वास्तु के हिसाब से जानिए किस जगह पर पढ़ाई करना होता है बेहतर!

वास्तु शास्त्र की मानें तो उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा में मुंह करके पढ़ना चाहिए। इससे सकारात्मक ऊर्जा मिलने की मान्यता है। 

वास्तु शास्त्र के अनुसार पढ़ाई करने वाली जगह पर सूर्य और हवा की उपस्थिति होनी चाहिए। 

उगते हुए सूर्य की रोशनी में पढ़ना बहुत अच्छा माना जाता है। इसलिए कहा जाता है कि सुबह 4 बजे से 8 बजे तक समय पढ़ाई के अच्छा है।