कनाडा ने परमानेंट रेजीडेंसी को एक्सटेंड करने के लिए बनाई रणनीति

1 minute read
39 views
कनाडा में परमानेंट रेजीडेंसी हुई एक्सटेंड

कनाडा सरकार ने टेम्पररी से परमानेंट रेजीडेंसी के लिए ट्रांजीशन के अवसरों का विस्तार करने के लिए एक नई रणनीति जारी की है, जो अंतरराष्ट्रीय ग्रेजुएट्स को कनाडा में रहने के लिए और अवसर प्रदान कर सकती है।

यह रणनीति मई 2022 में कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन्स के एक सदस्य द्वारा किए गए एक प्रस्ताव के बाद बनाई गई थी, जो कनाडाई सरकार को “सार्वजनिक रूप से आर्थिक इमीग्रेशन लेवल्स का विस्तार करने की योजना जारी करने के लिए कहता है, ताकि सभी स्किल लेवल्स पर वर्कर्स की परमानेंट रेजीडेंसी तक पहुंच हो सके।

इस प्रपोजल में “परमानेंट लेबर सप्लाई” को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए पांच पिलर्स शामिल हैं। विशेष रुप से प्रदर्शित पांच मुख्य बिंदु हैं: 

  1. बढ़े हुए इमीग्रेशन लेवल्स का लाभ उठाना
  2. एक्सप्रेस एंट्री में सुधार और इमीग्रेशन सिलेक्शन टूल फ्लेक्सिबिलिटी में वृद्धि
  3. परमानेंट आर्थिक इकोनॉमिक प्रोग्राम्स और पायलटों को बढ़ाना
  4. नए लोगों को आकर्षित करने और बनाए रखने के लिए कम्युनिटीज का समर्थन करना
  5. और ऑपरेशनल कैपेसिटी का निर्माण करना

तीसरा पिलर “परमानेंट आर्थिक इकोनॉमिक प्रोग्राम्स” को बेहतर बनाने के लिए नेशनल ऑक्यूपेशन क्लासि फिकेशन को अपनाने का प्रयास करता है, जिससे योग्यता का विस्तार होता है।

इंटरनेशनल पार्टनरशिप एंड कॉलेज एंड इंस्टीट्यूट कनाडा के वीपी एलेन रॉय ने The Pie news को बताया कि “हमें यह देखकर प्रसन्नता हो रही है कि Motion 44 (M-44) के लिए सरकार की प्रतिक्रिया कनाडा के इमीग्रेशन गोल्स और श्रम बाजार की जरूरतों को पूरा करने में अंतरराष्ट्रीय ग्रेजुएट्स की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर देती है। आगे भी कॉलेज और संस्थान नौकरी के लिए तैयार छात्रों को बैचलर्स करने में अपनी भूमिका निभाते रहेंगे।”

रॉय ने इमीग्रेशन प्रणाली के मॉडर्नाइजेशन और डिजिटलीकरण की दिशा में “चल रहे कमिटमेंट्स” की ओर भी इशारा किया।

रॉय ने आगे कहा कि लंबे समय तक प्रोसेसिंग, आवेदन निर्णयों के लिए प्रतिस्पर्धी सेवा स्टैंडर्ड की कमी और आम तौर पर अपारदर्शी (opaque) प्रणाली अंतरराष्ट्रीय छात्रों और शिक्षा संस्थानों के लिए अत्यधिक तनाव और चिंता पैदा कर रही है।

टोरंटो मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय छात्र एनरोलमेंट, शिक्षा और इन्क्लूज़न के प्रमुख इसहाक गार्सिया-सिटन ने The Pie को बताया कि यह सही दिशा में एक कदम है, लेकिन यह संभावना नहीं है कि हम इन के लॉन्ग टर्म प्रॉफ़िट्स को महसूस करेंगे।

इसहाक गार्सिया-सिटन ने आगे कहा कि कनाडा में महत्वपूर्ण अनुभव वाले उम्मीदवारों को आकर्षित करने और बनाए रखने के लिए M-44 का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए कम सहायक बनाता है, जिनके पास घरेलू छात्रों के रूप में कार्य अनुभव हासिल करने के समान अवसर नहीं हैं जो 20 घंटे/सप्ताह कैंपस एम्प्लॉयमेंट की ओर से काम करते हैं।

इसहाक गार्सिया-सिटन ने यह भी कहा कि 2021 CBIE इंटरनेशनल स्टूडेंट सर्वे में 10 में से 4 अंतरराष्ट्रीय छात्रों को रोजगार खोजने में महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, काम के अनुभव की कमी को काम खोजने के लिए प्राथमिक बाधा के रूप में उद्धृत (cited) किया जाता है।

इसहाक गार्सिया-सिटन यह भी कहते हैं कि संक्षेप में, टेम्पररी फॉरेन वर्कर्स और अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए आर्थिक इमीग्रेशन धाराओं का विस्तार करने की रणनीतियों को अंतरराष्ट्रीय छात्रों और नवागंतुकों (newcomers) द्वारा सामना किए जाने वाले कुछ सामाजिक एकीकरण और रोजगार बाधाओं को भी संबोधित करना चाहिए, जिसमें आवास, वित्तीय अस्थिरता और अनुभव प्राप्त करना शामिल है।

चौथे पिलर का उद्देश्य नए लोगों को “आकर्षित करने और बनाए रखने (retainment) में कम्युनिटीज का समर्थन करना है, जिससे फ्रैंकोफोन इमीग्रेशन को शामिल करने का एक बिंदु बनता है।

इसहाक गार्सिया-सिटन ने एक दस्तावेज पेश किया, जिसमें लिखा था कि कहा इसके अलावा, नगर पालिकाओं को उनकी लोकल लेबर जरूरतों को पूरा करने के लिए नए लोगों को आकर्षित करने और बनाए रखने में मदद करने के लिए एक नया म्युनिसिपल नॉमिनी प्रोग्राम विकसित किया जा रहा है। सरकार भी राज्यों और क्षेत्रों के साथ काम करना जारी रखती है, और एम्प्लॉयर्स को परमानेंट रेजीडेंसी के लिए नए रास्ते पर, प्रोविंशियल नॉमिनी प्रोग्राम (PNP) के माध्यम से काम प्रगति पर है।

PNP, कनाडा और उसके क्षेत्रों में प्रांतों को “अपनी व्यक्तिगत श्रम बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने इमीग्रेशन धाराओं को अनुकूलित (adapt) और विकसित करने के लिए फ्लेक्सिबिलिटी” देता है।

पांचवां और अंतिम पिलर क्षमता बढ़ाने और “तकनीकी सुधारों के माध्यम से इमीग्रेशन प्रणाली का मोडर्नाइज़ करना” है।

यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया ओकानागन में ग्लोबल एंगेजमेंट के निदेशक फिलिप रीचर्ट ने The Pie को बताया कि पांचों लेवल्स को देखना और प्रमुख मुद्दों को संबोधित करना बहुत अच्छा है … इस समय सबसे महत्वपूर्ण प्रोसेसिंग की रफ़्तार को बढ़ाना है।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*