पढ़ाई में मन कैसे लगाएं?

Rating:
0
(0)
पढ़ाई में ध्यान कैसे लगायें?

कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि जब हम पढ़ाई करने बैठे हैं तो हमें नींद आने लगती है, मन भटक जाता है या फिर पढ़ाई करने की इच्छा नहीं होती। परीक्षा के समय जो  हमने पढ़ा होता है वह हम भूल जाते हैं। कोरोना वायरस के माहौल में पढ़ाई करना बहुत कठिन हो गया है क्योंकि घर बैठे बैठे हमारा पूरे दिन का रूटीन routine खराब हो चुका है। हम कितनी भी कोशिश करें पढ़ाई करने की परंतु मन ही नहीं लगता। क्या आपका पढ़ाई में कम मन लगता है?क्या परीक्षा के लिए आप अच्छे से पढ़ाई करना चाहते हो? क्या पढ़ाई करते-करते आपका मन भटक जाता है? इस ब्लॉग में हम आपको पढ़ाई में मन कैसे लगाएं इसके ट्रिक्स trick and tips टिप्स बताने वाले हैं जिससे आप एग्जाम में अच्छे से अंक के साथ पास होंगे।

जानिए विश्व के सबसे पुराने ‘जैन धर्म’ के बारे में

पढ़ाई करने का हेतु

पढ़ाई करने की हेतु की बारे में सोचे, किसी भी प्रकार की आदत को शुरू करने से पहले हमें उसके हेतु की बारे में सोचना चाहिए। मेरा हेतु क्या है ? मेरा  purpose क्या है? पढ़ाई करने के पीछे कारण क्या है ?पढ़ाई करने से मुझे क्या मिलेगा ?पढ़ाई करना क्यों जरूरी है? यह सारी बातों के बारे में हमें सोचना चाहिए। आपको सभी सवालों के जवाब मिलेंगे तो आपको पता चलेगा कि पढ़ाई नहीं करूंगा तो मैं फेल हो जाऊंगा। मुझे क्लास  topper बनना है। अगर हमें किसी भी चीज का purpose पता होता है तो हम वह काम मन लगाकर करते हैं । अंतिम में हमें सफलता जरूर मिलती है, ठीक उसी तरह अगर हम मन लगाकर पढ़ाई करेंगे तो हम जीवन में successful इंसान जरूर बनेंगे।

सूर्यकांत त्रिपाठी

रिवीजन (Revision)  करने के लिए टाइम बचा कर रखें

पढ़ाई करते समय उससे रट्टा बिल्कुल भी ना मारे, क्योंकि रट्टा मारी हुई चीज हम भूल जाते हैं। पढ़ाई करते समय हमेशा विषय subject को समझने की कोशिश करें। विषय को अच्छे से समझने के बाद उसे अपनी भाषा में लिखने की प्रैक्टिस करें। जो चीज हम  समझ कर पढ़ते हैं ,वह सीधे हमारे mind में store हो जाती है। हमेशा एग्जाम exam के पहले रिवीजन के लिए टाइम बचा कर रखें। रिवीजन करने से जो भी पढ़ा होता है वह दोबारा याद कर सकते हैं। 

पढ़ाई करते समय किसी और चीज पर ध्यान ना दें

जब हम पढ़ाई करते हैं तभी टीवी TV  या मोबाइल  Mobile का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें। एक ही समय में एक ही काम करें। पढ़ाई करते समय अगर हम टीवी या मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं तो हमारा mind disturb  डिस्टर्ब हो जाता है। जो भी पढ़ा होता है वह हम भूल जाता है। इसलिए जब भी पढ़ाई करने बैठे तभी मन हमेशा पढ़ाई में  ही होना चाहिए। 

SSC क्या है? Exams, Dates, Application and Results

एक ही दिन में एक ही विषय को बार-बार ना पढ़े

पूरे दिन में एक ही विषय को बार-बार नहीं पढ़ना चाहिए। क्योंकि अगर हम एक ही विषय को लेकर बैठे हैं तो हमें उस सब्जेक्ट पढ़ने से बोरिंग boring लगने लगता है ,आलस आने लगती है । फिर धीरे-धीरे जो पढ़ा होता है वह हम भूलने लगते हैं ,इससे हमारा mind demotivate हो जाता है। फिर हमें वहां विषय पढ़ना अच्छा नहीं लगता। इसलिए पूरे दिन में एक ही विषय को लेकर ना बैठे, एक fixed समय रखें इस दौरान वह विषय को अच्छे से मन लगाकर पढे। यह जो बात बताई गई है वह स्कूल के दौरान जब पढ़ाई होती है इसके बारे में बताई जा रही है।

एग्जाम के दौरान कुछ अलग ही बात होती है, उस वक्त जिस विषय का पेपर होता है उसी विषय को मन लगाकर पढ़े। क्योंकि दूसरे दिन उसका पेपर होता है अगर हम अगले दिन वह विषय नहीं पड़ेंगे तो एग्जाम में कैसे लिखेंगे। 

पढ़ाई करने से पहले टाइम टेबल अवश्य बनाएं

समय बहुत ही मूल्यवान है, इसलिए कभी भी समय को व्यर्थ नहीं करना चाहिए। जो समय चला जाता है वह कभी वापस नहीं आता। हर एक विद्यार्थी के जीवन में पढ़ाई करना बहुत ही आवश्यक होता है। अगर वह अच्छे से मन लगाकर पढ़ाई करेगा तो वह career मैं आगे बढ़ेगा। विद्यार्थी को समय कभी भी वेस्ट waste  नहीं करना चाहिए। जब भी वह पढ़ाई करने बैठे उससे पहले एक टाइम टेबल अवश्य बनाना चाहिए। टाइम टेबल में हर एक विषय को fixed समय देना चाहिए।  टाइम टेबल के अनुसार ही पढ़ाई करनी चाहिए। इससे हमारा समय भी व्यर्थ नहीं होता और हमारा विषय भी अच्छे से याद हो जाता है।

यह ज़रूर पढ़ें:हरिवंश राय बच्चन

पढ़ाई करते समय हमेशा नोट्स बनाएं

जब भी पढ़ाई करने बैठे तो हमेशा नोट्स साथ में बनाते जाए। बहुत सारे ऐसे विद्यार्थी होते हैं जो नोट्स नहीं बनाते, फिर अंतिम समय में जो पढ़ा होता है वह भूल जाते हैं। अगर हमने notes बनाए होते हैं तो एग्जाम के समय हमें दिक्कत नहीं आती हम आसानी से अपनी नोट्स पढ़ सकते हैं और जल्दी याद रख सकते हैं। 

पढ़ाई करते समय मोबाइल टीवी से अपना ध्यान हटाए

जब भी पढ़ाई करने बैठे तभी मोबाइल, टीवी को अपने से दूरी बनाकर रखें। जब मोबाइल पास में होता है तो बार-बार उसे देखने का मन करता है इसी कारण से हमारा मन भटक जाता है।जब पढ़ाई करने बैठे जो भी चीज आपको पढ़ाई करने में डिस्टर्ब  disturb होती है तो उससे दूरी बना कर रखें।

पढ़ाई करने के लिए सही जगह चुने

  • पढ़ाई करते समय अपने आजू-बाजू का वातावरण शांत होना चाहिए।
  • बैठने के लिए और किताब रखने के लिए एक अच्छा chair और table होना चाहिए।
  • कमरे के बाहर Do not Disturb का बोर्ड लगा दीजिए।
  • पढ़ाई करते समय अपने जरूरी चीजों को अपने पास रखें। जैसे :पेंसिल, रबड़ ,पानी , आदि। 
  • ताकि बार-बार उठने की आपको जरूरत ना पड़ें।

पूरी डाइट ले

हमेशा पौष्टिक और संतुलित आहार का सेवन करें ।अच्छा खाना खाने से आपका शरीर और मन तंदुरुस्त रहता है। अच्छे फल, सब्जियां और अनाज खाने से आपके दिमाग की शक्ति तेज होती है। कार्बोहाइड्रेट, मीठा या फैट वाली वस्तुओं से दूर रहे यह सारी चीजें खाने से आपकी शरीर को हानि पहुंचती है। साथ ही प्रतिदिन 7 से 8 घंटे जरूर नींद ले। अगर दिमाग और शरीर स्वस्थ रहता है तो हम पढ़ाई अच्छे से कर पाते हैं और पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद रख सकते हैं।

देर रात तक पढ़ाई कैसे करें

किसी भी तरह की पढ़ाई के लिए वैसे तो सुबह का समय बोला जाता है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है कि रात को पढ़ने वाले कभी भी किसी भी परीक्षा में पास नहीं हो पाते है। अगर आप रात में पढ़ने के आदि है और रात में पढ़ना सहज महसूस करते है तो आप रात में आसानी से पढ़ सकते है। नीचे दिए गए इन निदेर्शों के जरिए आप रात में बेहतर ढ़ग के पढ़ सकेंगे।

  • रात में देर तक पढ़ाई करने के लिए सबसे जरुरी ये कि आप दिन में एक बार अच्छी नीद ले सकते है इसके अलावा आप दिन में कुछ घंटे रेस्ट कर सकते है और कुछ थकान भरा काम करने से परहेज कर सकते है। इस उपायों के द्वारा आप रात में बिना डिस्टर्बेंस के ध्यान लगाकर पढ़ाई कर पाएं।
  • रात में एक वक्त ऐसा भी आता है जब आपका शरीर पूरी तरह से थक जाता है ऐसे में आपको सबसे पहले मानसिक रूप से अपने आप को मजबूत बनना होता इसके अलावा आप ज्यादा ही नीद आने पर चाय व कॉफी का सहारा लें सकते है ऐसा करने पर ज्यादा देर तक आसानी से पढ़ाई कर सकते हैं।
  • अगर आप रात में केवल स्टडी लैंप जला कर ही पढ़ाई करते हैं और बाकी रूम में अंधेरा होता है, तो इससे भी आपको नींद मेहसूस होने लगेगी। अगर संभव हो तो रूम की लाइट जलाकर पढ़ाई करें। रूम में अच्छी रोशनी होने से आलस्य का माहोल दूर होगा।
  • बेड़ पर लेटकर ना पढ़ें क्योंकि ऐसा करना नींद को आमंत्रित करता है। इसलिए हो सके तो कुर्सी-टेबल पर सही ढंग से पीठ सीधी करके ही बैठें।

पढ़ाई में मन ना लगे तो क्या करना चाहिए

  • अगर आपका पढ़ाई करने का बिल्कुल भी मन नहीं करता है तो इसका सीधा सा एक कारण यह है कि आपका दिमाग औक मन पूरी तरह से विचलित (distract) है।
  • कोशिश कीजिए कि आप क्यूँ नहीं पढ़ना चाहते है इस सवाल का जवाब अपने आप से पूछिए ताकि बेहतर तरीके से आप पढ़ाई करने में मन लगा सके।
  • पढ़ाई से ध्यान भटकने का एक मुख्य कारण सोशल मीडिय़ा साइट में ऑनलाइन रहना भी है। जब तक आप इन साइट और ऑनलाइन गेम्स से बाहर नहीं आ पाएगे तब तक आप किसी भी पढ़ाई में तन और मन से नहीं पढ़ सकेगें।
  • किसी भी चीज को बस पढ़ लेने से कुछ नहीं होता है उसे अच्छे से पढने के साथ सीखना-समझना भी ज़रूरी होता है। इससे आप पढ़ते समय बोर भी नहीं होंगे और ध्यान भी बना रहेगा।
  • लंबे समय तक पढ़ाई में अगर ध्यान लगाना है तो अनुसाशन बनाये रखना बहुत आवश्यक है। आपका मन भले ही एक तरफ से दूसरी और जाने लगे परन्तु अनुसाशन ही वो चीज है जो आपका ध्यान से पढ़ने में मदद करता है।

Self introduction in Hindi

आशा करते हैं कि आपको यह ब्लॉग पढ़ाई में मन कैसे लगाएं अच्छा लगा होगा, जितना हो सके अपने दोस्तों और बाकी सब को भी शेयर करें ताकि वह भी पढ़ाई में मन कैसे लगाएं जानकर एग्जाम में टॉप करें। हमारे Leverage Edu मैं आपको इसी प्रकार के कई सारे ब्लॉग मिलेंगे जहां आप अलग-अलग विषय की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, अगर आपको किसी भी प्रकार के प्रश्न में दिक्कत हो रही हो तो हमारे विशेषज्ञों आपकी सहायता भी करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Hindi ASL Topics
Read More

Hindi ASL Topics (Hindi Speech Topics)

ASL का पूर्ण रूप असेसमेंट ऑफ़ लिसनिंग एंड स्पीकिंग है और Hindi ASL Topics, Hindi Speech Topics सीबीएसई…