Police Kaise Bane : पुलिस की तैयारी कैसे करें जानिए स्टेप बाय स्टेप गाइड, स्किल्स

1 minute read
police kaise bane

U.S. Bureau of Labor Statistics के अनुसार पुलिस और जासूसों का कुल रोजगार 2021 से 2031 तक 3 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है। Times of India की मार्च 2021 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 5 लाख से ज्यादा खाली पोस्ट्स हैं। इस रिपोर्ट से पता चलता है कि पुलिस की नौकरी में कितना स्कोप है। फिल्मों और टीवी सीरियल्स में पुलिस के रोल में एक्टर को बचपन में देख दिल करता था कि काश हम भी पुलिस अफसर बन सकें। इस ब्लॉग में आप जानेंगें Police Kaise Bane, police ki taiyari kaise kare, स्किल्स, पुलिस बनने के लिए योग्यता आदि।

पुलिस अफसर के प्रकार

भारत में police kaise bane जानने के साथ-साथ यह जानना भी जरूरी है कि पुलिस अफसर कितने प्रकार के होते हैं, जो इस प्रकार है:

  1. प्राइवेट इन्वेस्टिगेटर: प्राइवेट इन्वेस्टिगेटर लोकप्रिय रूप से प्राइवेट जासूस के रूप में जाने जाते हैं। यह किसी व्यक्ति या संगठन के लिए विभिन्न प्रकार के मामलों के बारे में जानकारी खोजने और पर्सनल, लीगल और फाइनेंसियल इनफार्मेशन खोजने के लिए काम करते हैं।
  2. क्राइम सीन इन्वेस्टिगेटर: एक क्राइम सीन इन्वेस्टिगेटर (सीएसआई) किसी विशेष क्षेत्र से संबंधित क्राइम सीन से सभी महत्वपूर्ण proof निकालने का काम करते हैं। सीएसआई राज्य या फ़ेडरल लॉ एनफोर्समेंट द्वारा नियुक्त (एम्प्लॉयड) होते हैं।
  3. लॉ एनफोर्समेंट इंस्ट्रक्टर्स: लॉ एनफोर्समेंट इंस्ट्रक्टर्स आमतौर पर पुराने या करंट लॉ एनफोर्समेंट officers होते हैं। वे लॉ एनफोर्समेंट वर्कर्स की भर्ती के लिए शुरूआती ट्रेनिंग प्रदान करते हैं।
  4. सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस: एसपी सभी भारतीय नॉन-मेट्रोपोलिटन जिलों के डिस्ट्रिक्ट हेड्स होते हैं। उन्हें एक डिस्ट्रिक्ट के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों का इन-चार्ज अप्पोइंट किया जाता है।
  5. डिप्टी सुपरिंटेंटडेंट ऑफ़ पुलिस (डीएसपी): डिप्टी सुपरिंटेंटडेंट ऑफ़ पुलिस राज्य के पुलिस अफसर होते हैं। यह प्रोविंशियल पुलिस फाॅर्स से संबंधित होते हैं।
  6. लोकल पुलिस फाॅर्स: लोकल पुलिस फाॅर्स में देश, म्युनिसिपल, रीजनल, और ट्राइबल पुलिस शामिल हैं जिन्हें सीधे स्थानीय सरकार के द्वारा अप्पोइंट किया जाता है। इन्हें अधिकार क्षेत्र के कानूनों को बनाए रखने, गश्त (पेट्रोलिंग) करने और लोकल क्राइम की जांच करने की आवश्यकता होती है।

पुलिस अफसर बनने के लिए स्किल्स

पुलिस अफसर बनने के लिए नीचे दी हुई ज़रूरी स्किल्स का होना बेहद ज़रूरी है, जो इस प्रकार हैं:

  • क्रिटिकल थिंकिंग
  • प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स
  • कम्युनिकेशन स्किल्स
  • फिजिकल फिटनेस
  • इंटरपर्सनल स्किल्स
  • ऑब्सेर्विंग स्किल्स
  • इनवेस्टिगेटिव स्किल्स

12वीं के बाद Police ki Taiyari Kaise Kare?

12वीं के बाद पुलिस अफसर बनने के लिए कोर्सेज की लिस्ट दी गई है, जो इस प्रकार है: 

  • यूजी प्रिपरेशन: यूजी डिग्री में, यदि छात्र लॉ एनफोर्समेंट में रुचि रखते हैं, तो उन्हें साइकोलॉजी, साइंस और गणित जैसे सब्जेक्ट्स की पढ़ाई करनी चाहिए। इसके अलावा उन्हें फिजिकली फिट रहने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।
  • पीजी प्रिपरेशन: पीजी डिग्री में छात्र लॉ एनफोर्समेंट डिग्री, सोशल साइंस और लॉ आदि के रूप में क्रिमिनल जस्टिस जैसे कोर्सेज को कर सकते हैं।

ग्रेजुएशन के बाद पुलिस अफसर कैसे बनें?

ग्रेजुएशन के बाद पुलिस अफसर बनने के लिए जरूरी पॉइंट्स इस प्रकार है:

  • ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद कैंडिडेट के पास अफसर बनने के कई विकल्प होते हैं। एग्जाम पास करने के बाद सीआईडी अफसर, सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर, डीसीपी, एसीपी, डीएसपी, एसपी आदि पोस्ट्स प्राप्त करते हैं।
  • रिटन एग्जाम पास करने के बाद इंटरव्यू/ओरल राउंड की बारी होती है जिसे सफलतापूर्वक पास करने के बाद पुलिस अफसर लग सकते हैं।

नोट: कुछ पोस्ट्स पर काम को देखते हुए या इंटरनल एग्जाम को पास करने पर प्रमोशन मिलती है।

पुलिस बनने के लिए क्या-क्या चाहिए?

पुलिस अफसर बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया इस प्रकार है:

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12th (कोई भी स्ट्रीम) में पास किया होना ज़रूरी है।
  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री (किसी भी सब्जेक्ट) प्राप्त की हो।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से कैंडिडेट ने मास्टर्स डिग्री (किसी भी सब्जेक्ट) में की हो।
  • लोअर ऐज लिमिट 21 वर्ष है।
  • वैध ड्राइविंग लाइसेंस

शारीरिक अपेक्षाएं

  • हाइट: पुरुष कैंडिडेट्स के लिए हाइट 165 सेंटीमीटर जबकि महिला कैंडिडेट्स के लिए 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए। गोरखा, गढ़वाली, आसामी, कुमाऊँनी, नागालैंड ट्राइबल आदि के कैंडिडेट्स के मामले में पुरुष और महिला के लिए, मिनिमम हाइट में छूट क्रमशः 160 और 145 सेंटीमीटर है।
  • चेस्ट: पुरुष कैंडिडेट्स के लिए मिनिमम चेस्ट आवश्यकता 84 सेंटीमीटर है और महिला के लिए 79 सेंटीमीटर।
  • आईसाइट: कम विज़न वाली आँख के लिए 6/2 या 6/9 की डिस्टेंट विज़न और अच्छी विज़न वाली आँख के लिए 6/6 या 6/9 की विज़न। कम विज़न वाली आँख के लिए J2 और अच्छी विज़न वाली आँख के लिए के लिए J1 नियर विज़न।
  • कैंडिडेट्स को फिजिकल एक्टविटीज करनी होती हैं जिसमें 60 मिनट में 10 किलोमीटर वीकली रन, रस्सी पर चढ़ना और घुड़सवारी शामिल हैं।

Police banne ke liye konsa subject lena padta hai?

पुलिस बनने के लिए कोई निर्धारित विषय नहीं है। आप कोई भी सब्जेक्ट लेकर पुलिस कि नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। चाहे आप साइंस स्ट्रीम के छात्र हों, कॉमर्स स्ट्रीम हो या फिर आर्ट्स इससे फर्क नहीं पड़ता है। आप किसी भी स्ट्रीम से पुलिस बन सकते हैं क्यों कि पुलिस में भर्ती होने के लिए आपको अलग से इसकी भर्ती परीक्षा देनी होती है जो सभी के लिए समान होती है। इस परीक्षा का आयोजन राज्य सरकार द्वारा कराया जाता हैं इसलिए इसका सिलेबस राज्य के अनुसार अलग अलग होता है।

Police ki Taiyari Kaise Kare ?

Police ki Taiyari Kaise Kare यह जानने के लिए नीचे दी गई स्टेप बाय स्टेप गाइड को फॉलो करें :

  • स्टेप-1 बेसिक एजुकेशन प्राप्त करें।
  • स्टेप-2 मिनिमयम आवश्यकताओं का पूरा करें।
  • स्टेप-3 लॉ एनफोर्समेंट एग्जाम पास करें।
  • स्टेप-4 पुलिस अकादमी से ग्रेजुएशन करना ज़रूरी है।
  • स्टेप-5 अफसर के तौर पर एक्सपीरियंस प्राप्त करें।

स्टेप-1 बेसिक एजुकेशन प्राप्त करें

छात्रों को कम से कम हाई स्कूल डिप्लोमा या जीईडी होना चाहिए। कई ऑफिसर्स क्रिमिनल जस्टिस जैसे क्षेत्रों में एक एसोसिएट या बैचलर्स डिग्री हासिल करना चुनते हैं। कुछ रोल्स या डिपार्टमेंट्स के लिए आपको एसोसिएट डिग्री प्राप्त करने की भी आवश्यकता हो सकती है। इसके साथ ही उन लोगों के लिए एजुकेशन की आवश्यकता को अक्सर माफ कर दिया जाता है जिन्होंने सेना में अपनी सेवाएं दी हैं।

स्टेप-2 मिनिमयम आवश्यकताओं का पूरा करें

मिनिमयम आवश्यकता इस प्रकार है:

  • ऐज
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • बैकग्राउंड चेक
  • फिजिकल एग्जामिनेशन
  • साइकोलॉजिकल इवैल्यूएशन

स्टेप-3 लॉ एनफोर्समेंट एग्जाम पास करें

जूरिस्डिक्शन के साथ-साथ आपके द्वारा चुनी गई पुलिस अकादमी के आधार पर विभिन्न लॉ एनफोर्समेंट एग्जाम होते हैं। इन एग्जाम में दिए गए सेक्शंस होते हैं:

  • लिखित (रिटन) एग्जाम: इस सेक्शन में मल्टीप्ल-चॉइस, सही-गलत और शार्ट एस्से क्वेश्चन का कॉम्बिनेशन शामिल है जो कैंडिडेट की नौकरी की नॉलेज का आकलन करते हैं। कई प्रश्न आपकी ग्रामर, रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन और मैथमेटिकल स्किल्स को टेस्ट करते हैं। ये प्रश्न नौकरी से संबंधित सिनेरियो में आपकी लॉजिक और डिसिशन मेकिंग स्किल्स को भी टेस्ट कर सकते हैं।
  • एस्से: इस सेक्शन में, कैंडिडेट को एक लंबा एस्से लिखने के लिए एक टॉपिक या प्रांप्ट दिया जाता है। यह टेस्ट तर्क का उपयोग करने, अपने विचारों और विचारों को स्पष्ट रूप से एक्सप्रेस करने के साथ-साथ आपके दावों का समर्थन करने के लिए आपके रीजनिंग और सबूत प्रदान करने की आपकी एबिलिटी पर फोकस्ड हैं।
  • ओरल (मौखिक) एग्जाम: ओरल टेस्ट एक तरह से इंटरव्यू का रूप होता है, अक्सर डिपार्टमेंट से एक हायरिंग मैनेजर या यहां तक ​​​​कि कम्युनिटी के एक सदस्य के साथ। इसका उद्देश्य आपकी वर्बल कम्युनिकेशन स्किल्स और जनरल प्रेजेंटेशन को evaluate करना है।

स्टेप-4 पुलिस अकादमी से ग्रेजुएशन करना ज़रूरी है

बेसिक रेक्विरेमेंट को पूरा करने और लॉ एनफोर्समेंट एग्जाम पास करने के बाद, आपको एक पुलिस ट्रेनिंग अकादमी में भाग लेना होता है। पुलिस अकादमी में होने वाली ट्रेनिंग इस प्रकार है:

  • क्लासरूम ट्रेनिंग: क्लासरूम ट्रेनिंग में, भविष्य के पुलिस अफसर लॉ और रेगुलेशन, क्रिमिनल इंवेस्टगेशन मेथड, गिरफ़्तारी और डिटेनमेंट प्रक्रिया के साथ-साथ पोलिसिंग और पब्लिक सेफ्टी के विभिन्न तरीकों सहित लॉ एनफोर्समेंट का ओवरव्यू प्राप्त करते हैं।
  • फील्ड ट्रेनिंग: भविष्य के अफसर डिफेंस टैक्टिस, एडमिनिस्ट्रेटिव ड्यूटी का पालन करते हैं, हथियारों का इस्तेमाल सावधानी से करते हैं, खतरनाक सामग्री को संभालते हैं, व्हीकल ऑपरेशन्स और फाॅर्स का सही इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा, उन्हें जनता के साथ बातचीत करने के साथ-साथ प्रॉब्लम सॉल्विंग, इन्वेस्टीगेशन और डिसिशन मेकिंग स्किल्स की प्रैक्टिस करने के लिए कॉमन या काम्प्लेक्स सिनेरियो को सिमुलेट करने की आवश्यकता हो सकती है।

स्टेप-5 अफसर के तौर पर एक्सपीरियंस प्राप्त करें

एक बार ट्रेनीज़ पुलिस अकादमी से ग्रेजुएट हो जाने के बाद कंडीशनल बेसिस पर पुलिस फाॅर्स के लिए काम करना शुरू कर सकते हैं। नए अफसरों को 12 महीने की प्रोबेशनरी पीरियड पर रखा जाता है जिसमें वे एक पुलिस अफसर के रूप में काम करते हैं। वह डेली बेसिस पर अधिक एक्सपेरिएंस्ड अफसर से कॉन्टिनियस ट्रेनिंग प्राप्त करते हैं।

पुलिस अफसर बनने के लिए एग्ज़ाम्स

नीचे पुलिस अफसर बनने के लिए नेशनवाइड एग्ज़ाम्स की लिस्ट दी गई है:

  • UPSC CAPF
  • SSC GD Constable Exam
  • State Police Constable Exams
  • SSC CPO Exam
  • UPSC CSE (for IPS)
  • SPSC Exams

विदेश में पुलिस अफसर कैसे बनें?

विदेश में police kaise bane इसकी जानकारी नीचे दी गई है-

यूके

  • एडमिशन प्रोसेस: इस सेक्शन में फॉर्म का ऑनलाइन सबमिशन, ऑनलाइन टेस्ट और इंटरव्यू शामिल है।
  • एजुकेशनल रेक्विरेमेंट: उम्मीदवारों को पिछले तीन वर्षों और उससे अधिक के लिए UK से होना चाहिए। उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष और उससे अधिक होनी चाहिए। उन्हें बैकग्राउंड  और सुरक्षा जांच पास करने की आवश्यकता है। इसके साथ ही फिजिकल और मेडिकल टेस्ट भी पास करने होंगे।
  • अन्य रेक्विरेमेंट: न्यूनतम 2.2 डिग्री या बराबर हासिल करना चाहिए और किसी भी विषय में लेवल 3 की योग्यता होनी चाहिए।

यूएसए

  • एडमिशन प्रोसेस: इस सेक्शन में फॉर्म का ऑनलाइन सबमिशन, ऑनलाइन टेस्ट और इंटरव्यू शामिल है।
  • एजुकेशनल रेक्विरेमेंट: उम्मीदवारों को यूएसए से ही होना चाहिए, उनके पास वैलिड ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए। उम्मीदवार की आयु 18-21 वर्ष होनी चाहिए। उम्मीदवारों का साफ-सुथरा क्राइम रिकॉर्ड होना चाहिए।
  • अन्य रेक्विरेमेंट: ज्यादातर पुलिस अफसर कोर्सेज के लिए फॉर्मल एजुकेशन आवश्यकता के रूप में उम्मीदवारों के पास हाई स्कूल डिप्लोमा या जीईडी होना चाहिए।

पुलिस अफसर की प्रोफाइल और सैलरी

Glassdoor.co.in के मुताबिक यूके में एक पुलिस अफसर की सालाना ऐवरेज सैलरी जीबीपी 51,473 (51,47,300 रुपये) और यूएसए में 61,936 (46,45,200 रुपये) होती है। भारत में पुलिस अफसर बनने के बाद मिलने वाली जॉब प्रोफ़ाइल और सैलरी इस प्रकार हैं:

जॉब पोस्टसैलरी (महीना/रुपयों में)
डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस2,25,000
इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस1,44,200
सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस/डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस1,20,000/94,202
अस्सिटेंट कमिश्नर ऑफ़ पुलिस/डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस86,006/65,477
इंस्पेक्टर50,449
सब इंस्पेक्टर43,460

FAQs

12वीं के बाद पुलिस की तैयारी कैसे करें?

अपने दौड़ने की क्षमता को अच्छा करें आप प्रतिदिन दौड़ने का अभ्यास करें लेकिन ध्यान रहे यूपी पुलिस में जितनी दौड़ मागी गई है आप उतना ही अभ्यास करें आप ऐसा नहीं कर सकते कि आप मांगी गई दौड़ से ज्यादा दौड़ लगाने लगे इससे आपको परेशानी हो सकती है इसलिए जितना आपको फिजिकल टेस्ट में परफॉर्म करना है उसी के हिसाब से प्रैक्टिस करें …

पुलिस बनने के लिए क्या करना चाहिए?

पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए बारहवीं कक्षा की पढाई अच्छे से करें, क्योंकि लिखित परीक्षा में हाईस्कूल स्तर का प्रश्न होता है. लिखित परीक्षा (लिखित एग्ज़ाम) की तैयारी के लिए किताब मिलती है. वह किताब आपके शहर में उपलब्ध होती है, उस किताब को खरीदकर आप परीक्षा तैयारी आसानी से कर सकते हैं.

Police ki Taiyari Kaise Kare ?

Police ki Taiyari Kaise Kare यह जानने के लिए नीचे स्टेप दी गई हैं :
-12वीं कक्षा पास करें
-भर्ती के लिए अप्लाई करें
-एग्जाम पास करें
-शारीरिक परीक्षा पास करें
-डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन
-मेडिकल टेस्ट पास करें
-ट्रेनिंग कंप्लीट करें और पद ग्रहण करें

पुलिस बनने के लिए कौन सी पढ़ाई पढ़नी पड़ती है?

सभी राज्यों में पुलिस की भर्ती के लिए आयु सीमा अलग-अलग निर्धारित की गई है। भारत में पुलिस में नौकरी पाने हेतु इसके लिए कम से कम योग्यता इंटरमीडिएट और अधिकतम स्नातक कि परीक्षा विभिन्न पदों के लिए निर्धारित की जाती है। पुलिस भर्ती में फिजिक्ल टेस्ट के कारण अधिकतर छात्र बाहर हो जाते हैं।

पुलिस में हाइट कितनी चाहिए?

भर्ती बोर्ड के नोडल अधिकारी के अनुसार महिला अभ्यर्थी के लिए 152 सेंटीमीटर लंबाई और वजन 40 किलोग्राम होना जरूरी है। पुरूष अभ्यर्थी के लिए 168 सेमी लंबाई आवश्यक है।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग से आपको police kaise bane इसकी जानकारी मिली होगी। ऐसे ही अन्य हिंदी ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बनें रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

23 comments
    1. सचिन जी, 12वीं के बाद पुलिस अफसर बनने के लिए आपको ग्रेजुएशन करने की आवश्यकता होगी। उसके लिए आपको 12वीं में 50% अंक लाने अनिवार्य हैं। वहीं पुलिस में कुछ पोस्ट के लिए केवल 12वीं तक की पढ़ाई मांगी जाती है।