Paudha ka Bahuvachan | पौधा का बहुवचन क्या है – इसके साथ जानिए अन्य महत्वपूर्ण बहुवचन

1 minute read
Paudha ka Bahuvachan

पौधा का बहुवचन पौधे होता है। पौधा का बहुवचन छोटी कक्षा से लेकर प्रतियोगी परीक्षा में भी पूछा जाता है। संज्ञा के जिस रुप से किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, पदार्थ आदि के एक से अधिक होने का बोध होता है या पता चलता है उसे बहुवचन कहते हैं। इस ब्लॉग में आप Paudha  ka Bahuvachan, प्रैक्टिस के लिए क्विज और अन्य महत्वपूर्ण शब्दों के बहुवचन की लिस्ट पायेंगें। 

Paudha ka Bahuvachan क्या होता है?

पौधा का बहुवचन पौधे

वचन किसे कहते है?

संज्ञा के जिस रूप से किसी व्यक्ति वस्तु के एक से अधिक होने का या एक होने का पता चलता है उसे वचन कहते हैं। वचन दो प्रकार के होते हैं : 

  1. एकवचन 
  2. बहुवचन 

पौधा के बहुवचन पर क्विज

1. निम्नलिखित में से पौधा का बहुवचन क्या है?

a) पौधा
b) पौधे
c) कोई नहीं

उत्तर- b) पौधे

2. पौधा कौनसा वचन है?

a) एकवचन
b) बहुवचन
c) इनमें से कोई नहीं

उत्तर- a) एकवचन

3. पौधे कौनसा वचन है?

a) एकवचन
b) बहुवचन
c) इनमें से कोई नहीं

उत्तर-b) बहुवचन

अन्य महत्वपूर्ण शब्दों के बहुवचन 

अक्सर पूछे जानें वाले वचन की लिस्ट नीचे दी गई है : 

एकवचन बहुवचन
नीति नीतियाँ
नारी नारियाँ
नदी नदियाँ
टोपी टोपियाँ
सखी सखियाँ
कविता कविताएँ
लता लताएँ
आशा आशाएँ
पत्रिका पत्रिकाएँ
माता माताएँ
कामना कामनाएँ
कथा कथाएँ
बात बातें
रात रातें
आँख आँखें
सड़क सड़कें
गाय गायें
पुस्तक पुस्तकें
चप्पल चप्पलें
झील झीलें
किताब किताबें
रिश्ता रिश्ते
कली कलियाँ
कलम कलमें
लड़की लड़कियाँ
लड़का लड़के
कहानी कहानियाँ
कथा कथाएँ
कविता कविताएँ
मैदान मैदान
गुड़िया गुड़ियाँ
गति गतियाँ
शाखा शाखाएँ
विद्या विद्याएँ
गऊ गउएँ
खिड़की खिड़कियाँ
पत्रिका पत्रिकाएँ
घोड़ा घोड़े
गधा गधे
साइकिल साइकिलें
पपीता पपीते
लठिया लुठियाँ
घड़ी घड़ियाँ
दीवार दीवारें
विद्यार्थी विद्यार्थीगण
महल महल
लुटिया लुटियाँ
नाली नालियाँ
सपेरा सपेरे

संबंधित आर्टिकल

समिति का बहुवचन राजा का बहुवचन
चिड़िया का बहुवचन घोड़ा का बहुवचन
साधू का बहुवचन नीति का बहुवचन
मछली का बहुवचन गुड़िया का बहुवचन

उम्मीद है, पौधा का बहुवचन (Paudha  ka Bahuvachan) के बारे में आप जान गए होंगे। अन्य शब्दों के बहुवचन जानने के लिए Leverage Edu के साथ बनें रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*