जानिए तहसीलदार बनने के लिए क्या करे

Rating:
1
(1)
IAS Kaise Bane

हमारा भारत देश बहुत बड़ा है। जो एक राज्य से जिले और एक जिले से शहर तक बांटा गया है। इन शहरों में राजस्व विभाग (Revenue Department) के काम के लिए एक तहसील बनाई गई है। पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत में, तहसीलदार को कर अधिकारी और कार्यकारी मजिस्ट्रेट (Executive Magistrate) के रूप में जाना जाता है। तहसील में उच्च अधिकारी तहसीलदार होता है। जिसके तहत एक तहसील और तहसील में काम करने वाले सभी अधिकारी आते हैं। एक तहसीलदार अपने दिन के सभी कार्यों की रिपोर्ट District Revenue Officer (DRO) को देता है। तो क्या आप भी तहसीलदार कैसे बने ये जानना चाहते है, तो चलिए जानते हैं तहसीलदार कैसे बने के बारे में।

Check Out: रेलवे परीक्षा 2021- पात्रता, परीक्षा पैटर्न, अनुसूचीऔर चयन प्रक्रिया

तहसीलदार कैसे बने

देश में अनेक राज्य हैं और प्रत्येक राज्य कई जिलों से मिलकर बना होता है। एक जिले में अनेक तहसील होते हैं और उनके अलग-अलग तहसीलदार होते है जो अपने तहसील के कार्य को देखते है। तहसीलदार किसी तहसील का प्रभारी अधिकारी होता है जिसका कार्य Revenue Collect, Record और Maintain करने के साथ ही अपने Sub-Ordinator को Guide करना और Sub Divisional Officer को Report देना है। इनके अलावा बाकि अन्य अधिकारियों के साथ बैठक करना आदि है। तहसील हमारे भारत की एक प्रशासनिक इकाई है जिनका प्रभारी तहसीलदार होता हैं। इसे अंग्रेजी में ‘Executive Magistrate’ और हिंदी में ‘कर अधिकारी’ भी कहते है। 

एक तहसील में दो Post होते है ।

1. तहसीलदार
2. नायब तहसीलदार

Check Out: सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

तहसीलदार के प्रमुख कार्य

तहसीलदार के बहुत सारे कार्य होते हैं। जो बहुत अलग-अलग प्रकार के कार्य होते है। आज के Post में हम एक तहसीलदार के उन जरूरी कार्यों के बारे यहां बता रहे है। जो इस प्रकार है:-

  • किसी भी प्रकार की फसल से संबंधित नुकसान होने पर मुआवजा तहसीलदार द्वारा प्रबंधित किया जाता है।
  • जाति प्रमाण पत्र निवास प्रमाण पत्र आय प्रमाण पत्र आदि ऐसे प्रमाण पत्र पर है तहसीलदार के हस्ताक्षर के बाद ही मान्य होता है।
  • किसानों को भूमि संबंधित परेशानी न हो इसे सुरक्षित करना।
  • भूमि अभिलेखों से संबंधित अलग-अलग प्रकार के कार्य
  • पटवारी द्वारा किए जाने वाले कार्यों का पर्यवेक्षण करना भी एक तहसीलदार का कार्य होता है।
  • भूमि से संबंधित विवाद व किसानों से संबंधित विवादों को सुनना व उनका निवारण करना भी तहसीलदार के कार्य के अंतर्गत आता है।
  • एक तहसीलदार के इन सभी कार्यों के अलावा भी बहुत सारे कार्य होते है तथा इन्हें कई प्रकार की Authority भी प्राप्त होती है, जिनका तहसीलदार समय-समय पर आवश्यकतानुसार उपयोग करता है।

Check Out : SSC क्या है? Exams, Dates, Application and Results

तहसीलदार के लिए Educational Qualification

दोस्तों अगर तहसीलदार के Post हेतु हम Educational Qualification की बात करें तो इसके लिए Educational Qualification Graduation माना गया है। अगर आप भी इस पद के लिए Apply करना चाहते हैं तो आपको किसी मान्यता प्राप्त University/Collage से Graduate होना अनिवार्य है। यदि आप पहले से ही Graduate अथवा Post Graduate Complete कर चुके हैं तो आप बड़ी ही आसानी से इस Post के लिए Apply कर सकते है। ध्यान रहे नायब तहसीलदार को उस क्षेत्र की Local Language में अच्छी पकड़ भी होनी चाहिए।

नायब तहसीलदार कैसे बने हेतु आवश्यक टिप्स      

  • नायब तहसीलदार बननें हेतु सबसे पहले अपने लक्ष्य को निर्धारित करें, अर्थात लक्ष्य निर्धारित करनें के उपरांत उसमें परिवर्तन ना करें।
  • नायब तहसीलदार की परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करनें हेतु समय –सारिणी बनायें तथा सभी कार्य समय- सारिणी के अनुसार करनें का प्रयास करें, प्रारंभ में आपको कठिनाई होनें की संभावना है, परन्तु कुछ दिनों तक निरंतर समय से कार्य करनें पर आपको समय से कार्य करना का अभ्यास हो जायेगा।
  • परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें हेतु पिछले वर्षो के पुराने पेपरों को हल करनें का प्रयास करें, इससे आपको परीक्षा में पूछें जाने वाले पैटर्न के बारें में जानकारी प्राप्त होगी।
  • नायब तहसीलदार की परीक्षा में आपसे कुछ प्रश्न सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर से सम्बंधित पूछे जाते है,इसलिए आपको प्रतिदिन अख़बार, न्यूज़, प्रतियोगी परीक्षाओं पर प्रकाशित होने वाली मैगज़ीन का अध्ययन करना आवश्यक है।
  • वर्तमान समय में इन्टरनेट का उपयोग सबसे अधिक किया जा रहा है, आप इन्टरनेट की सहायता से प्रतिदिन की लेटेस्ट करंट अफेयर्स, तथा वर्तमान में घटित होनें वाली घटनाओं के बारें में जानकारी प्राप्त कर सकते है, जो परीक्षा की दृष्टिकोण से अत्यंत आवश्यक है।

Check Out: NTPC Previous Year Paper

तहसीलदार बनने के लिए Age Limits

तहसीलदार के Post हेतु Candidates की Age Limits न्यूनतम 21 वर्ष व अधिकतम 42 वर्ष तक होनी चाहिए। इसके साथ ही ST , SC , OBC , एवं General Category के लिए अलग-अलग Age Limits निर्धारित की गई है। वह नियम के अनुसार जो भी SC , ST, एवं OBC Category के Candidates है उन सभी को उम्र में छूट देने का भी प्रावधान है।

तहसीलदार की Salary

दोस्तों, ये तो हम सभी जानते हैं कि जब भी हम किसी ऐसे क्षेत्र में जाने के बारे में अपने Career बनाने के बारे में सोचते हैं तो उस क्षेत्र के Salary Package को जरूर Check करते हैं। जहां तक तहसीलदार के Post की Salary Package की बात करें तो इस Post के लिए चुने गए Candidates को अच्छा खासा Salary Package प्राप्त होता है। इस Post पर नियुक्ति किए जाने पर ₹9,300 से ₹34,800 रुपए तक की Salary दि जाती है। इसके साथ ही उन्हें सरकार के द्वारा और भी बहुत सी अन्य Facilities दी जाती है जैसे कि वाहन की सुविधा, घर, आदि की Facilities दी जाती है। 

पदोन्नति (Promotion)

नायब तहसीलदार के पद पर नियुक्त होने वाले अभ्यर्थियों को पदोन्नति के उपरांत तहसीलदार का पद मिलता है।तहसीलदार के पद पर नियुक्ति पाने वाले अभ्यर्थियों को सम्बंधित राज्य के पदोन्नति नियमों के अनुसार पदोन्नति के उपरांत Sub- Divisional Magistrate (SDM) या District Revenue Officer (DRO) के पद पर पदोन्नति मिल सकती है।

Check Out : 135+ Common Interview Questions in Hindi

Selection Procedure

अब तक हमने आपको तहसीलदार के इस Post से संबंधित अन्य सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को साझा किया है। अब हम आपको इस Post की Selection Procedure के बारे में जानकारी देंगे। तहसीलदार की इस Post को पाने के लिए आपको कुछ परीक्षाएं देनी होती है जिसके लिए आपको 3 चरण से होकर जाना पड़ता है। जैसे ही आप इन सभी चरणों को सफलतापूर्वक Pass कर लेते है उसके बाद ही किसी तहसील के तहसीलदार बन सकते हैं।

  1. जांच परीक्षा (Prelims Exam)
  2. मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  3. Interview

1. जांच परीक्षा – इस Post के लिए Apply करने के बाद आपको सबसे पहले जिस चरण से गुजरना पड़ता है वो है इस Post हेतु होने वाली जांच परीक्षा । तहसीलदार बनने के लिए आपको सबसे पहले जांच परीक्षा को उत्तीर्ण करना होता है। यदि आप इसे सफलतापूर्वक Pass होते हैं तो ही आपको मुख्य परीक्षा के लिए चुना जाएगा।

2. मुख्य परीक्षा – पहले चरण को सफलतापूर्वक Pass करने के बाद ही आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। यह परीक्षा पहले परीक्षा के अपेक्षा कुछ मायनों में थोड़ा ज्यादा कठिन माना जाता है। इस परिक्षा के लिए आपको जानकारी के साथ साथ धैर्य रखने के साथ ही सही मार्गदर्शन की भी आवश्यकता होती है। इस परिक्षा को Pass करने के बाद ही आपको साक्षात्कार यानि कि Interview के लिए बुलाया जाता है। 

3. जब आप पहले चरण की जांच परीक्षा और दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा को सफलतापूर्वक Pass कर लेते है और आपका नाम सफल Candidates की List में जिनका Selection Interview के लिए हुआ है मे घोषित होता है, सिर्फ वही Candidate Interview में भाग ले सकता है। इसके बाद Candidate को Interview के लिए बुलाया जाता है। वहां उपस्थित अधिकारीयों के द्वारा Candidates के Interview लिए जाते है और Candidates किस तरह से उन सभी सवालों का उत्तर देता है, इसके आधार पर उन्हें सफल घोषित किया जाता है। इन तीन चरणों को सफलतापूर्वक Pass करने के बाद ही आपको इस तहसीलदार Post में नियुक्ति प्रदान की जाती है।

Check Out : पशु चिकित्सक कैसे बने

तहसीलदार बनने की EXAM की तैयारी कैसे करें?

  1. यदि आप तहसीलदार ऑफिसर के कैरियर में अपना किस्मत आजमा रहे हैं तो उस लक्ष को अच्छी तरह से तय करे ।
  2. तहसीलदार के परीक्षा में सफलता पाना चाहते हैं तो सबसे पहले अपना टाईम टेबल बनाएं , और आप टाइम टेबल के हिसाब से अपना परीक्षा की तैयारी करें । इससे आपकी पढ़ाई अच्छी तरह से होगी ।
  3. आप न्यूज पेपर खूब पढ़ें , और न्यूज पेपर में दिए गए प्रश्नों कोख़ूब याद करें । इससे परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं यह आसानी से पता चल जायेगा । साथ ही पेपरों को पढ़ने के साथ साथ कटिंग करके रखते जाइए और साथ मे प्रश्नों को हल करते जाइए ।
  4. तहसीलदार के परीक्षा में आपसे कुछ सामान्य ज्ञान (General knowledge) करेंट अफेयर (current affair) से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं । तहसीलदार के परीक्षा के लिए आपको अखबार हमेशा पढ़ना चाहिए ताकि नई नई चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त होता रहें।

Check Out : Singer Kaise Bane (सिंगर कैसे बने)

तहसीलदार बनने हेतु कुछ महत्वपूर्ण Tips

तहसीलदार बनने के लिए कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है जिसमें आप अपने तहसीलदार बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं यह इस प्रकार है:

  1. पहले अपने Target को स्थिर करें।
  2. तहसीलदार परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत और Planning के हिसाब से तैयारी करें।
  3. परीक्षा की जरूरत को समझें और General Knowledge और Current Affairs पर ध्यान दें।
  4. सभी विषयों की जानकारी तथा सभी विषयों पर ध्यान देना।
  5. Latest Technology का उपयोग करना सीखना।

आशा करते हैं कि आपको तहसीलदार कैसे बने का ब्लॉग अच्छा लगा होगा। हमारे Leverage Edu में आपको ऐसे कई प्रकार के ब्लॉग मिलेंगे जहां आप अलग-अलग विषय की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

3 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like