षण भी देखने को मिल सकते है।

  • थकान।
  • त्वचा और बालो में समस्याएं।
  • कमजोर याददाश्त।
  • घाव भरने में परेशानी होना।

कुछ विशिष्ट एंटीऑक्सिडेंट प्राप्त करने के लिए, अपने आहार में निम्नलिखित को शामिल करने का प्रयास करें:

  • विटामिन ए: डेयरी उत्पाद, अंडे, और यकृत
  • विटामिन सी: अधिकांश फल और सब्जियां, विशेष रूप से जामुन, संतरे और शिमला मिर्च
  • विटामिन ई: नट और बीज, सूरजमुखी और अन्य वनस्पति तेल, और हरी, पत्तेदार सब्जियां
  • बीटा-कैरोटीन: चमकीले रंग के फल और सब्जियां, जैसे कि गाजर, मटर, पालक, और आम
  • लाइकोपीन: टमाटर और तरबूज सहित गुलाबी और लाल फल और सब्जियां
  • लाइकोपिन के बारे मे ज्यादा जानकारी के यहा क्लिक करे लाइकोपिन क्या है ?
  • ल्यूटिन: हरी, पत्तेदार सब्जियां, मक्का, पपीता और संतरे
  • सेलेनियम: चावल, मक्का, गेहूं, और अन्य साबुत अनाज, साथ ही नट्स, अंडे, पनीर और फलियां

एंटीऑक्सिडेंट युक्त फल तथा सब्जियां

माना जाता है कि अन्य खाद्य पदार्थ Antioxidant in Hindiके अच्छे स्रोत हैं:

  • बैंगन
  • फलियां जैसे कि ब्लैक बीन्स या किडनी बीन्स
  • हरी और काली चाय
  • लाल अंगूर
  • डार्क चॉकलेट
  • अनार
  • गोजी जामुन
  • ब्लू बैरीज़
  • सेब
  • ब्रोकोली
  • पालक
  • मसूर की दाल
Source: Study IQ Education

FAQs

एंटीऑक्सिडेंट के क्या फायदे हैं?

एंटीऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले रोगो को दूर करता है। एंटीऑक्सिडेंट बढ़ती उम्र के साथ-साथ कई साडी समस्याओं को भी कम कर देती है। जैसे डायबिटीज, रक्तचाप, दृष्टि, हृदय की समस्या को ठीक रखने में सहायता करते है। इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते है।

एंटीऑक्सिडेंट का क्या मतलब होता है?

एंटीऑक्सिडेंट या प्रतिउपचायक वे यौगिक हैं जिनको अल्प मात्रा में दूसरे पदार्थो में मिला देने से वायुमडल के ऑक्सीजन के साथ उनकी अभिक्रिया का निरोध हो जाता है। इन यौगिकों को ऑक्सीकरण निरोधक (Oxidation inhibitor) तथा स्थायीकारी (Stabilizer) भी कहते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट कितने प्रकार के होते हैं?

सबसे अधिक एंटीऑक्सिडेंट विटामिन सी, ई, बीटा-केरोटीन, केरोटिनाड्स है। खनिज में प्रचलित मेगनीज और सेलेनेलियम होते है। एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल को कम करने का कार्य करते है।

कौन सा विटामिन एंटीऑक्सिडेंट है?

विटामिन सी को एस्कॉर्बिक एसिड के नाम से भी जाना जाता है जो शरीर की रोग प्रतिरक्षण क्षमता बढ़ाता है। यह एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट भी है जो कैंसर और अन्य बीमारियां पैदा करने वाली फ्री रेडिकल्स से बचाता है।

आशा है कि इस ब्लॉग से आपको Antioxidant in Hindi के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के विशेषज्ञों के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Loading comments...
10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert