Media Convergence in Hindi : जानिए मीडिया अभिसरण क्या है और इसके प्रकार, लाभ

1 minute read
Media Convergence in Hindi

अब किसी काम को सभी के साथ प्रदर्शित करने, महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपनी राय व्यक्त करने और ग्लोबल लेवल पर नॉलेज और इन्फॉर्मेशन को फैलाने के कई प्लेटफॉर्म मौजूद है, इन्हीं माध्यमों को मीडिया कन्वर्जेन्स कहा जाता है। वर्तमान समय में टेक्नोलॉजी और मीडिया के आगमन के साथ ही दुनिया भर में कम्युनिकेशन का अत्यधिक विकास हुआ है। यह अत्यधिक डिजिटलीकरण और इंटरनेट के व्यापक उपयोग के कारण उभरा है। 

आज दुनिया भर में इंडस्ट्रीज और ऑर्गेनाइजेशन व अन्य सेक्टरों ने अपने कार्यों के तरीको को नई कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के माध्यम से बदला है। इसके अलावा बेहतर कामकाज और विकास के लिए कई तरह के मीडिया का आपस में जुड़ाव हुआ है। जिसके कारण ई- कॉमर्स इंडस्ट्री में भी बहुत डेवलपमेंट हुआ है। इस ब्लॉग में हम Media convergence in hindi के माध्यम से मीडिया कन्वर्जेन्स की विशेषताएं, उदाहरणों, और इसके लाभ के बारे में विस्तार से जानेंगे।  

Media Convergence क्या है?

मीडिया कन्वर्जेंस का तात्पर्य पारंपरिक मीडिया, प्रिंट मीडिया, ब्रॉडकास्ट मीडिया, न्यू मीडिया और इंटरनेट के साथ-साथ डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से पोर्टेबल और अत्यधिक इंटरैक्टिव तकनीकों जैसे विभिन्न प्रकार के मास मीडिया के विलय से है। इसका परिणाम 3Cs, यानी कम्युनिकेशन, कंप्यूटिंग और कॉन्टेंट के संयोजन से होता है क्योंकि तीनों को टेक्नोलॉजी के माध्यम से एकीकृत किया जाता है। मीडिया कन्वर्जेंस का सबसे रेलीवेंट एक्साम्प्ल एक स्मार्टफोन है जो डिफरेंट मीडिया, यानी प्रिंट मीडिया (ई-बुक्स, न्यूज़ ऐप), ब्रॉडकास्ट मीडिया (स्ट्रीमिंग वेबसाइट, रेडियो, म्यूजिक ऐप) के साथ-साथ न्यू मीडिया (इंटरनेट) को एक साथ मिलाता है। सिंगल डिवाइस जो कॉलिंग और टेक्स्ट मैसेज से लेकर फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, गेमिंग और बहुत कुछ करने के लिए विभिन्न कार्य करता है।

Media Convergence के प्रकार?

मीडिया कन्वर्जेंस माध्यम से आज कोई इन्फॉर्मेशन प्राप्त करना हो या किसी कार्य को करना हो सभी कुछ मीडिया कन्वर्जेन्स के जुड़ाव से आसान बन गया है। यहां मीडिया कन्वर्जेन्स के कुछ प्रमुख उदाहरण दिए जा रहे हैं, जिन्हें आप नीचे दिए गए बिंदुओं में देख सकते हैं :

  • स्मार्टफ़ोन (कैमरा, म्यूजिक, इंटरनेट, किताबें, और अन्य सभी मीडिया को एक साथ मिलाकर मीडिया कन्वर्जेन्स बना है)
  • ऑनलाइन रेडियो (रेडियो को इंटरनेट से जोड़ना)
  • ई-बुक्स (डिजिटल टेक्नोलॉजी के साथ पेपरबैक में कन्वर्ट करना)
  • न्यूज़ वेबसाइटें और अन्य ऐप्स
  • ई-कॉमर्स के टैक्स्ट, ग्राफिक, डेटा, इमेज, वीडियो, एनीमेशन आदि को डिजिटल रूप में कन्वर्ट करना। 

Media Convergence के लाभ

मीडिया कन्वर्जेंस आज के आधुनिक और डिजिटल युग में लोगों के लिए बहुत उपयोगी साबित हुआ है जो लगातार हमारा ध्यान आकर्षित करने वाले कंटेंट से भरा हुआ है। यहां मीडिया कन्वर्जेंस के कुछ बेनिफिट्स के बारे में बताया जा रहा हैं, जिन्हें आप नीचे दिए गए बिंदुओं में देख सकते हैं :

  • आज न्यूज़ और मूमेंट बेस्ड कंटेंट हमें तत्काल उपलब्ध हो जाता है जिसे हम कही भी आसानी से देख सकते है। यह ट्रेडिशनल मीडिया और न्यू मीडिया के बीच मीडिया कन्वर्जेंस के उपयोगी लाभों में से एक है। 
  • ट्रेडिशनल मीडिया और न्यू मीडिया के बीच मीडिया कन्वर्जेंस के साथ, डिजिटल मार्केटिंग की लागत भी किफायती हो गई है, जिससे यह प्रक्रिया बहुत लाभदायक और सस्ती हो गई है।
  • अब कंटेंट प्रोडूसर्स विशेष रूप से उन दर्शकों या समूह को टारगेट कर सकते हैं जिन्हें वे अपना कस्टमाइज्ड कंटेंट पब्लिश करके टारगेट करना चाहते है। 
  • मीडिया के कन्वर्जेंस से दर्शक भी आज स्वयं कंटेंट प्रोडूसर्स बन गए हैं। जहां वह सोशल मीडिया पोस्ट, वीडियो और मीम्स के माध्यम से वैश्विक स्तर पर दर्शकों को एक साथ जोड़ने के लिए मीडिया कन्वर्जेंस वास्तव में फायदेमंद साबित हुआ है।
  • मीडिया कन्वर्जेंस का एक अन्य महत्वपूर्ण लाभ यह है कि इसने न्यू मीडिया के साथ सम्मिश्रण करके ट्रेडिशनल मीडिया की सीमाओं को व्यापक बना दिया है, इस प्रकार हमें आज इंटरनेशनल लेवल पर तत्काल और लेटेस्ट कंटेंट कुछ क्षणों में ही उपलब्ध हो जाता है।

Media Convergence के प्रकार

मीडिया कन्वर्जेंस एक ऐसा विस्तृत शब्द है जिसे टेक्नोलॉजी, इंडस्ट्रीज, सामाजिक और पॉलिटिकल टर्म में परिभाषित किया जा सकता है। मीडिया कन्वर्जेन्स के कुछ प्रमुख प्रकारों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया हैं:-

टेक्नोलॉजिकल कन्वर्जेंस 

टेक्नोलॉजी कन्वर्ज़न्स एक ऐसा शब्द है जो अब्स्ट्रक्शन की लेयर्स का वर्णन करता है जो विभिन्न टेक्नोलॉजी को कन्वर्सेजस सिस्टम के रूप में कुशलता से इंटरऑपरेट करने में सक्षम बनाता है। यह तब होता है जब नई टेक्नोलॉजी बनाई जाती हैं और पिछली टेक्नोलॉजी से अपडेटेड होती हैं और उसी कार्य को अधिक कुशल तरीके से करती हैं। टेक्नोलॉजी कन्वर्ज़न्स कंप्यूटिंग, कम्युनिकेशन और नेटवर्क वाले डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म के आसपास की कंटेंट का कॉम्बिनेशन है। इसका उद्देश्य मौजूदा मीडिया को टेक्नोलॉजी के डिजिटल रूप में परिवर्तित करना है, उदाहरण के लिए, ऑनलाइन बुक्स देखना (ई-बुक्स और किंडल)। 

टेक्नोलॉजी कन्वर्जेंस तब होता है जब नई टेक्नोलॉजी बनाई जाती हैं जो पिछली टेक्नोलॉजी से हमेशा नई फीचर्स के साथ अपग्रेडेड होती है और वही कार्य करती है लेकिन अधिक अपग्रेडेड माध्यम से, उदाहरण के लिए लोग रेडियो का उपयोग करके न्यूज़ और म्यूजिक सुनने के लिए करते थे लेकिन अब टेक्नोलॉजी कन्वर्ज़न्स के माध्यम से अधिकतर लोग स्मार्टफोन का उपयोग न्यूज़ और म्यूजिक के लिए करते हैं। टेक्नोलॉजी कन्वर्ज़न्स वह प्रवृत्ति है जो टेक्नोलॉजी के रूप में  समान कार्य करने की दिशा में विकसित होती है।

इकोनॉमिक कन्वर्जेंस

इकोनॉमिक कन्वर्जेंस की सामान्य परिभाषा की तरह जो बताती है कि कम जीडीपी वाले देश उच्च जीडीपी वाले देशों की तुलना में तेजी से बढ़ने वाले हैं। इकोनॉमिक मीडिया कन्वर्जेंस एक कंपनी को विभिन्न प्रकार की मीडिया के माध्यम से बड़े टारगेट ग्रुप्स को टारगेट करने की अनुमति देता है।

इकोनॉमिक कन्वर्जेंस में बड़ी कंपनियाँ माल या उत्पाद के राइट्स को बेचकर अपने लाभ के लिए पुराने और न्यू मीडिया का उपयोग करती हैं। इसका एक उदहारण इस प्रकार भी दिया जा सकता है कि सोनी, AOL, टाइम वार्नर जैसी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्रीज़ जो अब फिल्म, टीवी किताबें, गेम और इंटरनेट, संगीत रियल एस्टेट आदि में भी कार्य कर रही हैं।

कल्चरल कनवर्जेंस 

मीडिया कनवर्जेंस की यह अवधारणा तब होती है जब दो या दो से अधिक कल्चरल  एक-दूसरे के लक्षणों को अपनाती हैं। आज संस्कृतियों के बीच बढ़ती समानताएं कंज्यूमर, ब्रांडों और मीडिया के तक ही सीमित नहीं हैं।

Media Convergence की आवश्यकता

वर्तमान समय में मीडिया कन्वर्जेंस कंटेंट, कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजीज़ और कंप्यूटर नेटवर्क को एक साथ जोड़ने का कार्य करता है जिससे कई एस्टाब्लिशड इंडस्ट्रीज, ऑर्गनइजेशन व अन्य सर्विसेज के साथ-साथ तत्काल परिवर्तन होता है और इन सबके माध्यम से कंटेंट के नए रूप डेवलप होते हैं। यहां मीडिया कन्वर्जेंस की आवश्यकता के बारे में नीचे दिए गए बिंदुओं में बताया जा रहा हैं :

  • यह कम्युनिकेशन, न्यूज़ रिपोर्टिंग और जर्नलिज्म के तरीकों में बदलाव लाता है। जिससे इन क्षेत्रों का अधिक डेवलपमेंट होता है। उदाहरण के लिए, मीडिया जर्नलिज्म।
  • मीडिया कन्वर्जेंस ने क्रॉस-मीडिया के क्षेत्र में भी महत्व्पूर्ण भूमिका अदा की है  क्योंकि अब भारी मात्रा में कंटेंट को पोर्टेबल उपकरणों के माध्यम से एक्सेस किया जा रहा है। उदाहरण के लिए, समाचार संगठन अब केवल प्रिंट या AV प्रसारण पर निर्भर नहीं रहते हैं।
  • मीडिया कन्वर्जेंस के विकास से कई नए मीडिया फॉर्म स्थापित हुए हैं जैसे न्यूज पोर्टल, पॉडकास्ट, न्यूज फीड, ब्लॉगिंग, वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन आदि।
  • नए कन्वर्ज  मीडिया प्लेटफॉर्म आर्चीवड तक ऑनलाइन कनेक्टिविटी से आसानी से जुड़ सकते है और उपयोगकर्ताओं को कंटेंट पर टिप्पणी करने या रिलेवेंट मटेरियल के लिंक उपलब्ध कराने  के कई अवसर प्रदान करते हैं।

3Cs Media Convergence क्या है?

मीडिया कन्वर्जेंस के 3Cs कंप्यूटिंग एक कम्युनिकेशन और कंटेंट हैं। जिसमें मीडिया कन्वर्जेंस कंप्यूटिंग, कम्युनिकेशन और कंटेंट  के इन 3Cs को एकजुट करने का कार्य  करता है और यह इंटरनेट के डिजिटलीकरण और प्रमोशन का एक तत्काल परिणाम है। इसे और भी आसान शब्दों में कहें तो कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी और कंप्यूटर नेटवर्क के साथ कंटेंट का कन्वर्जेंस  मीडिया कन्वर्जेंस  की दिशा की ओर ले जाता है।

Media Convergence के क्षेत्र में करियर स्कोप 

मीडिया कन्वर्जेंस को मोटे तौर पर डिजिटल एनवायरनमेंट में कंप्यूटिंग, टेलीकम्युनिकेशन और मीडिया के एक साथ आने के रूप में जाना जाता है। 1978 में, कन्वर्जेंस शब्द पहली बार ‘निकोलस नेग्रोपोंटे’ द्वारा गढ़ा गया था, जिसमें कहा गया था कि टेक्नोलॉजी, सोशल मीडिया और इंटरनेट के कॉम्बिनेशन में आधुनिक उपकरण मीडिया में कन्वर्जेंस की मूल संरचना बनाते हैं। यह ‘3Cs’ यानी कम्युनिकेशन, कंप्यूटिंग और कंटेंट को एक साथ लाता है जो मीडिया कंटेंट के डिजिटलीकरण और इंटरनेट के उच्च उपयोग का प्रत्यक्ष परिणाम है।

अब यदि आप मीडिया के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए इच्छुक हैं और मीडिया से संबंधित डिग्री प्राप्त की है, तो आप निम्नलिखित क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते हैं :

  • एडिटर
  • रिपोर्टर 
  • ट्रैवल जर्नलिज्म
  • कालम्निस्ट
  • कॉरस्पान्डन्ट 
  • फ्रीलांस राइटर 
  • फोटो जर्नलिस्ट 
  • प्रूफ़रीडर 
  • न्यूज़ एनालिस्ट 
  • क्रिटिक 
  • कार्टूनिस्ट्स 
  • इलस्ट्रेटर

टॉप रिक्रूटर्स

यहां कुछ प्रमुख मीडिया कन्वर्जेंस के क्षेत्र में करियर बनाने वाले युवाओं के लिए टॉप रिक्रूटर्स की सूची नीचे दी जा रही हैं :

  • न्यूज़ एजेंसी 
  • प्रिंट मीडिया 
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया 
  • न्यूज़ एप्प्स 
  • पॉडकास्ट प्लेटफॉर्म 
  • ट्रेवल्स एजेंसी 

Media Convergence की जॉब प्रोफाइल और सैलरी

यहां कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी के बारे में नीचे दी गई टेबल में बताया जा रहा हैं-

जॉब प्रोफाइल्स औसतन सालाना सैलरी (INR)
एडिटर 3 लाख से 10 लाख
रिपोर्टर  3 लाख से 9.5  लाख
कालम्निस्ट 3 लाख से 7.5 लाख
कार्टूनिस्ट्स  3 लाख से 7 लाख
फोटो जर्नलिस्ट 3 लाख से 7.5 लाख

FAQs

मीडिया कन्वर्जेंस क्या है?

सूचना से संबन्धित सभी टेक्नोलॉजी का सम्मिलन व इन सभी का एकीकृत प्रयोग मीडिया कन्वर्जेंस कहलाता है ।

मीडिया कन्वर्जेंस क्या है यह समाज को कैसे प्रभावित करता है?

यह 3Cs -कंप्यूटिंग, संचार और सामग्री को एक साथ लाता है – और यह मीडिया सामग्री के डिजिटलीकरण और इंटरनेट की लोकप्रियता का प्रत्यक्ष परिणाम है। मीडिया कन्वर्जेंस स्थापित इंडस्ट्रीज, सेवाओं और कार्य प्रणालियों को बदल देता है और यह कंटेंट को पूरी तरह से नए रूपों को उभरने में सक्षम बनाता है।

मीडिया कन्वर्जेंस के उदाहरण क्या है?

मीडिया कन्वर्जेंस वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा कार्यों और संसाधनों को साझा करने के लिए पहले की विशिष्ट टेक्नोलॉजी आती हैं । एक सेल फोन जो तस्वीरें और वीडियो भी लेता है, डिजिटल फोटोग्राफी, डिजिटल वीडियो और सेलुलर टेलीफोन टेक्नोलॉजी के  कन्वर्जेंस का एक उदाहरण है।

मीडिया कन्वर्जेंस के प्रकार क्या है?

मीडिया कन्वर्जेंस के तीन प्रकार इस प्रकार हैं :
टेक्नोलॉजिकल कन्वर्जेंस
इकोनॉमिक कन्वर्जेंस 
कल्चरल कनवर्जेंस

आशा है आपको media convergence in hindi पर आधारित जानिए media convergence in hindi क्या है और प्रकार?  का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यह ब्लॉग अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। ऐसे ही अन्य रोचक, ज्ञानवर्धक और आकर्षक ब्लॉग पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*