Technical Support Manager कैसे बनें? जानिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

1 minute read
42 views
Technical Support Manager

वर्तमान समय में आज हर कार्य टेक्नोलॉजी की सहायता से आसानी से किया जा सकता है। आज कोई सरकारी संस्थान हो या निजी कंपनियां हर जगह टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर की आवश्यकता जरूर होती हैं। जो किसी भी संगठन में आईटी, इंजीनियरिंग और कर्मचारियों के कार्यों में तकनीकी सेवाओं की देखभाल का संचालन करने का कार्य करते हैं। टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर का कार्य यह भी सुनिश्चित करना होता है कि संस्थान या किसी कंपनी में सभी कार्य निर्धारित समय, लिमिटेड बजट और कस्टमर की सेवाओं के अनुसार पुरे हो जाएं। टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर का एक प्रमुख कार्य यह मॉनिटिरिंग करना भी होता है कि किसी ऑर्गेनाइजेशन में किन चीजों की आवश्यकता पड़ सकती है और जरुरत पड़ने पर उन्हें पुरा करने की जिम्मेदारी भी टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर की ही होती हैं। वे किसी भी ऑर्गेनाइजेशन में एक बेहतर प्रक्रिया, नीतियों को डिजाइन करने और उन्हें लागू करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर की नौकरी आज के समय में कुछ इंपोर्टेंट करियर ऑप्शन्स में से एक बन गई है। हम इस ब्लॉग में Technical Support Manager बनने की पूरी जानकारी उपलब्ध करा रहें हैं। ताकि इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाले सभी कैंडिडेट्स को पूरी जानकरी मिल सके। 

This Blog Includes:
  1. टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर किन्हें कहते हैं?
  2. टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर का कार्य क्या होता हैं?
  3. टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आवश्यक स्किल्स
  4. Technical Support Manager बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड
  5. टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए कोर्सेज
  6. Technical Support Manager की स्टडी के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटी
  7. भारत की टॉप यूनिवर्सिटी
  8. टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए योग्यता
  9. एप्लीकेशन प्रोसेस 
    1. विदेश में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस कैसे करें?
    2. विदेश में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज
    3. भारतीय विश्वविद्यालयों में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस 
    4. भारत में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज 
  10. एंट्रेंस एग्जाम
  11. एग्जाम के लिए बेस्ट बुक्स
  12. टॉप रिक्रूटर्स
  13. FAQs 

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर किन्हें कहते हैं?

किसी भी ऑर्गेनाइजेशन को सुचारु रूप से चलाने के लिए टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर की आवश्यकता जरूर होती है। जो संगठन में आईटी, इंजीनियरिंग और कर्मचारियों के कार्यों में तकनीकी सेवाओं की देखभाल का संचालन करने का कार्य करते हैं, उन्हें टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर के नाम से जाना जाता हैं। 

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर का कार्य क्या होता हैं?

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर संगठन या फिर निजी संस्थान में कर्मचारियों और उनके ग्राहकों की जरूरतों को कुशलता से पूरा करने में सहयोग करते हैं। ताकि किसी भी कार्य में कोई रूकावट न आए। वह ऑर्गेनाइजेशन में नई टेक्नोलॉजी और सेवाओं को आवश्कयता पड़ने पर बदलने की सलाह भी देते हैं। इनका कार्य संगठन के टॉप मेनेजमेंट को टेक्निकल और संगठन से संबंधित सेवाओं के बारे में रिपोर्ट करना भी होता है। वे कभी-कभी संगठन के व्यक्तियों के साथ रोजाना मैनेजमेंट के कार्यों और समन्वय में भी सहयोग करते हैं। वे सुनिश्चित करते हैं कि किसी भी प्रोजेक्ट या डिपार्टमेंट्स के लक्ष्यों को निर्धारित समय पर पूरा किया जा सकें। यहां कुछ प्रमुख कार्यों की सूची नीचे दी गई टेबल में दी जा रही है:-

  • टेक्निकल सपोर्ट टीम के सभी सदस्यों को कार्य से संबंधित दिशा निर्देश देना। 
  • सभी प्रस्तावों और समाधानों में टेक्निकल सपोर्ट के लिए एक मॉडल की रिपोर्ट बनाना। 
  • सॉफ़्टवेयर और हार्डवेयर समस्याओं को ठीक करना। 
  • समस्या की जड़ को शीघ्रता से समझने के लिए ग्राहकों से लक्षित प्रश्न पूछें
  • किसी भी संगठन की टेक्निकल समस्या के रुट को समझकर उसे कंपनी के सदस्यों और ग्राहकों के लिए जल्द सुलझाना। 

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आवश्यक स्किल्स

यहां Technical Support Manager  बनने के लिए कुछ जरुरी स्किल्स के बारे में बताया जा रहा है, जिन्हें आप नीचे दिए गए कुछ इम्पोर्टेंट पॉइंट्स में देख सकते हैं:-

  • कम्युनिकेशन स्किल
  • समस्या को हल करने की स्किल
  • ऑब्जर्वेशनल स्किल
  • इन्नोवेटिव आइडिया
  • लीडरशिप
  • टाइम मैनेजमेंट
  • एनालिटिकल स्किल
  • मार्केटिंग स्किल्स
  • नेगोशिएटिंग स्किल

Technical Support Manager बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

यहां टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए कुछ प्रमुख चरणों के बारे में बताया जा रहा हैं:-

  • स्टेप 1: साइंस स्ट्रीम से 12वीं कम्प्लीट करें। 
  • स्टेप 2: बीएससी या बी.टेक की डिग्री प्राप्त करें। 
  • स्टेप 3: इंटर्नशिप या पार्ट टाइम वर्क करें। 
  • स्टेप 4: मास्टर्स डिग्री करें।
  • स्टेप 5: वर्क एक्सपीरियंस प्राप्त करें।
  • स्टेप 6: अगर आप इस क्षेत्र में अनुसंधान करना चाहते हैं तो आप phD की डिग्री लें सकते हैं। 
  • स्टेप 7: CV/रिज्यूमे बनाएं।

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए कोर्सेज

यहां Technical Support Manager से संबंधित कोर्सेज की डिटेल्स दी जा रही है, जिन्हें करके आप एक टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में जा सकते हैं:-

  1. Bachelor of computer application
  2. Masters of computer application
  3. Bachelor of engineering
  4. Bachelor of information technology 
  5. BTech in computer science 
  6. MTech in computer science 
  7. Masters of engineering
  8. Doctor of Philosophy

Technical Support Manager की स्टडी के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटी

यहां हमने Technical Support Manager बनने के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटी की लिस्ट दी है, जिनसे आप अपनी टेक्निकल सपोर्ट की पढ़ाई कर सकते हैं:-

भारत की टॉप यूनिवर्सिटी

स्टूडेंट्स जो Technical Support Manager की पढ़ाई अपने देश में करना चाहते है, उनके लिए भारत की कुछ प्रमुख यूनिवर्सिटी की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • जामिया मिलिया इस्लामिया 
  • जवाहारलाल नेहरू यूनिवर्सिटी 
  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी 
  • मद्रास यूनिवर्सिटी 
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT)
  • मुंबई यूनिवर्सिटी 
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NIT)
  • बैंगलोर यूनिवर्सिटी 

टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए योग्यता

यहां टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में बताया गया है जिसे आप नीचे दिए गए पॉइंट्स में देख सकते है-

  • टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में जाने के लिए आपको बीसीए और बी.टेक डिग्री प्रोग्राम्स में एडमिशन लेना होगा। जिसके लिए ज़रूरी है कि आपने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 में 55% मार्क्स से उत्तीर्ण की हो। इसके साथ ही बीटेक कोर्स के प्रवेश के लिए JEE Mains/ JEE Advance का एग्जाम देना अनिवार्य होता हैं।  
  • बीसीए और बी.टेक डिग्री कोर्स के बाद मास्टर्स प्रोग्राम्स के लिए कैंडिडेट की फर्स्ट डिवीज़न के साथ बैचलर्स डिग्री होनी आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज में प्रवेश परीक्षाओं के आधार पर भी एडमिशन दिया जाता है।
  • भारत में बीसीए और बी.टेक डिग्री कोर्सज में एम.फिल या पीएचडी प्रोग्राम के लिए कुछ यूनिवर्सिटीज में UGC/NET और कॉमन एंट्रेंस टेस्ट जैसी प्रवेश परीक्षाओं में पास होना अनिवार्य होता हैं। साथ ही कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करतीं हैं। वहीं विदेश में इस कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा निर्धारित आवश्यक ग्रेड आवश्यकताओं को पूरा करना ज़रूरी होता है।  
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज SAT या GRE मार्क्स की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट मार्क्स कम्पलसरी होते हैं। जिसमे IELTS अंक 7 या उससे अधिक और TOEFL अंक 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/Resume और पोर्टफोलियो भी जमा करने होंगे।

एप्लीकेशन प्रोसेस 

Technical Support Manager के लिए भारत और विदेशी यूनिवर्सिटी में एप्लीकेशन प्रोसेस के बारे में विस्तार से नीचे बताया गया हैं:-

विदेश में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस कैसे करें?

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस इस प्रकार है:

  • आपकी एप्लीकेशन प्रोसेस का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी को सिलेक्ट करना है। 
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के सिलेक्ट करने के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में कम्पीट रिसर्च करें। 
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और डाक्यूमेंट्स एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें।  
  • उसके बाद विदेश में जाने के लिए अपने ऑफर लेटर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें। 
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन फीस का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए अप्लाई करें।

विदेश में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज

विदेश में स्टडी करने के लिए कुछ इंपोर्टेंट डाक्यूमेंट्स की लिस्ट नीचे दी गई है-

भारतीय विश्वविद्यालयों में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस 

भारत के विश्वविद्यालयों में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स में प्रवेश के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस इस प्रकार है:-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप स्टडी करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, कैटेगिरी आदि के साथ एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करें और आवश्यक एप्लीकेशन फीस की पेमेंट करें। 
  • यदि एडमिशन, एंट्रेंस एग्जाम पर आधारित है तो पहले एंट्रेंस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। एंट्रेंस एग्जाम के मार्क्स के आधार पर आपका सिलेक्शन किया जाएगा और फाइनल लिस्ट जारी की जाएगी।

भारत में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज 

भारत में टेक्निकल सपोर्ट कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी में प्रवेश करने के लिए कुछ इंपोर्टेंट डाक्यूमेंट्स की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • आपकी 10वीं या 12वीं की परीक्षा की मार्कशीट और पासिंग सर्टिफिकेट
  • डेट ऑफ बर्थ का प्रूफ
  • स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • डोमिसाइल सर्टिफकेट/रेजिडेंशियल सर्टिफिकेट
  • टेम्पररी सर्टिफिकेट
  • करेक्टर सर्टिफिकेट 
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ी जाति सर्टिफिकेट
  • विकलांगता का प्रमाण (यदि कोई हो)
  • माइग्रेशन सर्टिफिकेट  

एंट्रेंस एग्जाम

टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में अध्ययन करने के लिए आपको बीसीए और बीटेक जैसे कोर्सेज में एडमिशन लेना अनिवार्य होता हैं। यहां इन प्रमुख कोर्सेज से संबंधित एंट्रेंस एग्जाम की सूची दी जा रही हैं:-

  • CUET  
  • JEE Mains/ JEE Advance 
  • UGC/NET 

एग्जाम के लिए बेस्ट बुक्स

यहां कुछ इंपोर्टेंट बुक्स की सूची नीचे बनी टेबल में दी जा रही है, जिससे आप टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में जाने के लिए अपनी यूनिवर्सिटी या इंस्टिट्यूट की तैयारी आसानी से कर सकते हैं:-

बुक्स पब्लिकेशन-ऑथर यहां से खरीदें
A Complete Self Study Guide BCA Entrance Examinations 2023  Arihant Publication India  Ltd  यहां से खरीदें 
Handbook Computer Science & IT for GATE, IES,PSU and Other Competitive Exams Arihant Publications यहां से खरीदें
GATE 2023 : Computer Science and IT Engineering Previous Solved Papers Made Easy Publications यहां से खरीदें
Concept Of Physics Set Vol 1 & 2  HC Verma यहां से खरीदें
JEE MAIN Chapterwise Solved Question Papers with Mock Test Papers for Chemistry Sahitya Bhawan यहां से खरीदें

टॉप रिक्रूटर्स

यहां कुछ प्रमुख रिक्रूटर्स के बारे में बताया जा रहा हैं, जो टेक्निकल सपोर्ट के लिए कुशल कैंडिडेट्स को रिक्रूट करती हैं:-

  • overnment organization
  • Microsoft
  • Apple
  • oracle
  • Amazon
  • filpkart
  • genpact
  • Private Sector
  • startup companies
  • universities
  • Navratna Companies (PSU)
  • Bank
  • gaming zone

FAQs 

टेक्निकल सपोर्ट के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए कौनसा कोर्स करना होगा?

इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए आपको बीसीए, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और बीटेक जैसे कोर्सेज करने अनिवार्य होते हैं। 

टेक्निकल सपोर्ट में जॉब कैसे मिलती है?

कॉलेज, यूनिवर्सिटी में बैचलर डिग्री कोर्स की पढाई के दौरान Placement, Campus hiring के द्वारा भी टेक्निकल सपोर्ट में जॉब पा सकते हैं। इसके आलावा आप स्वयं भी जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

आईटी कितने साल का होता है?

IT या कंप्यूटर साइंस में BE या B-Tech कोर्स एक ग्रेजुएशन प्रोग्राम होता है। यह कोर्स 4 साल का होता है, जिसमे टेक्निकल विषयों की पढ़ाई होती है। इस कोर्स में एडमिशन के लिए 12th PCM ( फिजिक्स -केमिस्ट्री- मैथ्स) विषय से होना जरूरी होता है।

आशा है आपको Technical Support Manager पर आधारित यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यदि आप विदेश में टेक्निकल सपोर्ट मैनेजर की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

20,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert