व्यायाम का महत्व

Rating:
3.9
(74)
व्यायाम का महत्व

मनुष्य के जीवन में व्यायाम का महत्व कितना है यह बात शायद हम से काफी लोग भूल गए लगता हैं। इस व्यस्त दुनिया में इंसान के पास न तो अपने लिए समय है और दूसरों के लिए तो भूल ही जाइए। स्कूल जाने वाले बच्चों को जहाँ जितनी पढ़ाई के महत्व के बारे में ज्यादा बताया जाता है, उन्हें उतना अपनी सेहत के बारे में कम बताया जाता है। पिछले कुछ वर्षों से यह देखा गया है छोटे-छोटे बच्चों के हाथ में मोबाइल, टेबलेट हैं। जहाँ इन बच्चों को पार्क में जाकर खेलना, व्यायाम करना चाहिए, वह अपने स्मार्टफोन में व्यस्त हैं। युवा और बड़ों का भी ऐसा ही हाल है। हमें अपनी लाइफस्टाइल को बदलना ही होगा। व्यायाम का महत्व ऐसे में सबको समझना चाहिए, तो चलिए लेते हैं व्यायाम के बारे संपूर्ण जानकारी I

Check Out: योग क्या है? (Yog Kya Hai)

व्यायाम क्या होता है ?

व्यायाम का अर्थ होता है अपने शरीर की देख-रेख। रोजाना नियम से अपने शरीर को अपनी सीमा से आगे धकेलना। स्वास्थ्य के लिए व्यायाम अत्यंत आवश्यक हैं। व्यायाम करने से मनुष्य का केवल स्वास्थ्य और उसका दिमाग भी स्वस्थ रहता हैं। यही प्रत्येक बीमारी को दूर करने का सबसे अच्छा उपाय हैं। व्यायाम करने से हमें बहुत सारे फायदे होते हैं। व्यायाम हमें तंदुरुस्त और स्वस्थ रखने के लिए सबसे ज्यादा सहायता करता है। व्यायाम का महत्व हमें व्यायाम करके ही मालूम चलता है। 

Check Out: जानिए Fungus in Hindi की पूरी जानकारी

व्यायाम करने के लिए सही स्थान और समय

व्यायाम करने के लिए अत्यधिक रौशनी और स्वच्छ हवा आवश्यक है। इसलिए खुले इलाके व्यायाम करने के लिए सबसे अच्छी जगह हैं। इस स्थान में खुली हवा का बहाव होता है। व्यायाम का महत्व खुली जगह में व्यायाम करने से बढ़ जाता है। सुबह और शाम व्यायाम के लिए सबसे लाभकारी समय है। खासतौर पर सुबह का समय सबसे अनुकूल माना गया है व्यायाम करने के लिए। देर रात और दोपहर में व्यायाम करने से कोई भी फायदा नहीं होता है.

व्यायाम के प्रकार

सभी को अपनी दिनचर्या में नियम से व्यायाम करना चाहिए। हम अलग – अलग प्रकार के व्यायाम कर सकते हैं। जैसे कि सुबह-सुबह उठकर टहलना, साइकल चलाना और योग करना इत्यादि। रस्सी कूद, उठक – बैठक, लम्बी कूद, गोलाफेक यह सभी भी व्यायाम के प्रकार हैं। कुश्ती, खेल, साइकिल चलाना, और विभिन्न खेलों में भाग लेना जैसे फुटबॉल, क्रिकेट, हॉकी, टेनिस, बैडमिंटन, कबड्डी, आदि व्यायाम है। यहां तक ​​कि तैराकी, दौड़ना या लंबी दूरी तक चलना व्यायाम का हिस्सा है। इन प्रकारों से व्यायाम का महत्व और भी बढ़ जाता है।

Check Out: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: निरोगी जीवन का राज़

व्यायाम से लाभ

व्यायाम करना हमारे शरीर के लिए उतना ही जरूरी है, जितना भोजन करना या पानी पीना। नियमित व्यायाम से न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी फिट रहते हैं। नियमित रूप से व्यायाम की आदत डालना आसान काम नहीं है, लेकिन मुश्किल भी तो नहीं हैं। जानते हैं व्यायाम का महत्व में उससे होने वाले लाभ – 

  • नियमित व्यायाम करने से मांसपेशियां तो स्वस्थ रहती ही हैं, साथ ही शरीर में खून का बहाव भी बेहतर ढंग से होता है।
  • नियमित रूप से व्यायाम करने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होने के साथ ही कैलरी भी तेजी से बर्न होती है और वजन नियंत्रण में रहता है।
  • शरीर में डायबिटीज आदि जैसे रोग नहीं पनप पाते जिससे आपकी लाइफस्टाइल बेहतर बनी रहती है।
  • नियम से व्यायाम करने से रक्तचाप से जुड़ी समस्याएं कम हो जाती हैं। एक्सपर्ट बताते हैं कि जो महिलाएं रोज कसरत करती हैं, उन्हें उच्च रक्तचाप होने का खतरा 75 प्रतिशत तक कम हो जाता है।
  • व्यायाम शरीर ही नहीं बल्कि दिमाग को भी तेज रखने में उपयोगी साबित होता है। तनाव, सिर दर्द और डिप्रेशन जैसी कई समस्याओं को नियमित व्यायाम की मदद से कम या ठीक किया जा सकता है।
  • रोजाना व्यायाम करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी सामान्य किया जा सकता है। व्यायाम करने से शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा घट जाती है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। 

व्यायाम का महत्व पर निबंध  (250 शब्दों में)

इस तरह सोचना भ्रामक है कि शरीर को बनाए रखने के लिए भोजन, कपड़े और आश्रय लेना आवश्यक हैं, लेकिन यह कि सुंदर और अच्छी तरह से संतुलित शरीर और एक स्थिर दिमाग के लिए लाभ पर्याप्त हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि एक पतला शरीर और उदास दिमाग के साथ एक व्यक्ति खुशहाल जीवन जी सकता है। तन और मन की भलाई के लिए नियमित व्यायाम की आवश्यकता होती है। इस अनमोल जीवन की सुरक्षा का ध्यान रखना प्रत्येक मनुष्य का कर्तव्य है। मानसिक विकास शरीर की उचित संरचना और वृद्धि पर निर्भर करता है। बिना व्यायाम के स्वस्थ शरीर की कल्पना मुश्किल है।

परिभाषा एवं रूप

शारीरिक वृद्धि और विकास के लिए नियमित अंग चालना का दूसरा नाम व्यायाम है। उन सभी कार्यों में जिनमें शरीर के विभिन्न अंग लगातार चलते रहते हैं, जिसके कारण शरीर मजबूत होता है और यह सब कार्य ही व्यायाम है। कृषि के क्षेत्र में परिश्रम करने वाले किसान, कारखानों में विभिन्न शारीरिक गतिविधियों में लगे रहने वाले श्रमिक तथा निर्माण में कार्यरत श्रमिक रोजाना व्यायाम करते हैं। संक्षेप में, यह कहा जा सकता है कि व्यायाम शारीरिक गतिविधि में लगे रहने का एक निरंतर तरीका है।

हमें अपने शरीर को फिट रखने के लिए आज से ही अपने ऊपर देना पड़ेगा अपने शरीर को व्यायाम से इस तरह प्रतिरोधक बना देना चाहिए कि कोई रोग हमारे शरीर को छू भी न सके।

व्यायाम का महत्व पर निबंध  ( 400 शब्दों में)

इस दुनिया में लगभग प्रत्येक व्यक्ति हर समय किसी न किसी रोग से घिरा ही हुआ है और उन रोगों से बचने के लिए हर कोई व्यक्ति डॉक्टर या चिकित्सक के पास जाता है। डॉक्टर और चिकित्सक उस रोग या बीमारी को तो ठीक कर देते हैं लेकिन स्वास्थ्य को कोई भी सही नहीं करता। अपने स्वास्थ्य को बनाए रखना है तो वह रास्ता है व्यायाम। जो लोग व्यायाम और योग करते हैं वह लोग कभी भी आसानी से बीमार नहीं पड़ते हैं। रोग दुर्बल शरीर पर आक्रमण करता है और व्यायाम करने वाला व्यक्ति हमेशा तंदुरुस्त और शक्तिशाली रहता है। बीमारी या रोग से बचने का एकमात्र समाधान है व्यायाम।

प्रतिदिन व्यायाम करने शरीर को शक्ति तथा स्फूर्ति मिलती है। डॉक्टरों द्वारा दी जाने वाली दवाइयों,  विटामिन सिरप और इंजेक्शन की नौबत आएगी ही नहीं अगर हम व्यायाम को अपना लेंगे। एक बड़े चिकित्सक का कथन है कि जो डॉक्टर दवाइयों पर ज्यादा भरोसा किए बिना अपने रोगी का स्वास्थ्य सुधार दे, वही सबसे बुद्धिमान और अच्छा डॉक्टर कहलाता है। बड़े-बड़े शोधकर्ताओं का कहना है की आज के युग में मनुष्य रोगों से कम और दवाइयों के कारण ज्यादा मर रहे हैं। मनुष्य को दवाइयों से नहीं बल्कि व्यायाम और योग से अपने स्वास्थ्य को मजबूत बनाना होगा।

स्वास्थ्य से अनमोल कोई चीज नहीं है। सही प्रकार से व्यायाम करने वाले व्यक्ति का शरीर हमेशा फिट रहता है तथा मन और मुख हमेशा उर्जावान रहता है। व्यायाम करने से पाचन तंत्र भी सही प्रकार से काम करता है जिबढ़तीससे भूख भी बढ़ाता है। व्यायाम करने से व्यक्ति का तन और मन हमेशा शांत रहता है और उसके मन में सुविचार भी उत्पन्न होते हैं।सभी महापुरषों ने भी व्यायाम को जीवन का सर्वप्रथम कर्म माना है। यह व्यायाम की ही शक्ति का प्रभाव ही है की उन महान लोगों ने मनुष्य के हित और देश के विकास के लिए अपना योगदान दिया।

आप कई पुस्तकों में कई प्रकार के व्यायाम के विषय में पढ़ेंगे। वहीँ अगर आप ज्यादा दौड़-भाग वाले व्यायाम नहीं कर पाते तो आपके लिए सबसे बेहतरीन व्यायाम का तरीका है योगासन या योग अभ्यास करना। आप शुरुआत में कुछ आसान योगासन करके प्रतिदिन व्यायाम को शुरू कर सकते हैं। आप चाहें तो दौड़-भाग वाले व्यायाम भी कर सकते हैं।मनुष्य का स्वास्थ्य उसी के हाथ में है, वह चाहे तो इसे बना या बिगाड़ सकता है। नियम से व्यायाम करने से आप भी खुश रहेंगे और आपको व्यायाम करते देख और भी लोग आप से प्रेरित होंगे।

Check Out: एंग्जायटी के घरेलू उपाय

व्यायाम का महत्व पर Quotes

मनुष्य के जीवन में व्यायाम का महत्व बहुत महत्वपूर्ण है। यह ऐसा है कि जैसे शिक्षक के बिना छात्र का होना। आइए, बताते हैं आपको व्यायाम से जुड़े 10 अनमोल Quotes.

  1. “शिक्षित व्यक्ति स्वास्थ के प्रति जागरूक होता हैं और यही उसकी सफ़लता का भी मुख्य कारण होता हैं।”
  2. “स्वस्थ व्यक्ति निश्चित रूप से ख़ुश रहता हैं और जो व्यक्ति ख़ुश नही हैं वह निश्चित ही शारीरिक या मानसिक रूप से बीमार हैं।”
  3. “बीमार होने पर व्यक्ति सिर्फ स्वस्थ होना चाहता हैं और प्रयास भी करता हैं परन्तु स्वस्थ रहने पर बीमारी से बचने का प्रयास नही करता हैं।”
  4. “सुबह जल्दी उठाना मनुष्य को स्वस्थ, समृद्धि और बुद्धिमान बनाता हैं।”
  5. “स्वस्थ जीवन जीना प्रत्येक व्यक्ति का ध्येय होना चाहिए।”
  6. “स्वस्थ जीवन जीना भी एक कला हैं जो इंसान को सुखी और समृद्धि बनाता हैं।”
  7. “लक्ष्य तक पहुँचने के लिए परिश्रम करना पड़ता हैं और परिश्रम ही व्यक्ति स्वस्थ बनाता हैं।”
  8. “स्वस्थ होने का मतलब हैं आत्मा को अमृत देना और चिंता करना उसका जहर हैं।”
  9. “जो शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ है वही इस दुनिया में सबसे अमीर हैं बाक़ी तो गरीब हैं।”
  10. “अच्छा सोच और अच्छा स्वास्थ दोनों ही ईश्वर का वरदान हैं।”

FAQ

प्रश्न 1: व्यायाम कितने प्रकार?

उत्तर: व्यायाम के कुछ प्रकार
आयसोटोनिक
आयसोमट्रिक
आयसोमेट्रिक और आयसोटोनिक
एनरोबिक्स – शीघ्र व्यायाम प्रकार
एरोबिक्स – दमसांस वाले व्यायाम प्रकार
चलना
खेल

प्रश्न 2: व्यायाम का क्या महत्व है?

उत्तर: मेटाबॉलिज्म को तेज रखने में नियमित व्यायाम उपयोगी साबित होता है। नियमित रूप से व्यायाम करने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होने के साथ ही कैलरी भी तेजी से बर्न होती है और वजन नियंत्रण में रहता है।

प्रश्न 3: व्यायाम कैसे स्थान पर करना चाहिए?

उत्तर: सूरज निकलने के पहले या जल्दी उठकर व्यायाम करने की जगह सुबह 10 से 11 बजे के बीच व्यायाम करना ज्यादा फायदेमंद होता है। इस समय आपका मेटाबॉलिज्म सही होता है और आप अधि‍क सक्रिय होते हैं। अगर आप शाम को वर्कआउट करना चाहते हैं तो 3 से 5 बजे का वक्त इसके लिए सबसे बेहतर होता है।

प्रश्न 4: सुबह का व्यायाम कैसे करें?

उत्तर: पहले पेट के बल सीधा लेट जाएं और दोनों हाथों को माथे के नीचे टिकाएं। दोनों पैरों के पंजों को साथ रखें। अब माथे को सामने की ओर उठाएं और दोनों बाजुओं को कंधों के समानांतर रखें जिससे शरीर का भार बाजुओं पर पड़े। अब शरीर के अग्रभाग को बाजुओं के सहारे उठाएं।

प्रश्न 5: फिट रहने के लिए कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए?

उत्तर: सेट की शुरुआत जंपिंग जैक से की जा सकती है। वॉल सिट्स के जरिए जांघ और टांगों को फायदा पहुंचा सकते हैं। इसके साथ ही इससे शरीर का संतुलन बनाने में मदद मिलती है। खासी मेहनत वाले ये एक्‍सरसाइज आप अपनी क्षमता के अनुसार कर सकते हैं।

Source – Swami Ramdev

आशा करते हैं कि आपको हमारा व्यायाम का महत्व का यह ब्लॉग अच्छा लगा होगा। व्यायाम का महत्व ब्लॉग अपने दोस्त, जानने वालों के साथ ज्यादा-ज्यादा शेयर करें जिससे उन्हें भी व्यायाम का महत्व पता चल सके। यदि आप विदेश में पढ़ने को इच्छुक हैं, तो हमारी वेबसाइट Leverage Edu पर आज ही विजिट करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Motivational Quotes in Hindi (1)
Read More

200+ Motivational Quotes in Hindi

हिंदी मोटिवेशनल कोट्स (Motivational quotes in Hindi)  आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मजबूत करते हैं,…
Ras Hindi Grammar
Read More

मियाँ नसीरुद्दीन Class 11 : पाठ का सारांश, प्रश्न उत्तर, MCQ

मियाँ नसीरुद्दीन शब्दचित्र हम-हशमत नामक संग्रह से लिया गया है। इसमें खानदानी नानबाई मियाँ नसीरुद्दीन के व्यक्तित्व, रुचियों…