ऑस्ट्रेलिया के डीकिन विश्वविद्यालय में 4 भारतीय छात्रों को मिली 100% छात्रवृत्ति

1 minute read
40 views
डीकिन विश्वविद्यालय में 4 भारतीय छात्रों को मिली 100% छात्रवृत्ति

अन्विशा चोपड़ा, अर्नब बोरदोलोई, आर्यन वडेरा और श्रुति अरोड़ा को Vice-Chancellor’s Meritorious 100% छात्रवृत्ति 2022 के लिए विजेता घोषित किया गया है। यह घोषणा कुछ दिनों पहले TIMES Now पर सुनंदा जयसीलन द्वारा डीकिन विश्वविद्यालय के साथ आयोजित एक विशेष एपिसोड – ‘लीडर ऑफ टुमॉरो’ (Leader of Tomorrow) में की गई थी।

पिछले 28 वर्षों में, नई दिल्ली में डीकिन विश्वविद्यालय के ऑफिस ने इस क्षेत्र में इसके संचालन के केंद्र के रूप में कार्य किया है। डीकिन, 2014 में शुरू की गई डीकिन वाइस-चांसलर की मेधावी 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति जैसी विभिन्न पहलों के माध्यम से भारत के साथ साझेदारी कर रहा है।

यह प्रतिष्ठित छात्रवृत्ति डीकिन विश्वविद्यालय की पहल ‘चेंजिंग लाइव्स’ का हिस्सा है, जिसका उद्देश्य उच्च शिक्षा अभिलाषी छात्रों का समर्थन करना है। छात्रवृत्ति का उद्देश्य भारत को ऑस्ट्रेलिया में डीकिन विश्वविद्यालय में कौशल और अनुभव प्रदान करना है।

पूरे भारत से छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने वाले 800 से अधिक छात्रों में से 9 फाइनलिस्ट चुने गए। इसके बाद इन फाइनलिस्टों को एक कठोर चयन प्रक्रिया से गुजरना पड़ा, जिसमें शिक्षा में महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजीज के महत्व और काम के भविष्य पर एक चर्चा शामिल थी। ग्रुप डिस्कशन के बाद, व्यक्तिगत इंटरव्यू के दौर के लिए 6 उम्मीदवारों का चयन किया गया था।

छात्रवृत्ति विजेताओं का चयन जजों के पैनल द्वारा किया गया था, जिसमें डीकिन विश्वविद्यालय के वाईस प्रेजिडेंट (ग्लोबल अलायन्स) और CEO (साउथ एशिया) – रवनीत पावहा, ऑस्ट्रेलियाई हाई कमीशन के मंत्री-काउंसेलर (शिक्षा और रिसर्च) – मैथ्यू जॉनसन, और NSE अकादमी लिमिटेड के CEO – अभिलाष मिश्रा शामिल थे।

डीकिन विश्वविद्यालय के अध्यक्ष और कुलपति प्रोफेसर इयन मार्टिन ने कहा कि डीकिन में हमें अपने विविध छात्र समूह पर गर्व है, हमारे कैंपस में 130 से अधिक देशों के छात्र पढ़ रहे हैं। वह आगे कहते हैं कि भारतीय छात्र हमारे एडवांस्ड विश्वविद्यालय समुदाय का एक केंद्रीय हिस्सा रहे हैं, नए दृष्टिकोण और विचारों का योगदान करते हुए, हमें हमारी जीवंत और इंक्लूसिव (inclusive) कल्चर का निर्माण करने और उच्च अकादमिक स्टैंडर्ड्स को लाने में मदद करते हैं।

डीकिन यूनिवर्सिटी के वाइस प्रेसिडेंट रवनीत पावा कहते हैं कि युवा फाइनलिस्ट में TEDx स्पीकर से लेकर UNICEF शामिल थे, जो कि वास्तव में एक असाधारण था, और जजों के लिए विजेता चुनना एक मुश्किल काम था।

छात्रवृत्ति विजेता ऑस्ट्रेलिया के डीकिन विश्वविद्यालय में अपनी पढ़ाई शुरू करेंगे और उन्हें कुलपति के प्रोफेशनल एक्सैलेन्स प्रोग्राम का हिस्सा बनने का अवसर मिलेगा।

इस वर्ष की छात्रवृत्ति प्राप्तकर्ताओं में से एक, श्रुति अरोड़ा ने कहा कि यह छात्रवृत्ति मेरे लिए अपनी क्षमता तक पहुँचने और एक ऐसे उद्देश्य के लिए काम करके समाज को वापस देने का एक अवसर है, जिस पर मैं दृढ़ता से विश्वास करती हूँ।

डीकिन विश्वविद्यालय ऑन कैंपस व ऑनलाइन कोर्सेज में फुल ट्यूशन फी पर 20 प्रतिशत और 25 प्रतिशत की अकादमिक परफॉरमेंस-आधारित बर्सरी (bursaries) और स्कॉलरशिप्स भी प्रदान करता है।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert