जानिए क्यों ज़रूरी हैं मानवाधिकार

Rating:
0
(0)
human rights

मानवाधिकार इंसान के लिए बहुत महत्व रखते हैं। मानवाधिकार अगर न हों तो इंसान की हालत ऐसी हो जाएगी जैसे जल बिन मछली। जैसे इंसान को सांस लेना बेहद ज़रूरी है वैसे ही मानवाधिकार का होना उतना ही ज़रूरी है। भारत में राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस प्रत्येक वर्ष 10 दिसंबर को भारत में मानवाधिकारों की रक्षा के लिए मनाया जाता है। यह आपके लिए जानना अत्यंत ज़रूरी है कि मानवाधिकार क्यों इतने ज़रूरी हैं, तो चलिए, आज आपको देंगे हम संपूर्ण जानकारी  – Human Rights in Hindi के बारे में

Check it: 12वीं के बाद फॉरेंसिक साइंस

मानवाधिकार क्या है?

मानवाधिकार एक वह ताकत है जो आपको अपने अधिकार के बारे में बताते हैं। आपको इन्हें जानना बेहद ज़रूरी है। यह आपके लिए एक अनमोल उपहार ही तरह हैं. चलिए, जानते हैं – Human Rights in Hindi

  • संयुक्त राष्ट्र की परिभाषा के अनुसार, यह अधिकार जाति, लिंग, राष्ट्रीयता, भाषा, धर्म या किसी अन्य आधार पर भेदभाव किए बिना सभी को प्राप्त हैं।
  • मानवाधिकारों में मुख्यतः जीवन और स्वतंत्रता का अधिकार, गुलामी और यातना से मुक्ति का अधिकार, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार और काम एवं शिक्षा का अधिकार, आदि शामिल हैं।
  • कोई भी व्यक्ति बिना किसी भेदभाव के इन अधिकारों को प्राप्त करने का हक़दार होता है।
  • मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम, 1993 के प्रावधानों के तहत 12 अक्टूबर, 1993 को राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग (National Human Rights Commission-NHRC) की स्थापना की गई।

Check Out: IAS Kaise Bane?

क्यों ज़रूरी हैं Human Rights?

निम्नलिखित में आपको लिस्ट दी जा रही है कि क्यों ज़रूरी है व्यक्ति के जीवन में Human Rights, जानिए Human Rights in Hindi में उस लिस्ट के नाम।

  • शारीरिक स्वतंत्रता के लिए. 
  • गिरफ्तारी व अन्य बेवजह रोककर रखने के प्रविर्ती में मुक्ति के लिए
  • मनुष्य के आत्म सम्मान को बचाकर रखने के लिए 
  • मनुष्य के मौलिक अधिकारों को बचके रखने के लिए 
  • जीवन स्तर को उच्च बनाने के लिए 
  • अधिकारों के कब्ज़े को रोकने के लिए 
  • राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय गौरव एवं शांति बनाने के लिए 
  • मानव के सर्वागीण विकाश के लिए
  • न्याय के रक्षा के लिए

Check out: Lockdown Me Kya Kare : घर पर करने के लिए 20 बेहतरीन टिप्स

मानवाधिकार के उद्देश्य 

नौकरशाही पर रोक लगाना, मानव अधिकारों के हनन को रोकना तथा लोक सेवक द्वारा उनका शोषण करने में अंकुश लगाना। मानवाधिकार की सुरक्षा के बिना सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक आज़ादी खोखली है, मानवाधिकार की लड़ाई हम सभी की लड़ाई है। विश्वभर में नस्ल, धर्म, जाति के नाम मानव द्वारा मानव का शोषण हो रहा है। अत्याचार को रोकना एक बेहद ज़रूरी कार्य है। हमारे देश में स्वतंत्रता के बाद धर्म और जाति के नाम पर भारतवासियों को विभाजित करने का प्रयास किया जा रहा है। आदमी का रंग कैसा भी हो, हिन्दू हो या मुस्लमान, सिख हो या ईसाई, हिंदी बोले या कोई अन्य भाषा, सभी केवल इंसान हैं और संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित मानवाधिकारों को प्राप्त करने का अधिकार हैं।

जरूर देखें: हिंदी व्याकरण – Leverage Edu के साथ संपूर्ण हिंदी व्याकरण सीखें

Human Rights इन चीज़ों की करते हैं सुरक्षा

Human Rights in Hindi में आपको निम्नलिखित चीज़ों की लिस्ट दी जा रही है जिसके लिए Human Rights दुनिया भर में आवाज़ उठाने के लिए जाने जाते हैं।

  • सभी गरीब बच्चों, महिला, बुजुर्ग व विक्लांग व्यक्तियों के लिऐ समान शिक्षा, मुफ्त  स्वास्थ्य जांच कैम्प लगाना और दवाईयां तथा उपकरण उपलब्ध कराना।
  • सामाजिक बुराई के खिलाफ पहल करना और बुलंद आवाज उठाना तथा पीड़ितों को बुराई से छुटकारा दिलाना।
  • बाल व बंधुआ मजदूरी के अत्याचार से मुक्ति दिलाना।
  • बच्चों, महिलाओं तथा बुजुर्गो की रक्षा के लिए काम करना।
  • समाज के लिए योगदान करने वाली हस्तियों को समय-समय पर पुरूस्कृत करके  उनका सम्मान करना।
  • समाज व हर वर्ग के लोगो के साथ मिलकर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करना।
  • जनता तथा पुलिस के बीच में सहयोग का पुल बनाना तथा पीड़ितों को न्याय दिलाना।
  • नए शिक्षा संस्थान, अस्पताल व अनाथ आश्रम खोलना और अन्य आश्रमों की देख-रेख करना।
  • भ्रूण हत्या पर हर सम्भव रोक लगाना व उनके खिलाफ आवाज उठाना।
  • हर वर्ग के कमज़ोर व्यक्ति को समाज में न्याय दिलाना।

Check out: भारत के त्योहारों की सूची

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC)

भारत ने मानवाधिकार संरक्षण अधिनियम, 1993 के तहत राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का गठन और राज्य मानवाधिकार आयोगों के गठन की व्यवस्था करके मानवाधिकारों के उल्लंघनों से निपटने हेतु एक मंच प्रदान किया है। Human Rights in Hindi

  • भारत में मानवाधिकारों की रक्षा के संदर्भ में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग देश की सर्वोच्च संस्था के साथ-साथ मानवाधिकारों का लोकपाल भी है। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश इसके अध्यक्ष होते हैं। यह राष्ट्रीय मानवाधिकारों के वैश्विक गठबंधन का हिस्सा है। साथ ही यह राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थानों के एशिया पेसिफ़िक फोरम का संस्थापक सदस्य भी है। NHRC को मानवाधिकारों के संरक्षण और संवर्द्धन का अधिकार प्राप्त है।
  • मानवाधिकार संरक्षण अधिनियम,1993 की धारा 12(ज) में NHRC समाज के विभिन्न वर्गों के बीच मानवाधिकार साक्षरता का प्रसार करेगा और प्रकाशनों, मीडिया, सेमिनारों तथा अन्य उपलब्ध साधनों के ज़रिये इन अधिकारों का संरक्षण करने के लिये उपलब्ध सुरक्षोपायों के बारे में जागरूकता बढ़ाएगा।
  • इस आयोग ने देश में आम नागरिकों, बच्चों, महिलाओं, वृद्धजनों के मानवाधिकारों, LGBT समुदाय के लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिये समय-समय पर अपनी सिफ़ारिशें सरकार तक पहुँचाई हैं और सरकार ने कई सिफारिशों पर अमल करते हुए संविधान में उपयुक्त संशोधन भी किए हैं।

जरूर देखें:  Kaal in Hindi (काल)

NHRC की संरचना 

  • NHRC एक बहु-सदस्यीय संस्था है जिसमें एक अध्यक्ष सहित 7 सदस्य होते हैं।
  • यह ज़रूरी है कि 7 सदस्यों में कम-से-कम 3 पदेन (Ex-officio) सदस्य हों।
  • अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय कमेटी की सिफारिशों के आधार पर की जाती है।
  • अध्यक्ष और सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्षों या 70 वर्ष की उम्र, जो भी पहले हो, तक होता है।
  • इन्हें केवल तभी हटाया जा सकता है जब सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश की जाँच में उन पर दुराचार या असमर्थता के आरोप सिद्ध हो जाएं।

जरूर देखें: Sarvanam in Hindi (सर्वनाम)

NHRC के कार्य और शक्तियाँ Human Rights in Hindi

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के पास कुछ ऐसी शक्तियां हैं जिन्हें कोई भी रोकने की हिम्मत नहीं कर सकता। यह कार्य और शक्तियां आम लोगों के लिए ही हैं। आइए, बताते हैं – 

  • मानवाधिकारों के उल्लंघन से संबंधित कोई मामला यदि NHRC के संज्ञान में आता है, तो NHRC को उसकी जाँच करने का अधिकार है।
  • इसके पास मानवाधिकारों के उल्लंघन से संबंधित सभी न्यायिक मामलों में हस्तक्षेप करने का अधिकार है।
  • आयोग किसी भी जेल का दौरा कर सकता है और जेल में बंद कैदियों की स्थिति का निरीक्षण एवं उसमे सुधार के लिये सुझाव दे सकता है।
  • NHRC संविधान या किसी अन्य कानून द्वारा मानवाधिकारों को बचाने के लिये प्रदान किये गए सुरक्षा उपायों की समीक्षा कर सकता है और उनमें बदलावों की सिफारिश भी कर सकता है।
  • NHRC मानवाधिकार के क्षेत्र में अनुसंधान का कार्य भी करता है।

Check Out: निबंध लेखन

NHRC की सीमाएं

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की अपनी भी कुछ सीमाएं हैं, जिनके आगे वह ज्यादा कुछ नहीं कर सकते बताते हैं उनकी सीमाओं के बारे में – Human Rights in Hindi

  • NHRC के पास जाँच करने के लिये कोई भी विशेष तंत्र नहीं है। अधिकतर मामलों में यह संबंधित सरकार को मामले की जाँच करने का आदेश देता है।
  • पीड़ित पक्ष को व्यावहारिक न्याय देने में असमर्थ होने के कारण भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी ने इसे ‘India’s teasing illusion’ की संज्ञा दी है।
  • NHRC के पास किसी भी मामले के संबंध में मात्र सिफारिश करने का ही अधिकार है, वह किसी को निर्णय लागू करने के लिये बाध्य नहीं कर सकता।
  • कई बार धन की अपर्याप्ता भी NHRC के कार्य में बाधा डालती है।

Check Out: विज्ञान के चमत्कार पर निबंध

Human Rights में Career

निम्नलिखित List में आपको विदेश में Human Rights में Career के बारे में बताया जा रहा है, जिसमें आप अपना Career बना सकते हैं। Human Rights in Hindi में नज़र डालते हैं इस लिस्ट पर।

  • Human Rights Lawyer
  • Human Rights Campaigner
  • Human Rights Educator
  • Human Rights Researcher
  • Human Rights Advocacy Officer
  • Human Rights Activism Coordinator
  • Human Rights Web Content Manager
  • Human Rights Assistant
  • Human Rights Program Officer
  • Human Rights Grant Writer
  • Human Rights Communications Officer
  • Human Rights Fundraising Specialist
  • Human Rights Policy Analyst
  • Human Rights M&E Officer
  • Human Rights Statistician
  • Human Rights Administrative Officer
  • Human Rights Digital Content Officer
  • Human Rights Research Assistant
  • Human Rights Interpreter/Translator
  • Human Rights Policy Specialist
  • Human Rights Legal Officer
  • Human Rights Consultant
  • Nonprofit Accountant
  • Information Systems Officer
  • Human Resources Officer
  • Political Affairs Officer
  • Outreach & Engagement Officer
  • Field Security Officer
  • Finance Officer
  • Corporate Social Responsibility Specialist
  • GIS Specialist

Check out: UNICEF क्या काम करता है?

India में Human Rights में Career

निम्नलिखित List में आपको India में Human Rights में Career के बारे में बताया जा रहा है, जिसमें आप अपना Career बना सकते हैं। Human Rights in Hindi में नज़र डालते हैं इस लिस्ट पर।

  • Human rights Activist
  • Human rights Defender
  • Human rights Analyst
  • Human rights Professional
  • Human rights Researcher
  • Human rights Programmer
  • Human rights Advocate
  • Human rights Worker
  • Human rights Teacher
  • Human rights Consultant
  • Human rights Campaigner
  • Human right Fundraiser
  • Human rights Manager

Check out: कैसे रहें हमेशा Positive, जानिए…

Human Rights Support में Career

यहाँ आपको Human Rights India में करियर के लिए Universities और Colleges की लिस्ट दी जा रही है, जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए। Human Rights in Hindi में इस प्रकार है यह लिस्ट।

Degree Course

Universities Location
Aligarh Muslim University Aligarh
Andhra University Visakhapatnam
Cochin University of Science & Technology Kochi
Banaras Hindu University Varanasi
M.S. University of Baroda Vadodara
Sri Venkateswara University Tirupati
Berhampur University Berhampur
Mahatma Gandhi University Kottayam
Jamia Millia Islamia New Delhi
M.D. University Rohtak

Diploma Course

Universities Location
University of Mumbai Mumbai
Nagpur University Nagpur
Jamia Millia Islamia New Delhi
Saurashtra University Rajkot
University of Madras Chennai
University of Jammu Jammu Tawi
Pondicherry University Pondicherry
University of Mysore Mysore
J.N. Vyas University Jodhpur
Mohanlal Sukhadia Udaipur
University of Kalyani Kolhapur
Madurai Kamaraj University Madurai
H.P. University Shimla
University of Kashmir Srinagar
Indian Law Institute New Delhi
Indian Institute of Human Rights New Delhi

Certificate Course

Universities Location
Devi Ahilya Vishwavidyalaya Indore
National Law School of India University Bangalore
Berhampur University Berhampur
S.N.D.T. Women’s University Mumbai
Arunachal University Arunachal Pradesh
Manipur University Manipur
Swami Ramanand Teerth Marathwada University Nanded
Lamka Govt. College Manipur
Indira Gandhi National Open University New Delhi

Check out: Commerce लेना करियर के लिए सही या गलत, जानिए

हमें आशा है कि Human Rights in Hindi से जुड़ा यह ब्लॉग आपको ज़रूर मानवाधिकारों के बारे में जानकारी देगा, और आप इस ब्लॉग को अपने दोस्तों और अन्य जानने वालों को ज़रूर भेजेंगे, जिससे वो भी इन अधिकारों के बारे में सूचित रहें। यदि आप विदेश में आगे पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी Leverage Edu वेबसाइट पर जाकर हमारे Experts से Consultation ले सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Ras Hindi Grammar
Read More

मियाँ नसीरुद्दीन Class 11 : पाठ का सारांश, प्रश्न उत्तर, MCQ

मियाँ नसीरुद्दीन शब्दचित्र हम-हशमत नामक संग्रह से लिया गया है। इसमें खानदानी नानबाई मियाँ नसीरुद्दीन के व्यक्तित्व, रुचियों…
Bajar Darshan
Read More

Bajar Darshan Class 12 NCERT Solutions

बाजार दर्शन’ (Bajar Darshan) श्री जैनेंद्र कुमार द्वारा रचित एक महत्त्वपूर्ण निबंध है जिसमें गहन वैचारिकता और साहित्य…
आर्ट्स सब्जेक्ट
Read More

आर्ट्स सब्जेक्ट

दसवीं के बाद आप कुछ रचनात्मक करना चाहते हैं तो आर्ट्स स्ट्रीम आप के लिए ही है। 11वीं…
Namak Ka Daroga
Read More

Namak Ka Daroga Class 11

यहाँ हम हिंदी कक्षा 11 “आरोह भाग- ” के पाठ-1 “Namak Ka Daroga Class″ कहानी के  के सार…