विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस क्यों मनाते हैं और जानिए क्या है इसका इतिहास

1 minute read
विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस

भारत या पूरे विश्व मनाए जाने वाले कई दिन अपनी महत्ता समेटे हुए हैं। विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस भी उनमें से एक है। दुनियाभर में जीवन को बचाने और प्राथमिक चिकित्सा के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस मनाया जाता है। 2000 से इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ (IFRC) इसका सम्मान कर रही हैं, लेकिन इसका इतिहास क्या और यह दिवस क्यों मनाया जाता है भी जानना जरूरी है, इसलिए इस ब्लाॅग में हम विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के बारे में विस्तृत जानेंगे।

आयोजन विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस
आयोजन तिथि 11 सितंबर
आयोजन की शुरुआत 2,000
आयोजन का स्तर अंतरराष्ट्रीय
आयोजनकर्ता इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ (IFRC).
विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस की थीम (2023) ‘डिजिटल दुनिया में प्राथमिक चिकित्सा’

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस क्या है?

प्राथमिक चिकित्सा अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट आंदोलन के केंद्र में रही है। संकट में हर मिनट मायने रखता है, लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप दुनिया में कहीं भी हैं और पेशेवर चिकित्सा सहायता हमेशा तुरंत उपलब्ध नहीं हो सकती है। 

प्राथमिक चिकित्सा के माध्यम से अनगिनत लोगों की जान बचा सकते हैं। ज्यादातर मामलों में प्राथमिक उपचार राहगीरों द्वारा किया जाता है। हमारा मानना है कि प्राथमिक चिकित्सा एक मानवीय कार्य है और इसे बढ़ावा देने के लिए विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें- संस्कृत दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का इतिहास क्या है?

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का इतिहास इस प्रकार हैः

  • रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ ने 2000 में विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का आयोजन किया।
  • हर साल IFRC और हमारी राष्ट्रीय सोसायटी प्राथमिक चिकित्सा की शक्ति को बढ़ावा देने और उसका जश्न मनाने के लिए जागरूकता गतिविधियों के साथ लोगों तक पहुंचती हैं।
  • यह संगठन 100 से अधिक वर्षों से प्राथमिक चिकित्सा सेवाएं दे रहा है। 
  • इस दिन का इतिहास 1859 से भी जोड़ा जाता है जब हेनरी डुनेंट नाम के एक युवा व्यवसायी ने सोलफेरिनो की लड़ाई के दौरान घायल सैनिकों की मदद की थी।

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस क्यों मनाते हैं?

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस क्यों मनाते हैं के बारे में यहां बताया गया हैः

  • यह दिन दुनिया भर में प्राथमिक चिकित्सा के महत्व को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है।
  • इस दिन संदेश दिया जाता है कि वैश्विक स्तर पर प्राथमिक चिकित्सा को लेकर जागरूकता और यह कैसे कीमती जीवन बचा सकती है।
  • यह एक प्रभावी और तीव्र हस्तक्षेप है जिसमें दर्द और चोट को कम करना शामिल है।
  • यह चिकित्सा सहायता मांगने से पहले रोगियों को दिया जाने वाला उपचार है।
  • ख़राब चिकित्सा स्थितियों को और भी बदतर होने से रोकें।
  • अस्पताल में अनावश्यक दौरे कम करें।
  • रोगी के शारीरिक दर्द को दूर करें।
  • अस्पताल में रहने की अवधि कम करें।
  • इमरजेंसी में महत्वपूर्ण साधन प्रदान करें।
  • संभावना में सुधार करें और स्थायी विकलांगता को रोकें।

पहली बार विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस कब मनाया गया?

इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज ने 2000 में विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस की स्थापना की थी और 2000 में ही पहली बार विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का आयोजन हुआ था।

पहली बार विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस कहां मनाया गया?

सन 2,000 में विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस की स्थापना से पहले देखा जाए तो विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का इतिहास 1859 में सोलफेरिनो की लड़ाई से जुड़ा है, जिसमें जिनेवा के एक युवा व्यवसायी, हेनरी डुनेंट ने कई गंभीर रूप से घायल लोगों की मदद की थी।

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के उद्देश्य क्या हैं?

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के उद्देश्य इस प्रकार हैंः

  • प्राथमिक चिकित्सा के उद्देश्यों में जीवन की रक्षा करना शामिल है। 
  • इसका मुख्य उद्देश्य जीवन बचाना है।
  • सड़क हादसे में घायल या फिर अन्य किसी घायल व्यक्ति का जान बचाना।
  • घायल को बिगड़ी हालत से बाहर निकालना।
  • घायल व्यक्ति के रक्त बहने पर जल्द से जल्द रक्तस्राव रोकें।
  • घायल को सदमा लगा हो ते उसे सांत्वना दें और समझाएं।
  • घायलों की तबियत में सुधार को बढ़ावा देना।
  • किसी घायल व्यक्ति को प्राथमिक चिकित्सा देने के लिए उचित प्रशिक्षण और ज्ञान आवश्यक है।

प्राथमिक चिकित्सा के जनक कौन थे?

भारत में शल्य चिकित्सा का जनक सुश्रुत को माना जाता है। आधुनिक प्राथमिक चिकित्सा के संस्थापक फ्रेडरिक एस्मार्च और हिप्पोक्रेट्सको पारंपरिक रूप से चिकित्सा के जनक के रूप में जाना जाता है। 

प्राथमिक चिकित्सा कब दी जाती है?

जब कोई व्यक्ति हादसे या दुर्घटना में घायल होता है तो बीमार या घायल व्यक्ति को तत्काल दी जाने वाली चिकित्सा सहायता को प्राथमिक चिकित्सा कहते हैं। जब घायल व्यक्ति की चोट ज्यादा गंभीर न हो, तब उसे प्राथमिक चिकित्सा के रूप में मदद दी जाती है और बाद में अस्पताल में पहुंचाया जाता है। 

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस से जुड़े रोचक तथ्य

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस से जुड़े रोचक तथ्य इस प्रकार हैंः

  • 2020 में विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस की थीम ‘प्राथमिक चिकित्सा जीवन बचाती है’ है।
  • प्राथमिक चिकित्सा किसी दुर्घटना के तुरंत बाद चोट वाली जगह पर पेशेवर मदद आने तक प्रदान की जाने वाली प्राथमिक चिकित्सा है। 
  • कोई भी प्राथमिक चिकित्सा के लिए प्रशिक्षण ले सकता है।
  • विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस का पहला उद्देश्य घायल या बीमार लोगों के जीवन को बचाने के लिए आवश्यक कार्य करना है।
  • किसी घायल व्यक्ति को प्राथमिक उपचार देकर उसकी स्थिति को संभालना और संक्रमण से बचाने का प्रयास करना है।
  • विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस आपके लिए नया सीखने या मौजूदा प्राथमिक चिकित्सा कौशल को ताज़ा करने के लिए एकदम सही प्रोत्साहन है।
  • विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस मनाने के बाद से अपने घर, वाहन, कार्यस्थल या अन्य स्थानों के लिए प्राथमिक चिकित्सा किट रखी जा रही हैं।
  • विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस की स्थापना इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ द्वारा 2000 में की गई थी और तब से यह हर साल मनाया जाता है।
  • IFRC दुनिया भर के रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट संगठनों का एक नेटवर्क है, और विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस मनाने के लिए इसकी गतिविधियां हर साल 4.4 मिलियन से अधिक लोगों तक पहुंचती हैं।

FAQs

प्राथमिक चिकित्सा का प्रथम कार्य कौन सा है?

प्राथमिक चिकित्सा का प्रथम कार्य घायल व्यक्ति का तुरंत प्राथमिक उपचार और उसे अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था करना है।

प्राथमिक चिकित्सा क्यों दी जाती है?

प्राथमिक चिकित्सा घायल व्यक्ति की मदद करने और परेशानी ज्यादा न बढ़ने के लिए दी जाती है।

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस किस संस्थान ने शुरू किया?

इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ से विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस शुरू हुआ।

प्राथमिक चिकित्सा का उद्देश्य कौन सा है?

प्राथमिक चिकित्सा का उद्देश्य लोगों की मदद करना और उनका जीवन बचाना है।

आशा है कि इस ब्लाॅग में आपको विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। इसी तरह के अन्य ट्रेंडिंग आर्टिकल्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*