जानिए भारत का संविधान किसने बनाया: इतिहास, रोचक तथ्य, डॉ अंबेडकर के प्रेरक विचार

1 minute read
भारत का संविधान किसने बनाया
भारत का संविधान किसने बनाया

विद्यार्थी जीवन में अक्सर विद्यार्थियों के सामने यह प्रश्न आता है कि भारत का संविधान किसने बनाया? कई प्रतियोगिताओं में भी इस प्रश्न को अलग-अलग तरह से पूछा जाता है। आज की इस पोस्ट के माध्यम से विद्यार्थियों को भारत का संविधान किसने बनाया, का सही जवाब मिलेगा। यह पोस्ट आपके सामान्य ज्ञान को बढ़ाने का काम करेगी, साथ ही भारत के संविधान से जुड़े रोचक तथ्यों को आप इस पोस्ट के माध्यम से जान पाएंगे।

भारतीय संविधान का इतिहास

भारत का संविधान किसने बनाया, का जवाब जानने के लिए आपको इसके इतिहास पर भी प्रकाश डालना चाहिए। इतिहास पर प्रकाश डाला जाए तो आप जानेंगे कि भारत के संविधान को वर्ष 1950 में अपनाया गया था। भारत का संविधान हाथों से लिखा गया एक हस्तलिखित संविधान है, जिसे दिल्ली के रहने वाले प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने इटैलिक स्टाइल में लिखा था। प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ही भारतीय संविधान के सुलेखक ( calligrapher) थे।

वर्ष 24 जनवरी, 1950 को ही भारत के 284 संसद सदस्यों ने हस्ताक्षर करके इस हस्त लिखित संविधान की मूल प्रति को अपनाया था, जो आज भारत की राजधानी नई दिल्ली के नेशनल म्यूजियम में सुरक्षित है, जिसे आज भी आम नागरिक देख सकते हैं। 448 लेखों और 12 अनुसूचियों के साथ भारत का संविधान, दुनिया के सबसे लंबे संविधानों में से एक है। भारत का संविधान सरकार की संसदीय प्रणाली के साथ देश को राज्यों के एक संघ के रूप में परिभाषित करता है।

भारतीय संविधान अपने नागरिकों को मौलिक अधिकार प्रदान करता है, जैसे भाषण और धर्म की स्वतंत्रता आदि। भारत विविधताओं वाला एक देश है, जिसमें कई भाषाओं, धर्मों और जातीय समूहों के लोग मिल-जुलकर रहते हैं। हमारा भारतीय संविधान 22 आधिकारिक भाषाओं को मान्यता देता है। भारत का संविधान, संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। इस दिन को भारत में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

संविधान सभा की ड्राफ्टिंग सभा का अध्यक्ष होने के नाते भारत का संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर को माना जाता है। इन्हें भारतीय संविधान का मुख्य वास्तुकार माना जाता है। डॉ. भीमराव अंबेडकर ने देश की अनूठी सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक विविधता को ध्यान में रखते हुए देश का मार्गदर्शन और शासन करने के लिए एक व्यापक और गतिशील ढांचा प्रदान किया।

भारतीय संविधान से जुड़े रोचक तथ्य

भारत का संविधान किसने बनाया के बारे में जानने के बाद आपको भारतीय संविधान से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में भी जान लेना चाहिए। भारतीय संविधान से जुड़े रोचक तथ्य निम्नलिखित हैं;

  • भारतीय संविधान एक हस्तलिखित संविधान है जो प्रेम बिहारी नारायण रायजादा द्वारा लिखा गया था।
  • भारतीय संविधान के मूल संस्करण को नंद लाल बोस और राम मनोहर सिन्हा सहित “शांति निकेतन” के अन्य कलाकारों द्वारा सुशोभित और सुसज्जित किया गया था।
  • भारतीय संविधान के हिंदी संस्करण का सुलेखन “वसंत कृष्णन वैद्य” द्वारा किया गया था, जिसे नंद लाल बोस द्वारा सुरुचिपूर्ण ढंग से सजाया गया था।
  • भारतीय संविधान के लिए मुख्य भूमिका निभाने वाली प्रारूप समिति का गठन 29 अगस्त 1947 को हुआ था।
  • इस समिति में डॉ. भीमराव अंबेडकर के अलावा एन. गोपालस्वामी आयंगार, अल्लादी कृष्णस्वामी अय्यर, डॉक्टर के. एम. मुंशी, सैय्यद मोहम्मद सादुल्ला, एन. माधव राव और टी. टी. कृष्णामाचारी भी शामिल थे।

संविधान पर डॉ. भीमराव अंबेडकर के विचार

भारत का संविधान किसने बनाया के बारे में जानने के बाद आपको डॉ. बी. आर. अंबेडकर के संविधान के बारे में कुछ कोट्स बहुत प्रसिद्ध हैं-

संविधान एक मात्र वकीलों का दस्तावेज नहीं। यह जीवन का एक माध्यम है।

डॉ. बी. आर. अंबेडकर
भारत का संविधान किसने बनाया

यदि मुझे लगा संविधान का दुरुपयोग किया जा रहा है, तो इसे जलानेवाला सबसे पहले मैं रहूँगा।

डॉ. बी. आर. अंबेडकर
भारत का संविधान किसने बनाया

जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते, कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है, वो आपके किसी काम की नहीं।

डॉ. बी. आर. अंबेडकर
भारत का संविधान किसने बनाया

भारत का संविधान, देश के आजाद होने से कई साल पहले से ही बनना प्रारम्‍भ हो गया था। 1928 में मोतीलाल नेहरू और आठ अन्य कांग्रेस नेताओं ने भारत के लिए एक संविधान का प्रारूप तैयार किया। 13 दिसंबर 1946 को जवाहर लाल नेहरू ने संविधान की नींव के रूप में, संविधान का एक पूरा का पूरा खाका तैयार कर दिया था।

बाबासाहेब अंबेडकर के बारे में रोचक तथ्य

Dr Bhimrao Ambedkar Biography in Hindi के बारे में रोचक तथ्य नीचे दिए गए हैं-

  1. भारत के झंडे पर अशोक चक्र लगवाने वाले डाॅ. बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर ही थे।
  2. डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर लगभग 9 भाषाओं को जानते थे।
  3. भीमराव अंबेडकर ने 21 साल की उम्र तक लगभग सभी धर्मों की पढ़ाई कर ली थी।
  4. भीमराव अंबेडकर ऐसे पहले इन्सान थे जिन्होंने अर्थशास्त्र में PhD विदेश जाकर की थी।
  5. भीमराव अंबेडकर  के पास लगभग 32 डिग्रियां थी।
  6. बाबासाहेब आजाद भारत के पहले कानून मंत्री थे।
  7. बाबासाहेब ने दो बार लोकसभा चुनाव लड़े, लेकिन दोनों बार हार गए थे।
  8. भीमराव अम्बेडकर हिन्दू महार जाति के थे, जिन्हें समाज अछूत मनाता था।

आशा है कि आपको आपके सवाल “भारत का संविधान किसने बनाया” का जवाब मिल गया होगा, साथ ही यह पोस्ट आपको इंफॉर्मेटिव लगी होगी। इसी प्रकार के इंफॉर्मेटिव ब्लॉग्स पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

2 comments