Essay on Football : परीक्षा में ऐसे लिखें फुटबॉल पर 100, 200 और 500 शब्दों में निबंध

1 minute read
Essay on Football

फुटबॉल विश्व का सबसे लोकप्रिय खेल है। यह बहुत ही रोमांचकारी और चुनौतीपूर्ण खेल है जिसे आमतौर पर आनंद और मनोरंजन के लिए खेला जाता है। Essay on Football in Hindi के माध्यम से आप खेल की महिमा और फुटबॉल के बारे में गहराई से जान पाएंगे। इस ब्लॉग में आप फुटबॉल पर 100 शब्दों, 200 शब्दों, 500 शब्दों में निबंध, फुटबॉल के कुछ खास नियम और फुटबॉल पर इंट्रस्टिंग निबंध लिखने की टिप्स दिए गए हैं जो आपको परीक्षा में, स्कूल प्रोजेक्ट्स में या नेशनल फुटबॉल दिवस के दिन एक्टिविटीज में लिखवाया जाता है।

फुटबॉल के बारे में

फ़ुटबॉल, जिसे दुनिया के कुछ हिस्सों में सॉकर के नाम से भी जाना जाता है। यह खेल विश्व स्तर पर काफी प्रसिद्ध है जो की विभिन्न संस्कृतियों और महाद्वीपों के लोगों को एकजुट करता है। यह खेल ग्यारह खिलाड़ियों की दो टीमों द्वारा खेला जाता है, जिसका उद्देश्य विरोधी टीम की तुलना में अधिक गोल करना है। आज दुनिया में फुटबॉल के करोड़ों फैंस हैं और ये सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खेल भी है।

यह भी पढ़ें : जानिए दुनिया के सबसे मशहूर खेल फुटबॉल से जुड़े रोचक तथ्य

फुटबॉल पर 100 शब्दों में निबंध

100 शब्दों में Essay on Football in Hindi इस प्रकार हैः   

विश्व के प्रसिद्ध खेलों में से एक फुटबॉल को बहुत ही रोमांचकारी और चुनौतीपूर्ण खेल माना जाता है। इस खेल को खेलने के लिए दो टीमों के खिलाड़ी आमने सामने आते हैं, आमतौर पर इस खेल के माध्यम से मनोरंजन और प्रेरणा की लहर से समाज को खेलों के प्रति जागरूक किया जाता है। यह एक ऐसा खेल है जो कि आपके शरीर और मन को तरोताजा तो करता ही है, साथ ही आप को हर प्रकार के रोगों से दूर रखता है और आपके व्यक्तित्व का निर्माण करता है। यह खेल आपको जीवन जीने का एक मकसद देता है और आपको सपने देखने के साथ-साथ, उन्हें पूरा करने के लिए आपको कर्मठ भी बनाता है। इस प्रसिद्ध खेल को विश्व में फुटबॉल के अलावा सॉकर के नाम से भी जाना जाता है।

फुटबॉल पर 200 शब्दों में निबंध

200 शब्दों में Essay on Football in Hindi इस प्रकार हैः   

फुटबॉल एक ऐसा खेल है जो आपको टीम स्प्रीट भावना से सरावोर कर देता है, यह खेल आपको सबका सम्मान करना और सबको साथ लेकर चलना सिखाता है। इस खेल से प्रेरित होकर मानव इस बात को गहराई से समझ सकता है कि समस्याएं जीवन भर आती है, हमें उनसे घबराए बिना अपने कर्तव्य पथ पर निरंतर कार्यरत रहना चाहिए। साथ ही यह खेल जीवन को कामयाबी के लिए अवसर तलाशने का एक शानदार माध्यम समझता है और इसी कारण यह समाज को सदा से ही जागरूक करता है। फुटबॉल से मिलने वाले लाभ यूँ तो कई प्रकार के हैं पर देखा जाए तो फुटबॉल खेल एक अच्छा शारीरिक व्यायाम है। इस खेल के माध्यम से बच्चों और युवाओं के साथ ही, अन्य आयु वर्ग के लोग भी स्वस्थ रहते हैं और जीवन भर सकारात्मकता को स्वीकार करते हैं। पूरी दुनिया में यह खेल आमतौर पर स्कूल और कॉलेजों में विद्यार्थियों के स्वास्थ्य लाभ के लिए खेला जाता है। यह विद्यार्थियों के विद्यार्थी जीवन में कौशल, एकाग्रता का स्तर और स्मरण शक्ति को सुधारने में सहायक साबित होता है। फुटबॉल खेल ही है, जो व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रुप से स्वस्थ रखने के साथ-साथ एक अच्छा जीवन प्रदान करता है।

फुटबॉल पर 500 शब्दों में निबंध

500 शब्दों में Essay on Football in Hindi इस प्रकार हैः   

प्रस्तावना

फुटबॉल एक ऐसा खेल है जिसको यदि नियमित रूप से खेला जाए अथवा यदि इसको अपनी दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाया जाए तो यह खेल विश्व कल्याण का मार्ग प्रशस्त करता है, साथ ही जीवन के लिए बहुत उपयोगी होता है। देखा जाए तो यह खेल कई मायनों में लाभकारी होता है। यह खेल 11-11 खिलाड़ियों के साथ दो दो टीमों के बीच खेला जाने वाला आउटडोर खेल है। इस खेल को एक अच्छा शारीरिक व्यायाम कहना गलत नहीं, क्योंकि यह खेल मानव को सद्भाव, अनुशासन और खेल भावना के लिए खिलाड़ियों को समर्पण भाव सिखाता है। यह दुनिया के लोकप्रिय खेलों में एक है और कई देशों के विभिन्न शहरों और कस्बों में एक लंबे कालखंड से यह खेल खेला जा रहा है।

फुटबॉल की उत्पत्ति से जुड़ी रोचक बातें

फुटबॉल के इतिहास पर अगर एक नज़र डाली जाए तो हमें पता लगता है कि ऐतिहासिक रुप से फुटबॉल खेल 700-800 साल पुराना है। हालांकि, इस खेल को विश्व का पसंदीदा खेल के रूप में बीते 100 वर्षों से भी अधिक समय से मान्यता प्राप्त है। देखा जाए तो यह खेल रोम के लोगों द्वारा ब्रिटेन के लिए लाया गया था। इसे खेलने की शुरुआत लगभग वर्ष 1863 में इंग्लैंड में हुई थी। इस खेल को नियंत्रित करने के लिए फुटबॉल एसोसिएशन का इंग्लैंड में ही गठन किया गया था। जब यह खेल शुरू हुआ तब शुरुआती दिनों में लोग इसे सामान्य रुप से गेंद को पैर से ठोकर मारकर खेलते थे। जो बाद में धीरे-धीरे बहुत ही रुचिपूर्ण खेल बन गया।

देखा जाए तो इस खेल ने जब अधिक लोकप्रियता प्राप्त कर ली तब इस खेल को कुछ कड़े नियमों के साथ, बाउंडरी लाइन और सेंटर लाइनों से चिह्नित एक आयताकार मैदान में खेला जाना शुरु हो गया। इस खेल को सॉसर के नाम से भी जाना जाता है। इस खेल के नियमों को मूल रूप से व्यवस्थित कोड के रुप में फुटबॉल एसोसिएशन द्वारा संचालित किया जाता था। बाद में इस खेल को वर्ष 1863 में अन्तर्राष्ट्रीय फीफा के अधीन कर लिया गया और तभी से आज तक फीफा ही इसको संचालित करता आ रहा है। इसी कड़ी में हर चार साल बाद फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन किया जाता है।

फुटबॉल के कुछ खास नियम

फुटबॉल जितना पुराना खेल है, समय-समय पर उतने ही उसके नियमों में भी सुधार होता रहा है। यूँ तो इस खेल को खेलने के लिए मूल रूप से लगभग 17 नियम है, जिनमें से कुछ विशेष नियम निम्नलिखित हैं-

  • यह खेल दो लम्बी रेखाओं (स्पर्श लाइन) और दो छोटी साइड (गोल लाइन) वाले आयताकार मैदान में खेला जाता है। इस मैदान को दो बराबर भागों में विभाजित करती लाइनों में यह खेल खेला जाता है।
  • इस खेल में खेली जाने वाली फुटबॉल का आकार 68 से 70 सेमी. होता है, जो कि चमड़े से बनी एक गोलाकार गेंद होती है।
  • इस खेल को खेलने के लिए दोनों टीमों में लगभग 11-11 खिलाड़ी होते हैं। यदि किसी टीम में 7 खिलाड़ी से कम खिलाड़ी हैं, तो इस खेल को किसी भी सूरत में शुरु नहीं किया जा सकता है।
  • इस खेल के नियमों को सुनिश्चित करने के लिए एक रेफरी और दो सहायक रेफरी होने अनिवार्य हैं।
  • इस खेल की कुल अवधि 90 मिनट की होती है, जिसमें 45-45 मिनट के दो हॉफ होते हैं। साथ ही मध्यान 15 मिनट से ज्यादा का नहीं हो सकता है।
  • खेल के दौरान हर समय एक गेंद रहती है हालांकि, यह खेल के बाहर तभी होती है, जब टीम के खिलाड़ी गोल का स्कोर करते हैं या रेफरी खेल को रोकता है।
  • एक गोल के स्कोर के बाद खेल को दुबारा शुरु करने के लिए हमेशा एक गोल किक की जाती है।

उपसंहार

इस निबंध का उद्देश्य फुटबॉल खेल के इतिहास से जुड़ी रोचक बातों और फुटबॉल के नियमों की जानकारी को आप तक पहुंचाने का था। खेलों की उत्पत्ति मानव को समस्यों के समाधानों तक पहुंचाने और समाज को सशक्त बनाने के लिए हुई है। इस निबंध में इसी बात पर अधिक ध्यान दिया गया है।

फुटबॉल पर निबंध लिखने के लिए टिप्स

फुटबॉल पर निबंध (Essay on Football in Hindi ) लिखने के लिए टिप्स निम्नलिखित हैं-

  • सबसे पहले फुटबॉल खेल के इतिहास के बारे में अच्छे से जान लें।
  • आपके निबंध की प्रस्तावना ऐसी होनी चाहिए कि आप निबंध लिखने का उद्देश्य प्रस्तुत कर पाएं।
  • इस खेल के नियमों को अच्छे से पढ़ें।
  • इस खेल से संबंधित अन्य आर्टिकल और ब्लॉग्स भी पढ़ें तांकि आप और ज्ञान अर्जित कर पाएं।
  • अपनी भवनमाओं को उचित शब्दों से व्यक्त करें।
  • निबंध में लिखने वाली भाषा कठिन और जटिल न हो।
  • निबंध में उठ रहे बिंदुओं पर अच्छे से विस्तृत जानकारी देने का प्रयास करें।
  • अपने निबंध का निष्कर्ष अवश्य लिखें।

यह भी पढ़ें : फुटबॉल जीके क्वेश्चन

फुटबॉल के बारे में रोचक तथ्य

फुटबॉल के बारे में रोचक तथ्य निम्नलिखित है :

  • फ़ुटबॉल संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे लोकप्रिय खेल है।
  • पहला फुटबॉल खेल 1869 में रटगर्स और प्रिंसटन के बीच खेला गया था।
  • भारतीय राष्ट्रीय टीम कभी भी फीफा विश्व कप टूर्नामेंट में नहीं खेली है।
  • 2 मई 1964 को Peru में आयोजित फुटबॉल मैच में रेफरी के फैसले पर मैदान में दंगा हो गया जिसके कारण लगभग 300 लोगों की मौत हो गई।
  • आधुनिक फ़ुटबॉल की शुरुआत 19वीं सदी में ब्रिटेन में हुई।

FAQs

किस देश ने पहले फुटबॉल विश्व कप की मेजबानी की थी?

उरुग्वे

फुटबॉल में कुल कितने नियम होते हैं?

फुटबॉल में कुल 17 नियम होते हैं।

फुटबॉल गेम कितने मिनट तक चलता है?

90 मिनट तक चलता है।

संबंधित आर्टिकल्स

दिवाली पर निबंध समय के सदुपयोग के बारे में निबंध
लोकतंत्र पर निबंधकरियर पर निबंध 
लाल बहादुर शास्त्री पर निबंधराष्ट्रीय युवा दिवस पर निबंध 
ऑनलाइन शिक्षा पर निबंधमोर पर निबंध
मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध मेरे परिवार पर निबंध 

आशा है कि इस ब्लाॅग में आपको Essay on Football in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। इसी तरह के अन्य निबंध से संबंधित ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*