लिंग: परिभाषा, अर्थ, पहचान भेद और उदाहरण

1 minute read
5.2K views
Ling Badlo

हिंदी व्याकरण में लिंग बहुत महत्वपूर्ण हैI जिस संज्ञा शब्द से व्यक्ति की जाति का पता चलता है उसे लिंग कहते हैं। इससे यह पता चलता है की वह पुरुष जाति का है या स्त्री जाति का है। उदाहरण के लिए : पुरुष जाति में = मोहन, लड़का, शेर, घोड़ा, दरवाजा, पंखा, कुत्ता, पिता, भाई आदि। और स्त्री जाति में = मोहिनी, लड़की, शेरनी, घोड़ी, कैची, अलमारी, माता, बहन आदी। तो चलिए देखते हैं लिंग के भेद और उदाहरण।

लिंग की परिभाषा

लिंग का तात्पर्य ऐसे प्रावधानों से जिसके द्वारा वक्ता के स्त्री, पुरूष तथा ​निर्जीव और सजीव अवस्था के अनुसार परिवर्तन होते हैं। विश्व में लगभग एक चौथाई भाषाओं  किसी ना किसी प्रकार  की ‘लिंग’ व्यवस्था है। अर्थात “संज्ञा के जिस रूप से व्यक्ति या वस्तु की नर या मादा जाति का बोध हो, उसे व्याकरण में ‘लिंग’ कहते हैं। दूसरे शब्दों में- संज्ञा शब्दों के जिस रूप से उसके पुरुष या स्त्री जाति होने का पता चलता है, उसे लिंग कहते हैं। सरल शब्दों में- शब्द की जाति को ‘लिंग’ कहते हैं।

लिंग का अर्थ

लिंग का  शाब्दिक अर्थ है— निशान के साथ पहचान का साधन, शब्द के जिस रूप से यह जाना जाय कि वर्णित वस्तु या व्यक्ति पुरूष् जाति का है, या स्त्री जाति का,उसे लिंग कहते है।

लिंग संज्ञा का गुण है,अत: हर संज्ञा शब्द या तो पुल्लिंग होगा या स्त्री लिंग।
लिंग के द्वारा संज्ञा, सर्वनाम,विशेषण आदि शब्दों की जाति का बोध होता है ।

जिसमें संज्ञा के दो रूपों को बताया गया हैं।

एक,  प्राणिवाचक संज्ञा- घोड़ा-घोड़ी, माता-पिता, लड़का-लड़की इत्यादि।
दूसरा,अप्राणिवाचक संज्ञा– गिलास, प्याली, पेड़, पत्ता इत्यादि।

लिंग के भेद

लिंग के मुख्यतः तीन भेद होते हैं-

  • पुल्लिंग (पुरुष जाति)
  • स्त्रीलिंग (स्त्री जाति)
  • नपुंसकलिंग (जड़)

पुल्लिंग: वे संज्ञा शब्द जो हमें पुरुष जाति का बोध कराते हैं, वे शब्द पुल्लिंग शब्द कहलाते हैं। जैसे :

  • सजीव : घोडा, कुत्ता, गधा, आदमी, लड़का,  आदि।
  • निर्जीव : गमला, दुःख, मकान, नाटक, लोहा, फूल आदि।

कुछ पुल्लिंग शब्द एवं उनका वाक्य में प्रयोग:

यहाँ लिंग में पुल्लिंग शब्द के कुछ उदाहरण हैं I

  • इंधन : इंधन जलाने से प्रदुषण होता है।
  • घाव : तीर लगने से घाव हो गया है।
  • घी : हमें चावल के साथ घी खाना चाहिए।
  • अकाल : हमारे यहाँ हर साल अकाल पड़ता है।
  • आँसू : मेरी आँखों से आंसू आ रहे हैं।
  • रुमाल : मेरा रुमाल मैंने तुम्हे दे दिया था।
  • आइना : आइना आज साफ़ नज़र आ रहा है।
  • स्वास्थ : तुम्हारा स्वास्थ ठीक रहना चाहिए।
  • क्रोध : क्रोध करना हमारे स्वास्थ के लिए हानिकारक है।
  • होश : उस लड़की को देखते ही मेरे ओश उड़ गए।
  • तीर : मुझे हवा में तीर चलाना आता है।
  • दाग : स्याही लगने से मेरी सफ़ेद कमीज़ पर नीला दाग हो गया।

स्त्रीलिंग: ऐसे संज्ञा शब्द जो हमें स्त्री जाति का बोध कराते हैं, वे शब्द स्त्रीलिंग शब्द कहलाते हैं। जैसे: 

  • सजीव : लड़की, बकरी, माता, बंदरिया, गाय, मुर्गी, लोमड़ी, बहन, लक्ष्मी, नारी, शेरनी, घोड़ी आदि।
  • निर्जीव : सूई, कुर्सी, मेज, शाखा, यमुना, झोंपड़ी, तलवार, ढाल, रोटी, टोपी, दारु, बालू, रात, आदि।

कुछ स्त्रीलिंग शब्द एवं उनका वाक्य में प्रयोग 

  • तबियत : तुम्हारी तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही है।
  • कमर : उस दिन से मेरी कमर दुःख रही है।
  • खबर : मुझे यह खबर बहुत देरी से मिली।
  • खोज : कोलंबस ने अमेरिका की खोज  की थी।
  • घूस : हमें किसी भी अधिकारी को घूस नहीं देनी चाहिए।
  • चील : मुझे आकाश में चील उडती हुई दिखाई दे रही है।
  • किताब : किताब हमारी सबसे अच्छी दोस्त होती हैं।
  • उम्र : मेरी उम्र बढती जा रही है।
  • ईंट : दीवार में ईंट सबसे महत्वपूर्ण होती है।
  • धूप : आज सुनहरी धुप खिल रही है।
  • चमक : तुम्हारी वह चमक अब नहीं रही।
  • गर्दन : मैं तुम्हारी गर्दन मरोड़ दूंगा।

परिवर्तन

लिंग परिवर्तन लिंग की अवधारणा का एक महत्वपूर्ण पहलू है I जब स्त्रीलिंग को पुल्लिंग में या पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में बदला जाता है, तो हम इसे लिंग परिवर्तन कहते हैं।लिंग परिवर्तन के कुछ उदाहरण

  • लेखक: लेखिका
  • विद्वान्: विदुषी
  • महान: महती
  • साधु: साध्वी
  • पंडित: पण्डिताइन
  • हाथी: हथिनी
  • सेठ: सेठानी
  • स्वामी: स्वामिनी
  • दास: दासी
  • माली: मालिन
  • लुहार: लुहारिन
  • तपस्वी: तपस्विनी

FAQs

लिंग की परिभाषा क्या है?

लिंग का तात्पर्य ऐसे प्रावधानों से जिसके द्वारा वक्ता के स्त्री, पुरूष तथा ​निर्जीव और सजीव अवस्था के अनुसार परिवर्तन होते हैं।

लिंग के भेद क्या हैं?

पुल्लिंग (पुरुष जाति), स्त्रीलिंग (स्त्री जाति), नपुंसकलिंग (जड़)।

संज्ञा के कितने रूप हैं?

प्राणिवाचक संज्ञा, अप्राणिवाचक संज्ञा।

इस ब्लॉग से आपको लिंग इसकी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप भी विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स से 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करने के लिए हमें 1800 572 000 पर कॉल करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

6 comments
  1. sir aap ne shabd ki jankari bahut hi achse di hai aur sir aap ka blog mughe bahut ache se samagh aata hai es liye mai aap ke sabhi post ko ache se padhta hu aur apne social media accounts se share krta hu

    1. हमारे लेख को सराहने और शेयर करने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार। आप हमारी वेबसाइट पर बनें रहें और ऐसे ही आकर्षक ब्लॉग पढ़ते रहें दिए लिंक के द्वारा: https://leverageedu.com/blog/hi/

  2. अच्छी जानकारी मिली बहुत बहुत आभार

    1. आपका शुक्रिया, ऐसे ही आप हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

  3. अच्छी जानकारी जो इस समय ज्यादा समीचीन महसूस हुई।

    1. आपका शुक्रिया, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

  1. sir aap ne shabd ki jankari bahut hi achse di hai aur sir aap ka blog mughe bahut ache se samagh aata hai es liye mai aap ke sabhi post ko ache se padhta hu aur apne social media accounts se share krta hu

    1. हमारे लेख को सराहने और शेयर करने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार। आप हमारी वेबसाइट पर बनें रहें और ऐसे ही आकर्षक ब्लॉग पढ़ते रहें दिए लिंक के द्वारा: https://leverageedu.com/blog/hi/

  2. अच्छी जानकारी मिली बहुत बहुत आभार

    1. आपका शुक्रिया, ऐसे ही आप हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert