जानिए किस आधार पर किए जाते हैं वाक्यों में भेद?

1 minute read
3.2K views
10 shares
vakya bhed

वाक्यों की अगर बात की जाए तो दो या दो से अधिक पदों के सार्थक समूह को, जिसका पूरा अर्थ निकलता है, उसे वाक्य कहते हैं। वाक्य तो हम सभी बोलते हैं लेकिन क्या आपको वाक्यों के भेदों के बारे में पता है ? Vakya bhed class 10 में पूछे जाने वाला एक महत्वपूर्ण विषय है। वाक्य भेद के बारे में विस्तार से जान्ने के लिए इस ब्लॉग को आगे पढ़ें।

ये भी पढ़ें : हिंदी व्याकरण – Leverage Edu के साथ संपूर्ण हिंदी व्याकरण सीखें

वाक्य क्या है?

दो या दो से अधिक पदों के सार्थक समूह को, जिसका पूरा पूरा अर्थ निकलता है, वाक्य कहते हैं।
उदाहरण : ‘सत्य कड़वा होता है ।’ एक वाक्य है क्योंकि, इसका पूरा पूरा अर्थ निकलता है किन्तु ‘सत्य होता कड़वा’ वाक्य नहीं है क्योंकि , इसका अर्थ नहीं निकलता है।

वाक्य में उद्देश्य क्या है?

वाक्य मे प्रयुक्त कर्ता (जो कार्य कर रहा है ) उसे उद्देश्य कहा जायेगा । 

  • साथ ही कर्ता का विस्तारक या विशेषण हो तो उसे भी हम उद्देश्य मे रखेंगे।
  • जैसा कि हम जानते है कर्ता एक कारक है, वह संज्ञा या सर्वनाम होता है उसी के संबंध मे अगर कुछ और कहा जाये तो वह कर्ता का विस्तारक कहलाता है।
  •  कर्ता की विशेषता बताई जाये तो विशेषण कहलाता है।
  • साथ ही हम यह भी कह सकते है कि विधेय जिसके लिये आये वही कर्ता है वही उद्देश्य है।

वाक्य भेद लिस्ट

वाक्य भेद कई प्रकार के होते है। जैसे-

(क) रचना की दृष्टि से वाक्य के तीन भेद होते हैं—

  1. सरल वाक्य
  2. मिश्र वाक्य
  3. संयुक्त वाक्य

(ख) अर्थ की दृष्टि से वाक्य के आठ भेद होते हैं

  1. विधिवाचक
  2. निषेधवाचक
  3. आज्ञावाचक
  4. प्रश्नवाचक
  5. विस्मयवाचक
  6. सन्देहवाचक
  7. इच्छावाचक
  8. संकेतवाचक

रचना की दृष्टि से वाक्य भेद

रचना की दृष्टि से वाक्य तीन प्रकार के होते हैं :

सरल वाक्य

सरल वाक्य वह जिसमें एक ही क्रिया होती है और एक उद्देश्य होता है और एक विधेय। इनमें एक-एक उद्देश्य अर्थात् कर्ता और विधेय अर्थात् क्रिया होती है। इसीलिए इन्हें सरल वाक्य कहा जाता है।
 जैसे-

  •  बादल बरसता है।
  •  राम खाता है।

मिश्र वाक्य

मिश्र वाक्य उसे कहते जिसमें एक सरल वाक्य के अतिरिक्त उसके अधीन कोई अन्य अंग वाक्य हो। 
जैसे- वह कौन-सा भारतीय है जिसने महात्मा गाँधी का नाम न सुना हो। 
इस वाक्य में ‘वह कौन-सा भारतीय है’ मुख्य वाक्य है। दूसरा अंग वाक्य है जो मुख्य वाक्य पर आश्रित है।

संयुक्त वाक्य

संयुक्त वाक्य वह है जिसमें सरल या मिश्र वाक्यों का मेल संयोजक अव्ययों द्वारा होता हो । वस्तुतः इसमें दो या दो से अधिक सरल या मिश्र वाक्य अव्ययों द्वारा संयुक्त होते हैं। जैसे- मैं स्कूल जा रहा था कि पानी बरसने लगा और पानी इतना तेज़ बरसा कि मुझे एक पेड़ के पास रुकना पड़ा। राम आया और श्याम चला गया। इनमें पहला मिश्र वाक्यों तथा दूसरा सरल वाक्यों को मिलाकर संयुक्त वाक्य बना है।

सरल वाक्य को मिश्र वाक्य में बदलना

सरल वाक्य मिश्र वाक्य
राधा नाचती-गाती है।  जो नाचती-गाती है , वह राधा है।
मोहन हँसकर बोला।    वह मोहन है जो हँसकर बोला। 
तुम पढ़कर सो जाना। जब तुम पढ़ लेना तब सो जाना।
बादल घिरते ही मोर नाचने लगा।    जैसे ही बादल घिरे , मोर नाचने लगा।
प्रथम आते ही खेलने लगे।      प्रथम जैसे ही आया वह , खेलने लगा।
सूरज के निकलते ही फूल खिल उठे। सूरज निकला  औरफूल खिल उठे।
अभि तथा दीपक खेल-कूद रहे हैं।    जो खेल एवं कूद रहे हैं,वे अभि तथा दीपक हैं।
सूरज पढ़-लिखकर अधिकारी बना।     जैसे ही सूरज पढ़-लिखा,वह अधिकारी बन गया।
अभिषेक थैला लेकर चला गया।   अभिषेक तब चला गया जब उसने थैला लिया।

ये भी पढ़ें :150 पर्यायवाची शब्द

कर्ता और क्रिया के आधार पर वाक्य भेद

कर्ता और क्रिया के आधार पर वाक्य के दो भेद होते हैं।

  • उद्देश्य
  • विधेय

जिसके बारे में बात की जाय उसे उद्देश्य कहते हैं और जो बात की जाए उसे विधेय कहते हैं।

उदहारण के लिए –
*विनीत जयपुर में रहता हैं।
इसमें उद्देश्य हैं -विनीत
और विधेय हैं – जयपुर में रहता हैं।

अर्थ की दृष्टि से वाक्य भेद

अर्थ की दृष्टि से Vakya Bhed Class 10 में 8 प्रकार के होते हैं:

(1) विधिवाचक वाक्य: जिससे किसी बात के होने का बोध होता है।
जैसे: 

  • राम खा चुका।
  • मैंने कहानी पढ़ी और सो गया।

(2) निषेधवाचक वाक्य: जिससे किसी बात के न होने का बोध होता है।
जैसे: 

  • मैंने पुस्तक नहीं पढ़ी!
  • राम बैंक नहीं गया और उसे रुपया नहीं मिला।

(3) आज्ञावाचक वाक्य: जिस वाक्य से किसी तरह की आज्ञा का बोध हो, उसे आज्ञावाचक कहते हैं।
जैसे:

  • तुम काम करो?
  • तुम लिखो।

(4) प्रश्नवाचक वाक्य: जिस वाक्य से प्रश्न किए जाने का बोध हो, उसे प्रश्नवाचक कहते हैं।
जैसे:

  • तुम कहाँ जा रहे हो?
  • तुम क्या कर रहे हो?

(5) विस्मयवाचक वाक्य: जिस वाक्य से आश्चर्य, दुख अथवा सुख का बोध होता है।
जैसे

  • हाय ! मैं लुट गया !
  • ओह! बड़ा जुल्म हुआ।
  • शाबाश! बहुत अच्छे।

(6) सन्देहवाचक वाक्य : जिस वाक्य से किसी बात के सन्देह का बोध होता है।
जैसे:

  • उसने देखा होगा।
  • मैंने कहा होगा ।

(7) इच्छावाचक वाक्य: जिस वाक्य से किसी प्रकार की इच्छा या शुभकामना का बोध होता है।
जैसे: –

  • तुम्हारा मंगल हो ।
  • भगवान करे सब सकुशल वापस आए।
  • आज मैं सिर्फ खिचड़ी खाऊगा।

(8) संकेतवाचक वाक्य : जिसमें एक वाक्य दूसरे वाक्य की संभावना पर निर्भर करता है।
जैसे:

  • यदि तुम चलो तो मैं भी चलूँ।
  • डॉक्टर न आता तो वह मर जाता।

ये भी पढ़ें : अनुस्वार इन हिन्दी

आश्रित वाक्य में वाक्य भेद

आश्रित वाक्य 3 प्रकार के होते हैं, जैसे-

  • संज्ञा उपवाक्य
  • विशेषण उपवाक्य
  • क्रिया – विशेषण उपवाक्य

१ संज्ञा उपवाक्य
जब आश्रित उपवाक्य किसी संज्ञा अथवा सर्वनाम के स्थान पर आता हैं तब वह संज्ञा उपवाक्य कहलाता हैं।
जैसे –
*वो चाहता था कि मैं वहाँ कभी न जाऊँ।
वहाँ कि मैं कभी न जाऊँ
ये संज्ञा उपवाक्य हैं।

२ विशेषण उपवाक्य
जो आश्रित उपवाक्य मुख़्य उपवाक्य की संज्ञा शब्द अथवा सर्वनाम शब्द की विशेषता बतलाता हैं वह विशेषण उपवाक्य कहलाता हैं।
जैसे –
*जो किताब वहाँ रखी हैं वह मुझे पुरस्कार स्वरूप मिली हैं।
यहाँ जो किताब वहाँ रखी हैं यह विशेषण उपवाक्य हैं

३ क्रिया -विशेषण उपवाक्य
जब आश्रित उपवाक्य प्रधान उपवाक्य की क्रिया की विशेषता बतलाता हैं तब वह क्रिया -विशेषण उपवाक्य कहलाता हैं।
*जब वो मेरे पास आयी तब मैं नींद में थी।
यहाँ पर जब वह मेरे पास आयी यह क्रिया -विशेषण उपवाक्य हैं।

पदबंध के भेद या प्रकार

  • संज्ञा पदबंध
  • सर्वनाम पदबंध
  • क्रिया पदबंध
  • विशेषण पदबंध
  • क्रिया विशेषण पदबंध
  • संबंधबोधक पदबंध
  • समुच्चयबोधक पदबंध
  • विस्मयादि बोधक पदबंध।

वाक्य भेद कक्षा 10 PPT & PDF

MCQ

1. रचना के आधार पर वाक्य के कितने भेद हैं?
(अ) चार 
(ब) तीन
(स) पाँच
 (द) दो

उत्तर: (ब) तीन

2. ’मैं इतना मीठा चाय नहीं पी सकता’ इस वाक्य में दोष है-
(अ) अन्विति का
(ब) पदक्रम का
(स) क्रिया का
 (द) सर्वनाम का

उत्तर: (अ) अन्विति का

3. ’पद’ की परिभाषा क्या है?
(अ) पद शब्द के प्रारंभ में लगते हैं
(ब) वाक्य में प्रयुक्त शब्द पद कहलाते हैं
(स) पद उपसर्ग होते हैं
(द) विदेशी शब्द पद कहलाते हैं

उत्तर: (ब) वाक्य में प्रयुक्त शब्द पद कहलाते हैं

4. निम्नलिखित वाक्य में विधेय कौन-सा है?
’इस कक्षा का सर्वश्रेष्ठ धावक धर्मेन्द्र प्रतियोगिता में भाग लेगा’
(अ) इस कक्षा का सर्वश्रेष्ठ धावक
(ब) धमेन्द्र
(स) सर्वश्रेष्ठ धावक धर्मेन्द्र
(द) प्रतियोगिता में भाग लेगा

उत्तर: (द) प्रतियोगिता में भाग लेगा

5. ’’समाचार पत्र में अनोखी घटना छपी है’’, इस वाक्य में विधेय क्या है? सही विकल्प पर निशान लगाएँ?
(अ) घटना छपी है 
(ब) पत्र में
(स) अनोखी घटना छपी है
 (द) में छपी है

उत्तर: (स) अनोखी घटना छपी है

6. निम्नलिखित वाक्य का अर्थ की दृष्टि से प्रकार बताइए-
’वर्षा होती, तो फसल अच्छी होती’
(अ) इच्छावाचक वाक्य 
(ब) संदेहवाचक वाक्य
(स) संकेतवाचक वाक्य 
 (द) प्रश्नवाचक वाक्य

उत्तर: (स) संकेतवाचक वाक्य

7. निम्न में से मिश्र वाक्य का चयन कीजिए-
(अ) रोहन आम खा रहा है
(ब) वह पंडित है, किन्तु हठी है
(स) आकाश में बादल गरजते है
(द) वह कौन-सा व्यक्ति है, जिसने महात्मा गाँधी का नाम न सुना हो

उत्तर: (द) वह कौन-सा व्यक्ति है, जिसने महात्मा गाँधी का नाम न सुना हो

8. निम्नलिखित वाक्य का संदेह वाक्य में रूपान्तरण क्या होगा?
’मनीषा दसवीं में पढ़ती है’
(अ) मनीषा दसवीं, में नहीं पढ़ती है।
(ब) मनीषा दसवीं में पढ़ती होगी।
(स) क्या मनीषा दसवीं में पढ़ती है?
(द) काश! मनीषा दसवीं में पढ़ती।

उत्तर: (ब) मनीषा दसवीं में पढ़ती होगी।

9. ’जब तक वह घर पहुँचा तब तक उसके पिताजी जा चुके थे।’ वाक्य है-
(अ) सरल वाक्य 
(ब) संयुक्त वाक्य
(स) मिश्र वाक्य 
 (द) इनमें से कोई नहीं

उत्तर: (स) मिश्र वाक्य

10. किशन भी परीक्षा में उत्तीर्ण होगा और हरि भी क्योंकि दोनों बहुत पढ़ते हैं, वाक्य है-
(अ) मिश्र-संयुक्त 
(ब) मिश्र-मिश्र
(स) संयुक्त-मिश्र
 (द) केवल मिश्र

उत्तर: (स) संयुक्त-मिश्र

11. निम्नलिखित मिश्र वाक्यों में से कौन-सा विशेषण उपवाक्य है?
(अ) मैं कहता हूँ कि तुम भोपाल जाओ
(ब) लखनऊ, जो उत्तरप्रदेश की राजधानी है, एक ऐतिहासिक नगर है
(स) जब मैं स्टेशन पहुँचा, तभी ट्रेन आयी
(द) मैं चाहता हूँ कि आप यहीं रहें

उत्तर: (ब) लखनऊ, जो उत्तरप्रदेश की राजधानी है, एक ऐतिहासिक नगर है

12. सरल वाक्य का प्रारूप नहीं है-
(अ) अकर्मक
 (ब) सकर्मक
(स) कर्तृपूरक 
(द) प्रेरणार्थक

उत्तर: (स) कर्तृपूरक 

13. जिन वाक्य में सामान्य रूप से किसी कार्य के होने या करने का बोध होता है, उसे क्या कहते हैं?
(अ) निषेधार्थक वाक्य
 (ब) विधानार्थक वाक्य
(स) आज्ञार्थक वाक्य 
(द) संकेतार्थक वाक्य

उत्तर: (ब) विधानार्थक वाक्य

14. निम्न में से सरल वाक्य का चयन कीजिए-
(अ) उसने कहा कि कार्यालय बंद हो गया
(ब) सुबह हुई और वह आ गया
(स) राहुल धीरे-धीरे लिखता है
(द) जो बङे है, उन्हें सम्मान दो

उत्तर: (स) राहुल धीरे-धीरे लिखता है

15. ’गुरुजन का सम्मान करना सीखो’ किस प्रकार का वाक्य है?
(अ) आज्ञार्थक
 (ब) संकेतवाचक
(स) संदेहवाचक 
(द) इच्छार्थक

उत्तर: (अ) आज्ञार्थक

16. कौन-सा मिश्र वाक्य है?
(अ) राहुल पढ़ रहा है
(ब) सुरेश नदी में डूबने लगा
(स) मैंने सुना है कि सुरैया ने निकाह कर लिया है
(द) वह आया, थोङी देर बैठा और तुरन्त लौट गया

उत्तर: (स) मैंने सुना है कि सुरैया ने निकाह कर लिया है

17. यदि हम गवाही दे दें तो काम न बन जाए’ किस प्रकार का वाक्य है?
(अ) इच्छावाचक
 (ब) संकेतवाचक
(स) संदेहवाचक 
(द) आज्ञार्थक

उत्तर: (ब) संकेतवाचक

18. ’मोहन घर से लौटकर कहने लगा कि उसका मन नहीं लग रहा है’- इस वाक्य में रेखांकित पदबंध है-
(अ) संज्ञा पदबंध
(ब) क्रिया पदबंध
(स) क्रिया विशेषण पदबंध
(द) समुच्चय बोधक पदबंध

उत्तर: (स) क्रिया विशेषण पदबंध

19. ’भगवान करे तुम्हारी नौकरी लग जाए’ यह किस प्रकार का वाक्य है?
(अ) इच्छावाचक
 (ब) प्रश्नवाचक
(स) संकेतवाचक 
द) विधानार्थक

उत्तर: (अ) इच्छावाचक

20. ’झूठ मत बोलो’ यह किस प्रकार का वाक्य है?
(अ) प्रश्नवाचक
 (ब) नकारात्मक
(स) निषेधवाचक  
(द) विधिवाचक

उत्तर: (स) निषेधवाचक  

वाक्य भेद कक्षा 10 Worksheet

FAQs

वाक्य क्या है?

दो या दो से अधिक पदों के सार्थक समूह को, जिसका पूरा पूरा अर्थ निकलता है, वाक्य कहते हैं।

संयुक्त वाक्य क्या है?

संयुक्त वाक्य वह है जिसमें सरल या मिश्र वाक्यों का मेल संयोजक अव्ययों द्वारा होता हो। वस्तुतः इसमें दो या दो से अधिक सरल या मिश्र वाक्य अव्ययों द्वारा संयुक्त होते हैं।

मिश्र वाक्य क्या है?

मिश्र वाक्य उसे कहते जिसमें एक सरल वाक्य के अतिरिक्त उसके अधीन कोई अन्य अंग वाक्य हो।

आश्रित वाक्य के कितने प्रकार होते हैं?

आश्रित वाक्य 3 प्रकार के होते हैं: संज्ञा उपवाक्य, विशेषण उपवाक्य और क्रिया – विशेषण उपवाक्य।

आशा करते हैं कि आपको vakya bhed class 10 की परीक्षा में आपको पूरे अंक दिलाएंगे। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert