Stress को कैसे कम करें, जानिए

Rating:
3.8
(4)
Stress Management in Hindi

आजकल हर दूसरा व्यक्ति Stress से पीड़ित हैं। लोग छोटी-छोटी बातो को इतना बढ़ावा देते हैं कि वो Stress Management in Hindi का रूप ले लेती है। बढ़ा हुआ तनाव हमारी Mental Health के लिए बहुत अधिक हानिकारक होता है। अगर वक्त रहते इस स्ट्रेस और anxiety को manage ना किया जाए तो इसका बुरा असर हमारी लाइफ से जुड़े हर पक्ष पर देखने को मिलता है।आज के हमारे ब्लॉग में हम stress से जुड़े सभी पहलुओं के बारे में बात करेंगे और जानेंगे कि कैसे stress को कम किया जा सकता है।हम सभी अपनी जिंदगी में तमाम मुश्किलों का सामना करते हैं और ये प्रतिदिन होता है।कई बार ऐसे हालात आते हैं जिन्हें हम चाहकर भी संभाल नहीं पाते हैं, तो कई बार उनसे निपटते हुए हमें भारी टेंशन का सामना करना पड़ता है।

हम में से कई लोग तनावों को झेलते हुए इतने आदी हो चुके हैं कि उन्हें अब stress महसूस ही नहीं होता।वे इसे जिंदगी का हिस्सा बना चुके हैं, ऐसे तनाव को यूस्ट्रेस (eustress) कहा जाता है। अगर देखा जाए तो ये तनाव आपकी परफॉरमेंस और काम करने की क्षमता पर negative असर डालता है।

Check out : Stress ko manage krne ke liye padhe yog kya hai

Stress क्या है? 

  • आज हमारे जीवन में तनाव की मात्रा और कहीं ज्यादा है लेकिन सबसे मुश्किल की बात यह है कि स्ट्रेस देने वाले हार्मोन जैसे एड्रेलिन और कॉर्टिसोल का उत्सर्जन उस वक्त और ज्यादा खतरनाक हो जाता है जब हमें उनकी जरूरत नहीं होती। 
  • तनाव जिसे प्रेशर भी कहा जाता है।अक्सर लोग इसके नेगेटिव रूप को ही देखते है, मगर सच्चाई यह भी है कि कुछ सफल इंसान जिन्होंने अपने जीवन में कुछ कर दिखाया है उनके अनुसार तनाव एक सीमा तक अच्छी चीज है और व्यक्ति के सपने को पूरा करने में इसकी आवश्यकता होती है। 
  • स्ट्रेस या तनाव होना आजकल सामान्य बात है ये तब महसूस होता है जब हमारा किसी स्थिति से निपटना मुश्किल हो जाता है। 
  • टेंशन होने पर एड्रेनालाईन (Adrenaline) हमारे पूरे शरीर में दौड़ने लगता है, दिल की धड़कन बढ़ जाती है और मानसिक और शारीरिक चेतना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। हमें पसीना आता है, सनसनी महसूस होती है और कई बार पूरे शरीर के रोएं खड़े हो जाते हैं। 
  • अगर तनाव (stress management in hindi) लंबे वक्त तक रहे तो ये हमारे इम्यून सिस्टम और हृदय को नुकसान पहुंचा सकता है। 
  • इसके अलावा बाहरी बीमारियों से निपटने की हमारी शारीरिक और मानसिक क्षमता भी प्रभावित होती है। 
  • इसका साफ मतलब है कि तनाव उस वक्त और ज्यादा खतरनाक हो जाता है जब आपको हर मिनट में करो या मरो की स्थिति से गुजरना पड़े।
  • अगर हम ये पता लगा सके कि जो हम महसूस कर रहे हैं उसका कारण क्या है? तो हम मुश्किलों से और अधिक स्मार्ट तरीके से निपट सकते हैं।
  • आगे हम stress के लक्षणों के बारे में जानेंगे। 

Check out: Stress ko kam krne ke liye padhe sandeep maheshawari ke best quotes

Stress क्यों होता है?

जीव के प्रमुख लक्षणों में से डर तथा सुरक्षा प्रमुख है। तनाव, भय तथा डर के बीच का अंतर है अर्थात जब  हम दुनिया में उपस्थित प्रत्येक प्रकार के भय तथा उससे सुरक्षा के मध्य तालमेल स्थापित करने में असफल हो जाते हैं तो तनाव उत्पन्न होता है। 

ऐसे में घबराया हुआ असुरक्षित मनुष्य सुरक्षित होने के लिए सदैव तत्पर रहता है, बेताब व बैचैन रहता है और यही मनोस्थिति तनाव (stress management in hindi) है और हमारा जटिल जीवन, सामाजिक, राजनीतिक तथा प्रशासनिक व्यवस्था संतुलन स्थापित करने में नाकामयाब रहती है वह स्थिति तनाव कहलाती है।

 हैंस – शैले के अनुसार “तनाव शब्द शारीरिक तथा वैज्ञानिक आधार पर किसी आवश्यकता की पूर्ति के लिए हार्मोन की प्रतिक्रिया है।” इन्होंने तनाव के दो प्रकार बताएं

  1. यूस्ट्रेस जो इच्छित तनाव है तथा यह खतरनाक नहीं होता बल्कि आवश्यक होता है जो व्यक्ति को अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक रखता है।
  2. दूसरा डिस्टेंस जो अनैच्छिक  होता है तथा इस पर व्यक्ति नियंत्रण नहीं रख सकता और कई परेशानियां खड़ी करता है इसे नेगेटिव स्ट्रेस (stress management in hindi) भी कहा जा सकता है।

stress dur karne ke liye padhe positive thinking ke bare me

Stress के लक्षण क्या है?

थोड़ी देर के लिए जीवन में उतार-चढ़ाव आना बहुत आम बात है लेकिन अगर ये लंबे वक्त तक बनी रहे जो ये जिंदगी से जुड़ी बाकी चीजों को भी खराब कर सकती है। तनाव इसलिए कभी नहीं होता क्योंकि आप कमजोर हैं बल्कि हमेशा इसलिए होता है कि आप उनकी मौजूदगी होने के बाद भी टेंशन को रहने दे रहे हैं और उसका विरोध नहीं कर रहे हैं।आजकल होने वाले तनाव के कुछ सामान्य कारण/लक्षण निम्नलिखित हैं। 

  • काम
  • बेरोजगारी
  • पैसा
  • अलगाव और कुछ अन्य कारणों से घर छोड़ना
  • पार्टनर से ब्रेकअप
  • नौकरी में बदलाव होना
  • बच्चों का घर छोड़ना 
  • आपका स्वास्थ्य और मूड
  • मौसम 
  • पार्टनर का निधन होना या करीब न होना
  • तलाक के कारण परिवार टूट जाना 
  • नशाखोरी और ड्रिंक करना 
  • बुरी आदतों का शिकार होना 
  • हिंसा या बुरे व्यवहार का शिकार होना । 

टेंशन से पहले होने वाले सामान्य लक्षण

  • सामान्य से ज्यादा या कम भोजन करना। 
  • तेजी से मूड बदलना। 
  • आत्मसम्मान में कमी आना। 
  • हर वक्त टेंशन या बेचैनी महसूस करना। 
  • ज्यादा या कम सोना। 
  • कमजोर याददाश्त या भूलने की समस्या। 
  • जरूरत से ज्यादा शराब या ड्रग्स लेना। 
  • जरूरत से ज्यादा थकान या ऊर्जा में कमी होना। 
  • परिवार और दोस्तों से दूर-दूर रहना। 
  • चरित्र से दूर हो जाना। 
  • ध्यान कें​द्रित न करना और काम में संघर्ष करना। 
  • उन चीजों में भी मन न लगना जो पहले आपको पसंद थीं। 
  • विचित्र अनुभव होना, उन चीजों का दिखना जो वहां हैं ही नहीं। 

Check out: Festivals of India

स्ट्रेस को दूर करने के उपाय

  • तनाव होने पर हमेशा चीजों को सकारात्मक तरीके से देखने की कोशिश करनी चाहिए । 
  • कुछ मामलों में हो सकता है कि आपको फ्रेश स्टार्ट की भी जरूरत पड़े।
  • हर कार्य में अपना उत्साह बरकरार रखे। 
  • रोजाना किसी भी कार्य को करने पर उसे सर्वश्रेष्ट तरीके से करने का भाव रखे तथा स्वयं की सोच को भी positive रखे तो कुछ हद तक आप उत्साहित रहा जा सकता है। 
  • पर्याप्त नीद व आराम मिलने से हमारा शरीर व मन दोनों स्वस्थ रहते है। समय पर नीद लेने से व्यक्ति की कार्यक्षमता तो बढ़ती ही है साथ ही तनाव में भी कमी लाने में मदद मिलती है। 
  • अपने मित्रों के साथ अच्छा व्यवहार करे तथा अच्छे लोगों के साथ दोस्ती रखना, तनाव को कम करने या समाप्त करने में सबसे अधिक मददगार हो सकता है।

UPSC ke liye best motivational quotes

तनाव के फायदे (Benefits of Stress)

जरूरी नहीं कि stress हमेशा नुकसानदायक ही हो। Stress लेने से कई लोगों के जीवन में कई तरह के परिवर्तन आये हैं, कई लोगों ने stress को positive तरीके में लेकर अपनी जिंदगी को एक मुकाम तक पहुंचाया है जिनमें मशहूर फुटबॉलर नेमार का नाम सर्वप्रथम  आता है।आइये जानते हैं stress के फायदे

  • हमारे ध्यान को लक्ष्य की तरफ फोकस करने में मदद करता है। 
  • इससे हमारे प्रयासों को पूर्णता मिलती है, तेजी आती है। 
  • साथ की कार्य की गुणवत्ता व शुद्धता में वृद्धि होती है। 
  • और अच्छा करने की प्रेरणा जागृत होती है। 
  • लक्ष्य को प्राप्त करने की सम्भावना कई गुना तक बढ़ जाती है। 
  • हमारी लक्ष्य की दिशा में विकास प्रक्रिया जारी रहती है। 

lockdown me stress ko km kare

Stress से होने वाले नुकसान

 अभी तक हमने स्ट्रेस से होने वाले फायदे के बारे में जाना आप जानते हैं कि ज्यादा तनाव लेने से कौन-कौन से नुकसान हो सकते हैं । ज्यादा तनाव लेने से होने वाले नुकसान।

  • Stress से हमारे इम्यून सिस्टम और हृदय को नुकसान पहुंच सकता है।
  • Stress से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। 
  • Stress के कारण इंसान की उम्र कम हो जाती है। खेती के चेहरे पर उम्र से पहले ही झुर्रियां आदि दिखना शुरू हो जाता है
  • सेक्स लाइफ खराब हो सकती है।
  • परिवार में लड़ाई झगड़े बढ़ जाते हैं। 
  • Stress के कारण इंसान चिड़चिड़ा हो जाता है जिसके कारण वह अपने रिश्तो में अनबन कर बैठता है और उसके रिश्ते बिगड़ते चले जाते हैं। 

मानसिक तनाव से मुक्ति के उपाय

खूब व्यायाम करें

जब भी आप मानिसक तनाव से जूझ रहे होते हैं तो हमेशा अपने आप को किसी ना किसी ऐसी एक्टिविटी में व्यस्त रखें ताकि आपको मानसिक तनाव के बारे में ध्यान ही ना जाएं। इसके लिए आप कई सारी एक्टिविटी से लेकर योगा तक का सहारा ले सकते हैं। कहा जाता है कि मानसिक तनाव से निजात पाने के लिए आप नियमित रूप से योगा कर सकते है। इसके अलावा कई सारी इनडोर और आउटडोर एक्टिविटी में भाग ले सकते हैं। योगा के साथ आप कई ऐसी मुद्रा का भी प्रयोग कर सकते है। जिनके द्वारा आपको मानसिक तनाव खत्म करने में काफी मदद मिलेगी।

दिन का टाइम टेबल बनाएं

अगर आप शरीर और मस्तिष्क को शांत रखना चाहते हैं, तो सोने से कम से कम एक घंटे पहले आराम करें। अपने स्मार्टफोन को ना ही चलाए। इसके अलावा आप गर्म पानी से ना सकते है गर्म पानी से नहाएं, किताब पढ़े, म्यूजिक सुने और ध्यान करें। मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए ये सभी आदतें बहुत प्रभावी साबित हो सकती है।

कुछ भी खाने से बचें

आधी रात के बाद निकोटीन या कॉफी जैसे उत्तेजक पदार्थों के सेवन करने से बचें, खासकर अगर आपको अनिद्रा की परेशानी है। शराब का सेवन बिलकुल नहीं करें। शराब और कॉफी आपका स्ट्रेस दूर नहीं कर सकती, इसलिए इन चीजों का परहेज करें।

कमरे के तापमान का ध्यान रखें

आपका बेड सोने के लिए आरामदायक होना चाहिए, खासकर आपका तकिया और बिस्तर नर्म हो, जिसपर आपको सुकून से नींद आ सके। इसके अलावा, कमरे का तापमान 60 और 67 डिग्री के बीच रखें। यह तापमान शरीर के लिए सबसे अच्छा है। अगर आप चाहते हैं कि आपका दिमाग बहुत हल्का महसूस करें तो आप बेडरूम में टेलीविजन न देखें।

stress ko kam krane ke liye dekhe best motivational movies

Stress Management के Tips

तनाव हर परिस्थिति में हानिकारक नहीं होता और यह भी सत्य है कि प्रत्येक व्यक्ति तनाव मुक्त रहना चाहता है। पूर्ण रूप से तनाव मुक्त रहना न तो स्वाभाविक है और न ही संभव क्योंकि ऐसी स्थिति में व्यक्ति निष्क्रिय हो जाएगा, परंतु कुछ तनाव ऐसे होते हैं जिन से बचकर रहना व्यक्ति के लिए अति हितकारी सिद्ध हो सकता है। कुछ ऐसी तकनीक या विधियां या सरल शब्दों में तरीके जिनके द्वारा तनाव से बचा जा सकता है अथवा अगर तनाव ग्रस्त हैं तो उसे कम किया जा सकता है-

  • तनाव को कम करने का सबसे अच्छा तरीका अपने समय का बेहतर प्रबंधन करना है। इसके अंतर्गत अपने दैनिक जीवन चर्या को arranged करते हुए तनाव के लिए  उत्तरदाई कार्यों को नजरअंदाज किया जा सकता है।
  • तनाव को कम करने का सबसे अच्छा तरीका अपने समय का बेहतर प्रबंधन करना है। इसके अंतर्गत अपने दैनिक जीवन चर्या को arranged करते हुए तनाव के लिए  उत्तरदाई कार्यों को नजरअंदाज किया जा सकता है।
  • तनाव को कम करने का सबसे अच्छा तरीका अपने समय का बेहतर प्रबंधन करना है। इसके अंतर्गत अपने दैनिक जीवन चर्या को arranged करते हुए तनाव के लिए  उत्तरदाई कार्यों को नजरअंदाज किया जा सकता है।
  • तनाव को कम करने का सबसे अच्छा तरीका अपने समय का बेहतर प्रबंधन करना है। इसके अंतर्गत अपने दैनिक जीवन चर्या को arranged करते हुए तनाव के लिए  उत्तरदाई कार्यों को नजरअंदाज किया जा सकता है।

उम्मीद है आपको हमारा ब्लॉग Stress Management in Hindi पसंद आया होगा और हमारे द्वारा दी गई जानकारी का उपयोग आप stress को दूर करने मे जरूर करेंगे। यह हमारा ब्लॉग Stress Management in Hindi आपको कैसा लगा, कमेंट कर जरूर बताएं यदि आपकों यहाँ दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। इसी तरह की और जानकारी के लिए हमारी साइट Leverage Edu पर बने रहे। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Motivational Quotes in Hindi (1)
Read More

200+ Motivational Quotes in Hindi

हिंदी मोटिवेशनल कोट्स (Motivational quotes in Hindi)  आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मजबूत करते हैं,…