Shabd Vichar

1 minute read
1.8K views
10 shares
Ras Hindi Grammar

जैसा की हम जानते हैं कि किसी भी भाषा को जानने / समझने से पहले हमें उस भाषा के व्याकरण को समझना होता है और इसी लीक पर हम हिन्दी व्याकरण पढ़ रहे हैं और इसी के अंतर्गत हमने वर्ण विचार को पढ़ा तथा इस लेख में हम शब्द विचार (Shabd Vichar) और शब्दों के वर्गीकरण के बारे में पढेंगे और साथ ही साथ हम यह भी पढेंगे की शब्द किसे कहते हैं?दो या दो से अधिक वर्णो से बने ऐसे समूह को ‘शब्द’ कहते है, जिसका कोई न कोई अर्थ अवश्य हो।ध्वनियों के मेल से बने सार्थक वर्णसमुदाय को ‘शब्द’ कहते है। वर्णों या ध्वनियों के सार्थक मेल को ‘शब्द’ कहते है। चलिए पढ़ते हैं Shabd Vicharके बारे में Leverage Edu के साथ।

जरूर देखें: हिंदी व्याकरण – Leverage Edu के साथ संपूर्ण हिंदी व्याकरण सीखें

शब्द विचार (Shabd Vichar) की परिभाषा

Shabd Vichar
Source: Pinterest

शब्द विचार (Shabd Vichar) हिंदी व्याकरण का दूसरा खंड है जिसके अंतर्गत शब्द की परिभाषा, भेद-उपभेद, संधि, विच्छेद, रूपांतरण, निर्माण आदि से संबंधित नियमों पर विचार किया जाता है।

Shabd Vichar Worksheet – Class 6,7,8

शब्द की परिभाषा

वर्णों या अक्षरों से बना ऐसा स्वतंत्र समूह जिसका कोई अर्थ हो, वह समूह शब्द कहलाता है। जैसे: लड़का, लड़की आदि।

इन शब्दों की रचना दो या दो से अधिक वर्णों के मेल से हुई है। वर्णों के ये मेल सार्थक है, जिनसे किसी अर्थ का बोध होता है। ‘घर’ में दो वर्णों का मेल है, जिसका अर्थ है मकान, जिसमें लोग रहते हैं। हर हालत में शब्द सार्थक होना चाहिए। व्याकरण में निरर्थक शब्दों के लिए स्थान नहीं है। शब्द अकेले और कभी दूसरे शब्दों के साथ मिलकर अपना अर्थ प्रकट करते हैं।

 इन्हें हम दो रूपों में पाते हैं-

  •  एक तो इनका अपना बिना मिलावट का रूप है, जिसे संस्कृत में प्रकृति या प्रातिपदिक कहते हैं
  •  दूसरा वह, जो कारक, लिंग, वचन, पुरुष और काल बतानेवाले अंश को आगे-पीछे लगाकर बनाया जाता है, जिसे पद कहते हैं। 

यह वाक्य में दूसरे शब्दों से मिलकर अपना रूप झट सँवार लेता है।

शब्दों की रचना (i) ध्वनि और (ii) अर्थ के मेल से होती है। एक या अधिक वर्णों से बनी स्वतन्त्र सार्थक ध्वनि को शब्द कहते है;

 जैसे-

  •  मैं, 
  • धीरे, 
  • परन्तु, 
  • लड़की 

 अतः शब्द मूलतः ध्वन्यात्मक होंगे या वर्णात्मक। किन्तु, व्याकरण में ध्वन्यात्मक शब्दों की अपेक्षा वर्णात्मक शब्दों का अधिक महत्त्व है। वर्णात्मक शब्दों में भी उन्हीं शब्दों का महत्त्व है, जो सार्थक हैं, जिनका अर्थ स्पष्ट और सुनिश्र्चित है। व्याकरण में निरर्थक शब्दों पर विचार नहीं होता।

जरूर देखें:  Kaal in Hindi (काल)

शब्द और पद

यहाँ शब्द और पद का अंतर समझ लेना चाहिए। ध्वनियों के मेल से शब्द बनता है।

 जैसे- प+आ+न+ई= पानी। 

यही शब्द जब वाक्य में अर्थवाचक बनकर आये, तो वह पद कहलाता है।

जैसे- पुस्तक लाओ।

 इस वाक्य में दो पद है- एक नामपद ‘पुस्तक’ है और दूसरा क्रियापद ‘लाओ’ है।

शब्द विचार (Shabd Vichar) का वर्गीकरण

  1. अर्थ के आधार पर Shabd Vichar
  2. बनावट या रचना के आधार पर Shabd Vichar
  3. प्रयोग के आधार पर Shabd Vichar
  4. उत्पत्ति के आधार पर Shabd Vichar

अर्थ के आधार पर शब्द के भेद

अर्थ के आधार पर शब्द के दो भेद होते हैं :

  1. सार्थक शब्द
  2. निरर्थक शब्द

1. सार्थक शब्द

वे शब्द जिनसे कोई अर्थ निकलता हो, सार्थक शब्द कहलाते हैं। 

जैसे: 

  • गुलाब,
  •  आदमी, 
  • विषय आदि।

2. निरर्थक शब्द

वे शब्द जिनका कोई अर्थ ना निकल रहा हो या जो शब्द अर्थहीन हो, निरर्थक शब्द कहलाते हैं। 

जैसे: 

  • देना-वेना, 
  • मुक्का-वुक्का आदि।

रचना (बनावट) के आधार पर शब्द के भेद

Shabd Vichar
Source: Pinterest

रचना के आधार पर शब्द के निम्नलिखित तीन भेद होते हैं:

  1. रूढ़ शब्द
  2. यौगिक शब्द
  3. योगरूढ़ शब्द

1. रूढ़ शब्द

ऐसे शब्द जो किसी विशेष अर्थ को प्रकट करते हैं लेकिन अगर उनके टुकड़े कर दिए जाएँ तो निरर्थक हो जाते हैं। ऐसे शब्दों को रूढ़ शब्द कहते हैं।

 जैसे: 

  • जल, 
  • कल, 
  • जप आदि।

2. यौगिक शब्द

ऐसे शब्द जो किन्हीं दो सार्थक शब्दों के मेल से बनते हों वे शब्द यौगिक शब्द कहलाते हैं। इन शब्दों के खंड भी सार्थक होते हैं। 

जैसे: 

  • स्वदेश : स्व + देश,
  •  देवालय : देव + आलय, 
  • कुपुत्र : कु + पुत्र आदि।

3. योगरूढ़ शब्द

ऐसे शब्द जो किन्हीं डो शब्द के योग से बने हों एवं बनने पर किसी विशेष अर्थ का बोध कराते हैं, वे शब्द योगरूढ़ शब्द कहलाते हैं। बहुव्रीहि समास ऐसे शब्दों के अंतर्गत आते हैं।

 जैसे: दशानन : दस मुख वाला अर्थात रावण ,
 पंकज : कीचड़ में उत्पन्न होने वाला अर्थात कमल आदि।

जरूर देखें:  150 Paryayvachi Shabd (पर्यायवाची शब्द)

प्रयोग के आधार पर शब्द के भेद

प्रयोग के आधार पर शब्द के दो भेद होते हैं :

  1. विकारी शब्द
  2. अविकारी शब्द

1. विकारी शब्द :

ऐसे शब्द जिनके रूप में लिंग, वचन, कारक के अनुसार परिवर्तन होते हैं, वे शब्द विकारी शब्द कहलाते हैं।

विकारी शब्द चार होते हैं –

(1) संज्ञा
(2) सर्वनाम
(3) विशेषण
(4) क्रिया

 संज्ञा-

(1)   सब्जी = सब्जियाँ, सब्जियों
(2)  लकड़ी = लड़कियाँ, लड़कियों

सर्वनाम → तुम = तुम्हें – तुम्हारा
विशेषण → काला = काली, काले
मोटा = मोटी, मोटे
क्रिया →   पढ़ाया, पढ़ाई, पढ़ाए

 जैसे:

  • लिंग : बच्चा पढता है। —> बच्ची पढ़ती है।
  • वचन : बच्चा सोता है। —–> बच्चे सोते हैं।
  • कारक : बच्चा सोता है। —> बच्चे को सोने दो।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं बच्चा शब्द है यह लिंग, वचन एवं कारक के अनुसार परिवर्तित हो रहा है। 

2. अविकारी शब्द :

ऐसे शब्द जिन पर लिंग, वचन एवं कारक आदि से कोई फर्क नहीं पड़ता एवं जो अपरिवर्तित रहते हैं। ऐसे शब्द अविकारी शब्द कहलाते हैं। अविकारी शब्दों को चार भागों में बाँटा गया हैं –

(1)  क्रियाविशेषण
(2)  संबंधबोधक
(3)  समुच्चयबोधक
(4)  विस्मयादिबोधक

क्रियाविशेषण →

राधा बाहर बैठी हैं |
मोहन बाहर बैठा है |

संबंधबोधक

रेखा के साथ कमला आएगी |
मोहन के साथ वेदांत आएगा |

समुच्चयबोधक →

(1)  गीता और सीता पढ़ाई कर रही हैं |
(2)  राम और मोहन पढ़ाई कर रहे हैं |

विस्मयादिबोधक →

अरे! राधा गा रही हैं |
अरे! मोहन गा रहा है |
जैसे: 

  • तथा, 
  • धीरे, 
  • किन्तु, 
  • परन्तु, 
  • तेज़, 
  • अधिक आदि।

जैसा कि हम जानते हैं किन्तु जैसे शब्द लिंग, वचन कारक आदि बदलने पर भी अपरिवर्तित रहेंगे। 

जरूर देखें:  Anuswar in Hindi

उत्पत्ति के आधार पर शब्द के भेद

उत्पत्ति के आधार पर शब्द के चार भेद होते हैं:

  1. तत्सम शब्द
  2. तद्भव शब्द
  3. देशज शब्द
  4. विदेशी शब्द

1. तत्सम शब्द :

तत् (उसके) + सम (समान) यानी ऐसे शब्द जिनकी उत्पत्ति संस्कृत भाषा में हुई ओर वे हिन्दी भाषा में बिना किसी परिवर्तन के प्रयोग में आने लगे, ऐसे शब्द तत्सम शब्द कहलाते हैं। 

जैसे: 

  • पुष्प, 
  • पुस्तक, 
  • पृथ्वी, 
  • क्षेत्र, 
  • कार्य, 
  • मृत्यु, 
  • कवि, 
  • माता, 
  • विद्या,
  •  नदी,
  •  फल, 
  • अग्नि, 
  • पुस्तक आदि।

2. तद्भव शब्द :

ऐसे शब्द जिनकी उत्पत्ति संस्कृत भाषा से हुई थी लेकिन वो रूप बदलकर हिन्दी में आ गए हों, ऐसे शब्द तद्भव शब्द कहलायेंगे।

 जैसे:

  • दुग्ध —-> दूध
  • अग्नि —-> आग
  • कार्य —> काम
  • कर्पूर —> कपूर
  • हस्त —-> हाथ

3. देशज शब्द

ऐसे शब्द जो भारत की विभिन्न स्थानीय बोलियों में से हिंदी में आ गए हैं, वे शब्द देशज शब्द कहलाते हैं। 

जैसे: 

  • पेट, 
  • डिबिया,
  •  लोटा, 
  • पगड़ी,
  •  थैला, 
  • इडली,
  •  डोसा, 
  • समोसा, 
  • चमचम, 
  • गुलाबजामुन, 
  • लड्डु, 
  • खटखटाना,
  •  खिचड़ी आदि।

ऊपर दिए गए सभी उदाहरण भारत की ही विभिन्न स्थानीय बोलियों में से क्षेत्रीय प्रभाव के कारण परिस्थिति व आवश्यकतानुसार बनकर प्रचलित हो गए हैं। ये अब हिन्दी में आ गए हैं। 

4. विदेशी शब्द

ऐसे शब्द जो भारत से बाहर की भाषाओं से हैं लेकिन ज्यों के त्यों हिन्दी में प्रयुक्त हो गए, वे शब्द विदेशी शब्द कहलाते हैं। मुख्यतः यह विदेशी जातियों से हमारे बढ़ते मिलन से हुआ है। 

ये विदेशी शब्द 

  • उर्दू, 
  • अरबी, 
  • फारसी,
  • अंग्रेजी, 
  • पुर्तगाली, 
  • तुर्की, 
  • फ्रांसीसी, 
  • ग्रीक आदि भाषाओं से आए हैं।

विदेशी शब्दों के उदाहरण निम्न हैं :

  • अंग्रेजी : कॉलेज, पैंसिल, रेडियो, टेलीविजन, डॉक्टर, लैटरबक्स, पैन, टिकट, मशीन, सिगरेट, साइकिल आदि
  • फारसी : अनार,चश्मा, जमींदार, दुकान, दरबार, नमक, नमूना, बीमार, बरफ, रूमाल, आदमी, चुगलखोर, आदि।
  • अरबी : औलाद, अमीर, कत्ल, कलम, कानून, खत, फकीर, रिश्वत, औरत, कैदी, मालिक, गरीब आदि।
  • तुर्की : कैंची, चाकू, तोप, बारूद, लाश, दारोगा, बहादुर आदि।
  • पुर्तगाली : अचार, आलपीन, कारतूस, गमला, चाबी, तिजोरी, तौलिया, फीता, साबुन, तंबाकू, कॉफी, कमीज आदि।
  • फ्रांसीसी : पुलिस, कार्टून, इंजीनियर, कर्फ्यू, बिगुल आदि।
  • चीनी : तूफान, लीची, चाय, पटाखा आदि।
  • यूनानी : टेलीफोन, टेलीग्राफ, ऐटम, डेल्टा आदि।
  • जापानी : रिक्शा आदि।

जरूर देखें: Sarvanam in Hindi (सर्वनाम)

शब्द विचार संबंधित महत्वपूर्ण MCQ

प्रश्न 01. “विद्वान” विशेषण से बनी भाववाचक संज्ञा हैं ?
(अ) विदुषी
(ब) विधाता
(स) विद्वता
(द) वरदान

उत्तर: (स) विद्वता

प्रश्न 02. पशु शब्द का विशेषण है ?
(अ) पाशविक
(ब) पशुत्व
(स) पशुता
(द) पशुपति

उत्तर: (अ) पाशविक

प्रश्न 03. संज्ञा शब्द से बना विशेषण नहीं है ?
(अ) सड़कछाप
(ब) दयालु
(स) लिखित
(द) भूखा

उत्तर: (अ) सड़कछाप

प्रश्न 04. संयुक्त क्रिया का उदाहरण कौन सा है ?
(अ) रस्सी जल गई।
(ब) सीता पढ़ रही है।
(स) तुम प्रतिदिन पढ़ने आया करो।
(द) बच्चा सोता है।

उत्तर: (स) तुम प्रतिदिन पढ़ने आया करो।

प्रश्न 05. किस वाक्य में पूर्व कालिक क्रिया है ?
(अ) ठोकर लगते ही लड़का गिर पड़ा।
(ब) वह चाय पीकर घूमने जाता है
(स) विद्यार्थी आयें तो कक्षा लगे
(द) निरपराध को डांटते शर्म नहीं आती?

उत्तर:(ब) वह चाय पीकर घूमने जाता है

प्रश्न 06. किस वाक्य में सकर्मक क्रिया नहीं है ?
(अ) नेहा हँसती है
(ब) सुधीर कार चलाता है
(स) पुलिस ने चोर को पकड़ लिया
(द) रामू को दवा पिलाओ

उत्तर: (अ) नेहा हँसती है

 प्रश्न 7. जो क्रिया कर्म का बोध नहीं कराती है, उसे कहते हैं ?
(अ) प्रेरणार्थक क्रिया
(ब) संयुक्त क्रिया
(स) अकर्मक क्रिया
(द) सकर्मक क्रिया

उत्तर:(स) अकर्मक क्रिया

प्रश्न 08. पूर्वकालिक क्रिया प्रयुक्त हुई है ?
(अ) मोहन नहाकर पूजा करने लगा
(ब) उस ने पुस्तक पढ़ी
(स) बालक ने पढ़ाई की
(द) विनीता कल से बीमार है

उत्तर: (अ) मोहन नहाकर पूजा करने लगा

प्रश्न 09. निम्नलिखित में से सकर्मक क्रिया कौन सी है ?
(अ) हंसना
(ब) रोना
(स) लिखना
(द) उठना

उत्तर: (स) लिखना

प्रश्न 10. कौन सा शब्द संज्ञा से बना हुआ विशेषण नहीं है ?
(अ) फेनिल
(ब) धूमिल
(स) लौकिक
(द) प्राथमिक

उत्तर: (द) प्राथमिक

प्रश्न 11. अग्नि का विशेषण है ?
(अ) अग्निकार
(ब) आग्नेय
(स) अग्निकृत
(द) अग्निवेष

उत्तर: (ब) आग्नेय

प्रश्न 12. किस वाक्य में सार्वनामिक विशेषण हैं ?
(अ) कुछ चने मेरे लिए छोड़ देना
(ब) यह लड़का बहुत चालाक है
(स) कुछ बच्चे चंदा मांग रहे थे
(द) हिमांशु पाँच केले खा गया

उत्तर: (ब) यह लड़का बहुत चालाक है

प्रश्न 13. माहात्म्य शब्द है ?
(अ) क्रिया
(ब) जातिवाचक
(स) व्यक्तिवाचक
(द) भाववाचक

उत्तर: (द) भाववाचक

प्रश्न 14. सर्वनाम के भेद होते हैं ?
(अ) 5
(ब) 6
(स) 4
(द) 7

उत्तर: (ब) 6

प्रश्न 15. अवस्था के आधार पर विशेषण कितने प्रकार के होते हैं ?
(अ) 5
(ब) 4
(स) 3
(द) 6

उत्तर: (स) 3

प्रश्न 16. निम्न में से कौन अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम है ?
(अ) उसे
(ब) आप
(स) तुम्हें
(द) हमारा

उत्तर: (अ) उसे

प्रश्न 17. निम्न में से जातिवाचक संज्ञा नहीं है ?
(अ) शैशव
(ब) लोहा
(स) लकड़ी
(द) पुस्तक

उत्तर: (अ) शैशव

प्रश्न 18. हमें गरीबों पर दया करनी चाहिए इसमें गरीब शब्द क्या है ?
(अ) अवस्था सूचक विशेषण
(ब) संज्ञा
(स) विशेषण
(द) क्रिया

उत्तर: (ब) संज्ञा

प्र.19 निम्न में से रूढ़ शब्द का उदाहरण है ?
(अ) दुग्ध
(ब)कार्य
(स)पुस्तक
(द) हाथ

उत्तर: (द) हाथ

प्र.20 निम्न में से तत्सम शब्द का उदाहरण नहीं है ?
(अ) कमल
(ब) रावण
(स) जल
(द) देवालय

उत्तर: (स) जल

Source: SuccessCDs Education

आशा करते हैं कि आपको Shabd Vichar का ब्लॉग अच्छा लगा होगा। जितना हो सके अपने दोस्तों और बाकी सब को शेयर करें ताकि वह भी Shabd Vichar का  लाभ उठा सकें और  उसकी जानकारी प्राप्त कर सके । हमारे Leverage Edu में आपको ऐसे कई प्रकार के ब्लॉग मिलेंगे जहां आप अलग-अलग विषय की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।अगर आपको किसी भी प्रकार के सवाल में दिक्कत हो रही हो तो हमारी विशेषज्ञ आपकी सहायता भी करेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

8 comments
  1. sir aap ne shabd ki jankari bahut hi achse di hai aur sir aap ka blog mughe bahut ache se samagh aata hai es liye mai aap ke sabhi post ko ache se padhta hu aur apne social media accounts se share krta hu

    1. हमारे लेख को सराहने और शेयर करने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार। आप हमारी वेबसाइट पर बनें रहें और ऐसे ही आकर्षक ब्लॉग पढ़ते रहें दिए लिंक के द्वारा: https://leverageedu.com/blog/hi/

  2. आपने बहुत ही सुन्दर लेख लिखा है काफी कुछ सीखने को मिल रहा है धन्यवाद

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिये।

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिये।

  3. शब्द भाषा की आत्मा है
    बहुत ही अच्छा प्रस्तुती 🙏💐

    1. आपका आभार, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

  1. sir aap ne shabd ki jankari bahut hi achse di hai aur sir aap ka blog mughe bahut ache se samagh aata hai es liye mai aap ke sabhi post ko ache se padhta hu aur apne social media accounts se share krta hu

    1. हमारे लेख को सराहने और शेयर करने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार। आप हमारी वेबसाइट पर बनें रहें और ऐसे ही आकर्षक ब्लॉग पढ़ते रहें दिए लिंक के द्वारा: https://leverageedu.com/blog/hi/

  2. आपने बहुत ही सुन्दर लेख लिखा है काफी कुछ सीखने को मिल रहा है धन्यवाद

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिये।

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert